Mumbai रिस्क लेना मेरे लिए अच्छा साबित हुआ- आयुष्मान खुराना

रिस्क लेना मेरे लिए अच्छा साबित हुआ- आयुष्मान खुराना

रिस्क लेना मेरे लिए अच्छा साबित हुआ- आयुष्मान खुराना
मुंबई : बॉलीवुड के मंझे हुए कलाकारों में एक नाम आयुष्मान खुराना का भी लिया जाता है. आयुष्मान खुराना ने आज, हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में अपने 10 साल पूरे कर लिए . वैसे अब आयुष्मान की फिल्मे  'द आयुष्मान खुराना जॉनर'  के नाम से जानी जाने लगी है. सभी जानते हैं उनकी ब्लॉकबस्टर सोशल एंटरटेनर फिल्मों ने, राष्ट्रीय स्तर पर बहस को जन्म दिया, जो भारतीय सिनेमा के पिछले 10 वर्ष के इतिहास के अहम हाइलाइट प्वाइंट्स हैं। टाइम मैगज़ीन द्वारा 'दुनिया के सबसे प्रभावशाली लोगों' में शुमार किए गए, आयुष्मान को लगता है कि स्क्रिप्ट और भूमिकाओं के मामले उनका जुनूनी रिस्क टेकर' होना उनकी तेजी से बढ़ती सफलता की कुंजी है. 


सिनेमा में अपने एक दशक के दौरान विक्की डोनर, शुभ मंगल सावधान, दम लगा के हईशा, बधाई हो, बाला, आर्टिकल 15, ड्रीम गर्ल और अंधाधुन जैसी हिट फिल्में देने वाले, आयुष्मान कहते हैं, “मेरे लिए सिनेमा में यह एक उत्साहजनक दशक रहा है. एक ऐसे व्यक्ति के रूप में, जिसका हिंदी फिल्म इंडस्ट्री का कोई बैकग्राउंड नहीं है, मैं खुद को आज खुशकिस्मत पाता हूं कि मुझे ऐसे क्वालिटी मेंटर्स मिले, जिन्होंने करियर की शुरुआत में मुझ पर मुझसे अधिक भरोसा किया और मैं आज जहां हूं उसके उन सभी ने मुझे लिए गाइड किया हैं.


वह आगे कहते हैं, “अगर मुझे सिनेमा में अपने दशक को डिस्क्राइब करना हो, तो मैं कहूंगा कि अपने क्राफ्ट में एक प्यूरिस्ट होना, एक जुनूनी रिस्क टेकर होना मेरे लिए कारगर साबित हुआ क्योंकि मैं लीक से हटकर रास्ते पर चला. आज, जब मैं पलटकर अपने काम को देखता हूं, तो मुझे अपने फैसलों पर बेहद गर्व होता है. मुझे लगता है कि बेहतरीन फिल्में पाने को लेकर मैं हमेशा अडिग रहा हूं और यह फैसला मेरे करियर के लिए सबसे फायदेमंद रहा है।"


आयुष्मान की कल्ट क्लासिक विक्की डोनर आज ही रिलीज हुई थी। शूजीत सरकार के निर्देशन में बनी इस फिल्म ने हीरो का एक नया ब्रांड पेश किया, जिससे लोग गहराई से जुड़ाव महसूस करते थे, उसमें कमियां होने के बावजूद मुश्किलें के खिलाफ उठ खड़ा होने की इच्छा शक्ति थी। इसने आयुष्मान को रातों रात सेंसेशन बना दिया!

आयुष्मान कहते हैं, “आज, मुझे विक्की डोनर की शूटिंग के दिनों की याद आती है। इस फिल्म ने इंडस्ट्री के दरवाजे मेरे लिए खोल दिए। मैं उस दौर में वापस जाना चाहता हूं। मैं शूजीत दा, रॉनी लाहिरी और जॉन अब्राहम का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने एक ऐसे प्रोजेक्ट को लीड करने के लिए मुझ जैसे न्यूकमर पर भरोसा किया, जिसे अब जनरेशन डिफाइनिंग फिल्म कहा जा रहा. मैं आज के दिन को लेकर थोड़ा भावुक हूं और बहुत नोस्टाल्जिक फील कर रहा हूं"

वह आगे कहते हैं, “यह फिल्म मेरे लिए खूबसूरत यादों की बाढ़ ले आती है.  यह मुझे मेरे संघर्ष, हताशा, दृढ़ संकल्प, छोटी-छोटी खुशियों और बड़ी सफलताओं के दिनों की याद दिलाती है। इसने मुझे आसान स्क्रिप्ट को कभी न चुनने को लेकर मेरे विश्वास को और मजबूत किया है। मुझे लगता है कि आज दर्शकों को मेरे ब्रांड के सिनेमा से एक खास उम्मीद रहती है और मैं अपने पूरे फिल्म करियर में उनका भरपूर मनोरंजन करना चाहता हूं। मैं हर फिल्ममेकर का शुक्रगुजार हूं, जिन्होंने मुझ पर भरोसा किया । मैं आज जो कुछ भी हूं, उनकी वजह से और अपनी सभी फिल्मों की वजह से हूं।"


2022 में आयुष्मान के पास शानदार फिल्मों की एक फेहरिस्त है। आयुष्मान, अनुभव सिन्हा की अनेक में नजर आने वाले हैं जो जो 27 मई को रिलीज़ होगी। उनकी अगली फिल्मों में अनुभूति कश्यप की डॉक्टर जी और फिल्म निर्माता आनंद एल राय की एक्शन हीरो शामिल हैं। गौरतलब है कि एक्शन हीरो का निर्देशन डेब्यूटेंट अनिरुद्ध अय्यर कर रहे हैं।
और पढ़ें