Live News »

नागौर की बेटी और हुड्डा परिवार की बहू ने रचा इतिहास, विश्व घुड़सवारी चैंपियनशिप में जीता गोल्ड मेडल

नागौर की बेटी और हुड्डा परिवार की बहू ने रचा इतिहास, विश्व घुड़सवारी चैंपियनशिप में जीता गोल्ड मेडल

नागौर: प्रदेश की राजनीति में खासा दबदबा रखने वाले बाबा के नाम से मशहूर स्व. नाथूराम मिर्धा की पौत्री और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की पुत्रवधू ने खेल की दुनिया में नया मुकाम हासिल किया है. उन्होंने विश्व घुड़सवारी चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल अपने नाम किया है. नागौर की पूर्व सांसद ज्योति मिर्धा की छोटी बहन और पूर्व सांसद दीपेंद्र हुड्डा की वाइफ श्वेता हुड्डा ने विश्व घुड़सवारी चैंपियनशिप का गोल्ड मेडल अपने नाम किया. 

इस टूर्नामेंट में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला: 
उन्होंने चैंपियनशिप में 62.426 पॉइंट अर्जित किए और इस टूर्नामेंट में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनने का गौरव हासिल करने पर नागौर जिले के कुचेरा में खुशी का माहौल है. इस सम्मानित टूर्नमेंट में कुल 50 देशों के घुड़सवारों ने हिस्सा लिया था. एफईआई की ओर से आयोजित प्रतियोगिता में श्वेता ने अपने प्रतिद्वंद्वी एमएस राठौर (62.353) को 73 अंकों से हराया. ऐतिहासिक प्रदर्शन के बाद श्वेता हुड्डा ने कहा कि महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं. अगर उन्हें मौका मिले तो वह किसी भी क्षेत्र में अपनी पहचान बना सकती हैं. 

और पढ़ें

Most Related Stories

सुपर ओवर के लिए जाते समय नाराज और निराश था: क्रिस गेल

सुपर ओवर के लिए जाते समय नाराज और निराश था:  क्रिस गेल

दुबई: किंग्स इलेवन पंजाब के आक्रामक बल्लेबाज क्रिस गेल ने खुलासा किया है कि मुंबई इंडियन्स के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग मैच के दौरान नियमित ओवरों में जीत की स्थिति में होने के बावजूद जब उन्हें सुपर ओवर खेलने उतरना पड़ा तो वह नाराज और निराश महसूस कर रहे थे. रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर को अंतिम गेंद पर हराने के बाद किंग्स इलेवन पंजाब की टीम ने मुंबई के खिलाफ मैच को भी अंतिम गेंद तक खींच दिया जिसके बाद दो सुपर ओवर में मैच का नतीजा निकला और जीत उनके नाम रही. 

दूसरे सुपर ओवर में 11 रन का पीछा करते हुए गेल ने ट्रेंट बोल्ट की पहली गेंद पर छक्का जड़ा जिसके बाद मयंक अग्रवाल ने लगातार दो चौकों के साथ किंग्स इलेवन को लगातार दूसरी जीत दिलाई है.आईपीएलटी-20 कॉम पर मैच के बाद के शो में गेल ने अग्रवाल और मोहम्मद शमी से कहा कि मैं नर्वस नहीं था, मैं थोड़ा नाराज और निराश था कि हमने अपने आप को इस स्थिति में डाल दिया था लेकिन यह क्रिकेट का खेल है और इस तरह की चीजें होती हैं.

उन्होंने कहा कि यहां तक कि जब हम बल्लेबाजी के लिए जा रहे थे (दूसरे सुपर ओवर में) आपने मेरे से पूछा कि कौन पहली गेंद का सामना करेगा, तो मैंने कहा कि मयंक तुम मेरे से यह सवाल पूछ रहे हो? पहली गेंद का समना बॉस (गेल स्वयं को यूनिवर्सल बॉस कहते हैं) ही करेगा. पंजाब के लिए शमी ने पहले सुपर ओवर में शानदार गेंदबाजी करते हुए पांच रन के स्कोर का बचाव किया जिसके बाद दूसरे सुपर ओवर में क्रिस जोर्डन ने 11 रन दिए. 

