बांसवाड़ा Banswara: लिव-इन में रह रही युवती ने खुद को आग लगाकर किया सुसाइड, व्हाट्सएप स्टेटस पर लिखा- बहनों किसी से प्यार मत करना...

Banswara: लिव-इन में रह रही युवती ने खुद को आग लगाकर किया सुसाइड, व्हाट्सएप स्टेटस पर लिखा- बहनों किसी से प्यार मत करना...

Banswara: लिव-इन में रह रही युवती ने खुद को आग लगाकर किया सुसाइड, व्हाट्सएप स्टेटस पर लिखा- बहनों किसी से प्यार मत करना...

बांसवाड़ा: जिले के आनंदपुरी थाना क्षेत्र के चांदरवाड़ा पटवारी के साथ बीते तीन साल से लिव-इन-रिलेशनशिप (live-in-relationship) में रही युवती ने खुद को आग लगाकर सुसाइड (Suicide) कर लिया. सुसाइड से पहले उसने व्हाट्सएप स्टेटस (whatsapp status) पर लिखा कि मेरी बहनों किसी से प्यार मत करना. प्यार में फंसाकर लोग कुत्ते से भी घटिया मौत मार देते हैं. मतलबी होते हैं ऐसे लोग. मरने के बाद शव को मेरे घर मत ले जाना बल्कि मनोज के घर पर ही जलाना.

दरअसल, आनंदपुरी थाना क्षेत्र के कटारो का तालाब गांव में मंगलवार रात गोरादा गांव, झोंथरी (डूंगरपुर) टीना हीरात ने खुद पर पेट्रोल छिड़ककर खुद को आग लगा ली. वह चांदरवाड़ा पटवारी मनोज खराड़ी के साथ लिव-इन- रिलेशनशिप होकर यहां रह रही थी. लड़की ने खुद को उदयपुर में होना बताते हुए खुद के परिवार को धोखे में रखा था. मरने से पहले डाले गए 10 के करीब स्टेट्स में मनोज पर गंभीर आरोप लगाए थे. लिखा कि उसने आरोपी मनोज के कहने पर ही उसके परिवार से भी झूठ बोला था. उसके शव के समीप से दो मोबाइल भी मिले हैं. इनमें एक मोबाइल मृतका टीना का है, जबकि दूसरा मोबाइल पटवारी मनोज का होने की आशंका है. 

मृतका टीना आरोपी मनोज को शराब छोड़ने की बात कहती थी:
थाना प्रभारी दिलीपसिंह चारण ने बताया कि प्राथमिक जांच में पता चला है कि मृतका टीना आरोपी मनोज को शराब छोड़ने की बात कहती थी. लेकिन, वारदात की रात को क्या हुआ. अभी ये जांच का विषय है. कानूनी तौर पर टीना और मनोज दोनों ही कंवारे हैं. वारदात की रात करीब 9 बजे लोगों ने घटना स्थल के समीप से चीखें सुनी थी. लोग टीना को बचाने के लिए भी दौड़े, लेकिन टीना दम तोड़ चुकी थी. सरपंच हवजी की सूचना पर पुलिस ने शव की शिनाख्तगी के प्रयास हुए. बाद में मोबाइल से युवती की पहचान हुई. मौके पर मिले साक्ष्य के हिसाब से पुलिस अब तक मामले को सुसाइड ही मान रही है. 

बीएड की हुई टीना घर से रीट कोचिंग की बात कहकर निकली थी:
टीना के पिता शिवलाल ने इस मामले में थाने में रिपोर्ट दी. शिवलाल का आरोप है कि उसकी बेटी की हत्या हुई है. बीएड की हुई टीना घर से रीट कोचिंग की बात कहकर निकली थी. टीना के पास मनेाज का मोबाइल होना. आत्मदाह के बावजूद सिर के बालों का नहीं जलना. सुसाइड के बावजूद खुद को बचाने के लिए युवती का प्रयास नहीं करना. ऐसी खामियां सुसाइड को लेकर सवाल खड़ा कर रही हैं. हालांकि, पुलिस अब तक इसे सुसाइड ही मान रही है. 

आरोपी मनोज खराड़ी वारदात से पहले छाजा गांव में किराए के मकान में रहता था:
आरोपी मनोज खराड़ी वारदात से पहले छाजा गांव में किराए के मकान में रहता था. बीती 4 जून को टीना की दादी की मौत हो गई थी. वह डूंगरपुर उसके घर गई थी. पीछे से मनोज ने छाजा में किराए का मकान खाली कर दिया था. पुलिस कयास लगा रही है कि दोनों के बीच बिगड़े हुए रिश्तों को देखते हुए मकान मालिक ने मकान खाली करा दिया होगा. मनोज वहां से कहां गया. वह डूंगरपुर से लौटी टीना से मिला या नहीं. अभी इसकी कोई पुष्टि नहीं हुई. पुलिस जांच कर रही है. हालांकि, टीना ने उसके स्टेट्स पर लिखा है कि वह बहुत पहले ही मनोज का घर छोड़ना चाहती थी, लेकिन मनोज ने मारपीट कर उसका पैर तोड़ दिया था. इस कारण वह उससे जिंदगी की भीख मांग रही थी.

और पढ़ें