पीएम मोदी ने लॉन्च किया यूपी में आज से आत्मनिर्भर अभियान, सवा करोड़ मजदूरों को मिलेगा रोजगार

पीएम मोदी ने लॉन्च किया यूपी में आज से आत्मनिर्भर अभियान, सवा करोड़ मजदूरों को मिलेगा रोजगार

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान की शुरुआत की. प्रदेश सरकार का दावा है कि इस योजना के तहत करीब सवा करोड़ मजदूरों को रोजगार दिया जाएगा. 

Coronavirus Updates: देश में पहली बार एक दिन में मिले 17 हजार से ज्यादा मरीज, देश में 4.90 लाख केस 

कोरोना संकट में यूपी ने जो साहस दिखाया वो अभूतपूर्व: 
प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि यूपी के प्रयास और उपलब्धियां इसलिए विराट हैं, क्योंकि ये सिर्फ एक राज्य भर नहीं है, बल्कि यूपी दुनिया के कई देशों से बड़ा राज्य है. इस उपलब्धि को यूपी के लोग खुद महसूस कर रहे हैं. लेकिन आप अगर आंकड़े जानेंगे तो और भी हैरान हो जायेंगे. उन्होंने कहा कि कोरोना संकट में यूपी ने जो साहस दिखाया वो अभूतपूर्व है, प्रशंसनीय है.  जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं बन जाती तब तक हमें सामाजिक दूरी के साथ मास्क का इस्तेमाल करना आवश्यक है. 

लॉकडाउन के समय यूपी सरकार ने गरीबों के लिए काम किया: 
पीएम मोदी ने कहा कि यूपी सरकारी की मेहनत के चलते 85 हज़ार लोगों का जीवन  बच गया. ऐसे में यह बहुत संतोष की बात है. लॉकडाउन के समय यूपी सरकार ने गरीबों के लिए काम किया है, वो भी अभूतपूर्व है. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत यूपी ने बहुत तेज़ी से गरीबों और गांव लौटे श्रमिक साथियों तक मुफ्त राशन पहुंचाया.

125 दिनों तक चलेगा यह अभियान:
प्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान के अंतर्गत अकेले मनरेगा योजना के तहत गोंडा, बलरामपुर सहित 31 जिलों के लिए करीब 900 करोड़ रुपये की कार्य योजना तैयारी की है. अभियान के पहले दिन एक साथ करीब 65 लाख लोगों को एक साथ रोजगार देने की तैयारी है. यह अभियान 125 दिनों तक चलेगा.रोजगार पाने वाले लोगों में 50 प्रतिशत लोग वो होंगे, जो मनरेगा के तहत रजिस्टर्ड हैं.

सरकारी बंगले से किरोड़ीलाल मीणा अब रहेंगे निजी आवास पर! राजनीतिक गलियारों में एक बड़ी चर्चा 

पूरा डेटा बैंक मैपिंग के साथ तैयार:
प्रदेश सरकार के पास 36 लाख प्रवासी कामगारों का पूरा डेटा बैंक मैपिंग के साथ तैयार है. योगी सरकार इन कामगारों को एमएसएमई, एक्सप्रेस-वे, हाइवे, यूपीडा, मनरेगा जैसे तमाम क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार के लिए जोड़ चुकी है. इसी के चलते प्रदेश में एमएसएमई सेक्टर को मजबूत करने और खुद को तकनीकी रूप से अपग्रेड करने के लिए 5 मई को 57 हजार से अधिक इकाइयों को ऑनलाइन लोन दिया गया था.


 

और पढ़ें