गेल ने कहा कि मेरे लिए मैन आफ द मैच शमी हैं. रोहित (शर्मा) और क्विंटन डिकॉक को छह रन बनाने से रोकना शानदार है.  उसने बेहतरीन काम किया. गेल ने कहा कि मैंने नेट्स पर आपका सामना किया है और मुझे पता है कि आप यॉर्कर फेंक सकते हो और काफी अच्छी तरह फेंक सकते हो, आज वह आया और नतीजा दिया और हमें मैच में वापसी दिलाई. इस बार ये ट्रॉफी किसके नाम रहेगी ये देखना बेहद ही रोमांचक होगा. (सोर्स-भाषा)

{related} 
 

DC टीम में प्रवीण दुबे की एंट्री, फ्रेक्चर से घायल अमित मिश्रा की तर्ज पर मिली जगह

  DC टीम में प्रवीण दुबे की एंट्री, फ्रेक्चर से घायल अमित मिश्रा की तर्ज पर मिली जगह

दुबई:  दिल्ली कैपिटल्स ने सोमवार को कर्नाटक के लेग स्पिनर प्रवीण दुबे को टीम में मौका दिया है. आपको बता दे कि इस वक्त अनुभवी स्पिनर अमित मिश्रा अंगुली में फ्रेक्चर से जूझ रहे है और इसी कारण इंडियन प्रीमियर लीग से बाहर हो गए है. जिसके बाद प्रवीण दुबे की टीम में एंट्री हो गई है. कर्नाटक के 27 साल के लेग स्पिनर दुबे ने अपनी घरेलू टीम की ओर से 14 टी20 मैचों में 16 विकेट चटकाए हैं और इस दौरान 6.87 रन प्रति ओवर की गति से रन दिए है.

प्रेस रिलीज के अनुसार ड्रीम 11 इंडियन प्रीमियर लीग के बाकी बचे टूर्नामेंट में अमित मिश्रा के विकल्प के तौर पर 27 साल के लेग स्पिनर प्रवीण दुबे को अनुबंधित करने की दिल्ली कैपिटल्स आज घोषणा करता है. शारजाह में तीन अक्टूबर को कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ मैच के दौरान मिश्रा के दायें हाथ की अंगुली में चोट लग गई थी जिसके कारण वह टूर्नामेंट से बाहर हो गए है. 

रिलीज के अनुसार 37 साल के इस गेंदबाज की सर्जरी हुई और फिलहाल वह चोट से उबर रहा है. दिल्ली की टीम अंक तालिका में शीर्ष पर चल रही है और मंगलवार को उसे किंग्स इलेवन पंजाब से भिड़ना है. दुबे की टीम में मौजुदगी कितना कमाल दिखा पाती है ये तो वक्त ही बता पाएगा. (सोर्स-भाषा)

{related}

मलिंगा की जिम्मेदारी बुमराह ने संभाल ली है: किरॉन पोलार्ड

 मलिंगा की  जिम्मेदारी बुमराह ने  संभाल ली है: किरॉन पोलार्ड

दुबई: मुंबई इंडियन्स के आलराउंडर कीरोन पोलार्ड का मानना है कि तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने श्रीलंका के लसिथ मलिंगा से जिम्मेदारी ले ली है और चार बार की चैंपियन टीम के गेंदबाजी आक्रमण के आका बन गए हैं. बुमराह (24 रन पर तीन विकेट) ने निर्धारित 20 ओवर में लोकेश राहुल, मयंक अग्रवाल और निकोलस पूरण के विकेट चटकाने के बाद किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से सुपर ओवर में शानदार गेंदबाजी करते हुए सिर्फ पांच रन दिए थे. 

हालांकि बुमराह का यह प्रदर्शन टीम के काम नहीं आया और मोहम्मद शमी ने भी शानदार गेंदबाजी करते हुए मैच को दूसरे सुपर ओवर में खींचा जहां किंग्स इलेवन पंजाब ने जीत दर्ज की. पोलार्ड ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि वे विश्व स्तरीय क्रिकेटर है और लंबे समय तक विभिन्न प्रारूपों में नंबर एक गेंदबाज रहे है. उसने काफी सीखा है और मुंबई इंडियन्स के लिए काफी प्रगति की है. हम उसके साथ सहज हैं. उन्होंने कहा कि कुछ साल पहले हमारे पास फिट लसिथ मलिंगा थे और अब उसने (बुमराह ने) यह जिम्मेदारी ले ली है. 

आपको बता दे कि आईपीएल के सबसे सफल गेंदबाज मलिंगा ने निजी कारणों से इस साल आईपीएल में नहीं खेलने का फैसला किया है. पहले सुपर ओवर में कप्तान रोहित शर्मा और क्विंटन डिकॉक मुंबई को जीत तक पहुंचाने में नाकाम रहे. दूसरे सुपर ओवर में पोलार्ड और हार्दिक पंड्या की बदौलत गत चैंपियन टीम ने 11 रन बनाए लेकिन पंजाब की टीम ने लक्ष्य हासिल कर लिया था. 

पोलार्ड ने कहा कि बेशक फैसला करने के लिए लोग मौजूद थे, बेशक इन चीजों को देखकर हम कह सकते हैं कि हमने कहां मैच गंवाया लेकिन हमने क्रिकेट का काफी अच्छा खेल दिखाया है. हमने अच्छी बल्लेबाजी की है साथ ही लोगों का दिल भी जीता है. 

मुंबई ने मौजूदा सत्र में दूसरा मैच सुपर ओवर में गंवाया है. इससे पहले रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने भी उन्हें सुपर ओवर में हराया था. इस हार के साथ मुंबई का लगातार पांच जीत का क्रम भी टूट गया और टीम 12 अंक के साथ दूसरे स्थान आ चुकी है. अपनी टीम के लिए दूसरा सुपर ओवर डालने वाले पंजाब के तेज गेंदबाज क्रिस जोर्डन विजेता टीम का हिस्सा बनकर खुश हैं.

जोर्डन ने कहा कि मुझे लगता है कि इस सत्र में हमने अपने काफी मैच जिस तरह खेले उस तरह हम आसानी से विजेता टीम हो सकते थे. उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हुआ.  मुझे लगता है कि पिछले दो मैचों में हमने जिस तरह एक टीम के रूप में भावना और एकजुटता दिखाई उसमें फ्रेंचाइजी किसी से पीछे नहीं है. 

इस तेज गेंदबाज ने कहा कि खुशी है कि अब भाग्य थोड़ा हमारा साथ दे रहा है लेकिन हम इसी से संतुष्ट नहीं हो सकते. जोर्डन ने दूसरे सुपर ओवर में 11 रन दिए. इसके बाद क्रिस गेल ने ट्रेंट बोल्ट की पहली गेंद पर छक्का जड़ा जबकि मयंक अग्रवाल ने लगातार दो चौके मारे जिससे पंजाब की टीम ने जीत दर्ज की. (सोर्स-भाषा)

{related}

स्टार धावक योहान ब्लेक ने धोनी पर साधा निशाना, कहा-उनकी पसंद बेहद खराब 

स्टार धावक योहान ब्लेक ने धोनी पर साधा निशाना, कहा-उनकी पसंद बेहद खराब 

शारजाह: दिल्ली कैपिटल्स की इंडियन प्रीमियर लीग में शनिवार को चेन्नई सुपरकिंग्स पर रोमांचक जीत के बाद जमैका में बैठे स्टार फर्राटा धावक योहान ब्लेक ने रविंद्र जडेजा से अंतिम ओवर कराने के महेंद्र सिंह धोनी के फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा कि पिछले काफी समय में यह उनका सबसे बदतर फैसला है. संभवत: सभी की पसंद कैरेबियाई स्टार ड्वेन ब्रावो थे लेकिन ब्लेक को यह जानकारी नहीं थी कि डेथ ओवर की गेंदबाजी का यह विशेषज्ञ चोटिल होने के कारण अंतिम ओवर फेंकने के लिए मैदान में नहीं आ सका.

धोनी का अंतिम ओवर जडेजा से कराना खराब फैसलाः
ब्लेक ने ट्विटर पर पोस्ट वीडियो में पूछा कि मुझे लगता है कि लंबे समय में यह धोनी का सबसे बदतर फैसला है. धोनी, अंतिम ओवर जडेजा से कराना खराब फैसला था. ब्रावो को क्या हुआ था?.  विश्व चैंपियनशिप की 100 मीटर दौड़ के सबसे कम उम्र के चैंपियन ब्लेक ने ट्वीट किया कि खराब, बेहद खराब पसंद महेंद्र सिंह धोनी. आप बायें हाथ के बल्लेबाजों के खिलाफ जडेजा से गेंदबाजीं नहीं करा सकते.

{related}

अंतिम ओवर जडेजा से कराने के पक्ष में नहीं थे ब्लेकः
ब्लेक को हालांकि बाद में अहसास हुआ कि ब्रावो चोटिल थे. वेस्टइंडीज के इस आलराउंडर को ग्रोइन में चोट लगी और वह कुछ दिन या कुछ हफ्तों के लिए टूर्नामेंट से बाहर हो सकते हैं. लेकिन इसके बावजूद ब्लेक अंतिम ओवर जडेजा से कराने के पक्ष में नहीं थे. दिल्ली की टीम को अंतिम ओवर में जीत के लिए 17 रन बनाने थे जो उसने एक गेंद शेष रहते बना लिए.

मैदान पर मौजूद थे शेन वाटसनः
ब्लेक ने कहा कि मुझे पता चला कि ब्रावो चोटिल था लेकिन मैं फिर भी जडेजा को गेंद नहीं दूंगा जबकि मैदान पर शेन वाटसन मौजूद है. आस्ट्रेलिया के अनुभवी खिलाड़ी वाटसन हालांकि पिछले कुछ वर्षों से बल्लेबाज के रूप में ही खेल रहे हैं.
ब्लेक ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि जब हम खेल को इतना अधिक प्यार करते हैं तो ऐसा ही होता है. भारत के सभी लोगों को मेरा प्यार. क्रिकेट के खेल का समर्थन करते रहिए और लुत्फ उठाते रहे जिससे हम इतना प्यार करते हैं.
सोर्स भाषा

चोटिल अली खान की जगह कोलकाता नाइट राइडर्स टीम में सीफर्ट शामिल

चोटिल अली खान की जगह कोलकाता नाइट राइडर्स टीम में सीफर्ट शामिल

वेलिंगटनः कोलकाता नाइट राइडर्स ने अमेरिका के चोटिल तेज गेंदबाज अली खान की जगह इंडियन प्रीमियर लीग के मौजूदा सत्र के लिए न्यूजीलैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज टिम सीफर्ट को टीम में शामिल किया है.

आईपीएल में अभी तक एक भी मैच नहीं खेल पाएं हैं खानः
ईएसपीएन क्रिकइंफो के अनुसार अमेरिका के तेज गेंदबाज खान कैरेबियाई प्रीमियर लीग (सीपीएल) में खेलने के दौरान मांसपेशियों में आए खिंचाव के कारण आईपीएल में एक भी मैच खेले बिना बाहर हो गए. सीफर्ट की घरेलू टीम नार्दर्न डिस्ट्रिक्ट्स ने ‘पुष्टि’ की है कि यह विकेटकीपर बल्लेबाज आगामी प्लंकेट शील्ड मैचों में नहीं खेल पाएगा.

{related}

सीपीएल में खेलने के दौरान खान हो गए थे चोटिलः
खान इंडियन प्रीमियर लीग फ्रेंचाइजी द्वारा अनुबंधित अमेरिका के पहले क्रिकेटर हैं. दो बार के चैंपियन नाइट राइडर्स ने इंग्लैंड के चोटिल तेज गेंदबाज हैरी गुर्ने की जगह टूर्नामेंट से पहले खान को अनुबंधित किया था. खान ट्रिनबागो नाइट राइडर्स का भी हिस्सा थे जिसने अगस्त-सितंबर में हुई कैरेबियाई प्रीमियर लीग का खिताब जीता था. पाकिस्तान में जन्में इस अमेरिकी तेज गेंदबाज ने टूर्नामेंट में आठ विकेट चटकाए थे. खान को सीपीएल में खेलने के दौरान ही चोट लगी थी.
सोर्स भाषा

KKR के स्पिनर सुनील नारायण के लिए राहत की खबर, आईपीएल समिति ने उनके गेंदबाजी एक्शन को पाया सही 

KKR के स्पिनर सुनील नारायण के लिए राहत की खबर, आईपीएल समिति ने उनके गेंदबाजी एक्शन को पाया सही 

अबू धाबीः कोलकाता नाइट राइडर्स के वेस्टइंडीज के स्पिनर सुनील नारायण के गेंदबाजी एक्शन को रविवार को इंडियन प्रीमियर लीग की संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन समिति ने पाक साफ करार दिया. संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन के लिए नारायण की पिछले हफ्ते शिकायत की गई थी. पिछले शनिवार को किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ नाइट राइडर्स के मुकाबले के दौरान नारायण की शिकायत की गई और अगर ऐसा एक बार फिर होता तो उन्हें लीग में गेंदबाजी से प्रतिबंधित कर दिया जाता.खिलाड़ी और फ्रेंचाइजी को उस समय राहत मिली जब आईपीएल की समिति ने उनके गेंदबाजी एक्शन को पाक साफ पाया.

गेंदबाजी एक्शन समिति ने नारायण को पाया पाक साफः
आईपीएल ने बयान में कहा कि कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाड़ी सुनील नारायण के गेंदबाजी एक्शन को आईपीएल की संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन समिति ने पाक साफ पाया है. शिकायत होने के बाद नारायण को आईपीएल चेतावनी सूची में रखा गया था. नाइट राइडर्स ने विशिष्ट समिति से नारायण के एक्शन के आधिकारिक आकलन का आग्रह किया था और पीछे और साइड के कोण से उनके एक्शन की स्लो मोशन फुटेज भी सौंपी थी. उन्होंने कहा कि समिति ने नारायण के एक्शन की फुटेज की सभी गेंदों की सतर्कता से समीक्षा की और इस निष्कर्ष पर पहुंची कि ऐसा लगता है कि उनकी कोहनी स्वीकृत सीमा के अंदर ही मुड़ती है.
 {related}

2015 में भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी से किया गया था निलंबितः 
बयान के अनुसार समिति ने साथ ही कहा कि नारायण आईपीएल-2020 के मैचों में उसी एक्शन के साथ गेंदबाजी करेंगे जिसकी वीडियो फुटेज समिति को सौंपी गई. इस 32 साल के क्रिकेटर को अब आईपीएल की संदिग्ध एक्शन चेतावनी सूची से हटा दिया गया है. नारायण को 2015 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी से निलंबित कर दिया गया था जब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद को उनका गेंदबाजी एक्शन अवैध लगा था. लेकिन 2016 में उन्हें सुधारवादी एक्शन के साथ खेल के सभी प्रारूपों में गेंदबाजी की स्वीकृति दी गई. पाकिस्तान सुपर लीग-2018 के दौरान भी नारायण के एक्शन की शिकायत हुई लेकिन अंतत: यह सही पाया गया.
सोर्स भाषा

IPL20: प्ले ऑफ में अपनी जगह कायम रखने की उम्मीद लिए मैदान में आमने-सामने होंगे CSK और RR

IPL20: प्ले ऑफ में अपनी जगह कायम रखने की उम्मीद लिए मैदान में आमने-सामने होंगे CSK और RR

अबू धाबीः समान स्थिति का सामना कर रहे चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रॉयल्स इंडियन प्रीमियर लीग मुकाबले में जब सोमवार को यहां आमने सामने होंगे तो दोनों टीमों को पता होगा कि इस मैच में हार उनकी प्ले आफ में जगह बनाने की रही सही उम्मीद भी तोड़ सकती है.

अंक तालिका में सीएसके छठे और आरआर सातवें स्थान परः 
सुपरकिंग्स और रॉयल्स दोनों मौजूदा सत्र में अब तक उम्मीदों पर खरा उतरने में नाकाम रहे हैं और आठ टीमों की अंक तालिका में क्रमश: छठे और सातवें स्थान पर चल रहे हैं. दोनों ही टीमों के नौ मैचों में छह अंक हैं लेकिन सुपरकिंग्स की टीम बेहतर नेट रन रेट के कारण छठे स्थान पर है. दोनों ही टीमों को अब पांच-पांच मैच और खेलने हैं और ऐसे में दोनों ही टीमों की राह आसान नहीं होने वाली क्योंकि उन्हें पता है कि यहां से वे एक और हार झेलने की स्थिति में नहीं हैं.

दोनों ही टीमों को अपने पिछले मुकाबलों में झेलनी पड़ी थी हारः
दोनों ही टीमों ने शनिवार को अपने पिछले मुकाबले गंवाए हैं. महेंद्र सिंह धोनी की अगुआई वाले सुपरकिंग्स को शीर्ष पर चल रहे दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ पांच विकेट से हार झेलनी पड़ी जबकि राजस्थान रॉयल्स को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने हराया. सुपरकिंग्स को इस मैच के दौरान बड़ा झटका लगा जब उसके स्टार आलराउंडर ड्वेन ब्रावो ग्रोइन की चोट के कारण कम से कम कुछ दिन के लिए प्रतियोगिता से बाहर हो गए.

पिछले मैच में खराब रहा सीएसके के खिलाड़ियों का क्षेत्ररक्षणः 
सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ जीत से अपने अभियान को पटरी पर लाने वाले सुपरकिंग्स को खराब क्षेत्ररक्षण और शिखर धवन की 101 रन की पारी के कारण दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ हार झेलनी पड़ी. धवन ने कई जीवनदान का फायदा उठाते हुए आईपीएल में अपना पहला शतक जड़ा जबकि अक्षर पटेल ने रविंद्र जडेजा के मैच के अंतिम ओवर में तीन छक्के जड़कर दिल्ली की टीम को जीत दिलाई. परकिंग्स का क्षेत्ररक्षण काफी खराब रहा. उसके क्षेत्ररक्षकों ने 25 और 79 रन के स्कोर पर धवन को जीवनदान दिए जबकि इसके अलावा एक मुश्किल कैच और एक रन आउट करने का मौका भी गंवाया.

{related}

कप्तान स्टीव स्मिथ की फॉर्म में वापसी आरआर के लिए अच्छी खबरः
राजस्थान रॉयल्स की स्थिति भी काफी खराब है. टीम के लिए हालांकि कप्तान स्टीव स्मिथ की फॉर्म में वापसी अच्छी खबर है जिन्होंने शनिवार को 57 रन की पारी खेली. टीम से देर से जुड़ने वाले स्टार आलराउंडर बेन स्टोक्स अब तक उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं जबकि जोस बटलर की बल्लेबाजी में निरंतरता की कमी है. संजू सैमसन अपनी शुरुआती फॉर्म को दोहराने में नाकाम रहे हैं जबकि ऐसा लगता है कि रोबिन उथप्पा ने फॉर्म हासिल कर ली है. उथप्पा ने बेंगलोर के खिलाफ 22 गेंद में 41 रन की पारी खेली.जोफ्रा आर्चर की अगुआई वाला टीम का गेंदबाजी आक्रमण हालांकि बेंगलोर के खिलाफ साधारण लगा था.

संभावित टीमें:
चेन्नई सुपर किंग्स:
महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), मुरली विजय, अंबाती रायुडू, फाफ डु प्लेसिस, शेन वाटसन, केदार जाधव, ड्वेन ब्रावो, रविंद्र जडेजा, लुंगी एनगिडी, दीपक चाहर, पीयूष चावला, इमरान ताहिर, मिशेल सेंटनर, जोश हेजलवुड, शारदुल ठाकुर, सैम कुरेन, एन जगदीशन, केएम आसिफ, मोनू कुमार, आर साई किशोर, रुतुराज गायकवाड़ और कर्ण शर्मा.

राजस्थान रॉयल्स: जोस बटलर, बेन स्टोक्स, संजू सैमसन, एंड्रयू टाई, कार्तिक त्यागी, स्टीवन स्मिथ (कप्तान), अंकित राजपूत, श्रेयस गोपाल, राहुल तेवतिया, जयदेव उनादकट, मयंक मारकंडेय, महिपाल लोमरोर, ओशेन थॉमस, रियान पराग, यशस्वी जायसवाल, अनुज रावत, आकाश सिंह, डेविड मिलर, मनन वोहरा, शशांक सिंह, वरुण आरोन, टॉम कुरेन, रॉबिन उथप्पा, अनिरुद्ध जोशी और जोफ्रा आर्चर.
सोर्स भाषा

बैडमिंटन में गोल्ड लाने वाली मानसी जोशी की तर्ज पर "बार्बी डॉल" cum " मानसी डॉल "

बैडमिंटन में गोल्ड लाने वाली मानसी जोशी की तर्ज पर

नई दिल्ली: कहते है कि भगवान जब एक दरवाजा बंद करते है तो कई औऱ दरवाजें खोल देते है. जी हां, आज से ठीक नौ साल पहले एक लड़की ने सड़क दुर्घटना में अपना एक पैर गंवा दिया और उसके शरीर के साथ ही उस इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स इंजीनियरिंग ग्रेजुएट लड़की के सारे सपने भी अपाहिज हो गए. कुदरत की इस बेदर्दी पर हर कोई निराश था लेकिन उसका खुद पर भरोसो इतना ज्यादा था कि उसने  हार नहीं मानी औऱ इसी विश्वास ने  शोहरत और कामयाबी के नये रास्ता खोल दिए जो आज सबके लिए एक मिसाल बन गई है. 

बैडमिंटन की विश्व प्रतियोगिता के नक्शे पर भारत का नाम स्वर्णिम अक्षरों से लिखने वाली देश की पैरा शटलर मानसी जोशी की जिंदगी वक्त के बेरहम और मेहरबान हो जाने की बड़ी दिलचस्प दास्तान है. 2011 में अपना पांव गंवाने वाली मानसी अपनी कड़ी मेहनत और कुछ कर गुजरने के जज्बे के दम पर टाइम मैगजीन की ‘नेक्स्ट जनरेशन लीडर 2020’ सूची में शामिल हुईं है और पत्रिका के एशिया संस्करण के आवरण पर अपनी जगह बनाई है. मानसी इस सूची में शामिल दुनिया की पहली पैरा एथलीट और भारत की पहली एथलीट हैं. 

यह अद्भुत सम्मान मिलने से आह्लादित मानसी जोशी ने कहा कि टाइम मैगजीन की नेक्‍स्‍ट जनरेशन लीडर की सूची में शामिल होना मेरे लिए सम्मान की बात है. मुझे लगता है कि एक पैरा एथलीट को इतनी प्रतिष्ठित पत्रिका के कवर पर देखकर लोगों की दिव्‍यांग्‍यता के प्रति सोच बदलेगी और भारत तथा एशिया में पैरा स्‍पोर्ट्स के प्रति भी लोगों का रवैया बदलेगा.

वर्ष 2011 में हुयी दुर्घटना का जिक्र करने पर मानसी कुछ पल को सिहर जाती हैं, फिर उसी आत्मविश्वास के साथ सधे शब्दों में कहती हैं कि वह सिर्फ उन्‍हीं चीजों के बारे में सोचती हैं, जो उनके नियंत्रण में हो. मैंने विषम परिस्थितियों को अपने हक में मोड़ना सीख लिया. वह कहती हैं कि सड़क सुरक्षा एक गंभीर मुद्दा है और वह इस बारे में बात करना चाहती हैं. उनका मानना है कि सरकार और प्रशासन से जुड़े लोगों को सड़क सुरक्षा को बेहतर बनाने की दिशा में प्रयास करना चाहिए.

11 जून 1989 को जन्मी मानसी जोशी छह साल की उम्र में अपने पिता के साथ बैडमिंटन खेला करती थी. प्रारंभिक शिक्षा पूरी करने के बाद मानसी ने 2010 में मुंबई विश्विवद्यालय के के. जे. सोमैया कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से इलेक्ट्रानिक्स इंजीनियरिंग में पढ़ाई पूरी की और साफ्टवेयर इंजीनियर के तौर पर काम करने लगी, लेकिन उनकी तकदीर ने उनके लिए कोई और ही रास्ता चुना था. दिसंबर 2011 में वह अपनी मोटरबाइक से काम पर जाते हुए एक सड़क दुर्घटना का शिकार हो गईं और उनकी एक टांग काट देनी पड़ी.

निराशा और हताशा के उस दौर से निकलने के लिए मानसी ने एक बार फिर बैडमिंटन को अपना सहारा बनाया और एक अन्य पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी नीरज जार्ज की सलाह पर उन्होंने प्रतिस्पर्धा के स्तर पर खेलने का फैसला किया और कड़ी मेहनत करते हुए राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने के बाद स्पेन में आयोजित एक अन्तरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में पहली बार हिस्सा लिया.

इसके बाद जैसे किस्मत मानसी जोशी पर मेहरबान होती गई. 2015 में इंग्लैंड के स्टोक मैंडविल में मानसी ने पैरा बैडमिंटन विश्व चैंपियनशिप की मिश्रित यु्गल स्पर्धा में रजत पदक जीता. अक्टूबर 2018 में इंडोनेशिया के जकार्ता में हुए एशियाई पैरा गेम्स में मानसी ने भारत के लिए कांस्य पदक जीता. 2018 में ही उन्होंने बैडमिंटन के जादूगर पुलेला गोपीचंद की हैदराबाद स्थित बैडमिंटन अकादमी में प्रशिक्षण लेना शुरू किया. 2019 में इस प्रशिक्षण का असर दिखाई देने लगा और अगस्त में स्विटजरलैंड के बेसेल में हुई पैरा बैडमिंटन विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतकर मानसी अपनी मिसाल खुद बन गईं.  इससे अलावा भी उन्होंने कई अन्तरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में देश का मान बढ़ाया. 

मानसी के नाम पर एक और दुर्लभ उपलब्धि भी है.  हाल ही में बॉर्बी डॉल बनाने वाली कंपनी ने उनके जैसी गुड़िया बनाकर उनकी तमाम उपलब्धियों का सम्मान किया है. मानसी जोशी ने इस पर खुशी जाहिर करते हुए अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा, धन्‍यवाद बार्बी. यह अ‍तुलनीय है कि एक बार्बी डॉल मुझसे प्रेरित होकर बनी है. मेरा मानना है कि बच्चों के लिए उनके आसपास के परिवेश की शिक्षा जल्दी शुरू होनी चाहिए और मुझे उम्मीद है कि मेरी कहानी बच्चियों को उनकी वास्तविक क्षमता को समझने और उसके साथ आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करेगी. (सोर्स-भाषा)

{related}