VIDEO: खबर का बड़ा असर, नारायणा मल्टीस्पेशिलिटी अस्पताल प्रबंधन की बढ़ी मुश्किलें !

Vikas Sharma Published Date 2019/04/06 05:23

जयपुर। राजधानी के नामी गिरानी अस्पतालों में शुमार नारायणा मल्टीस्पेशिलिटी अस्पताल की मुश्किलें अब बढ़ने वाली है। लापरवाही से इलाज करके एक मरीज को जीवनभर अंपगता का दंश लेने के मामले में आखिरकार नारायणा मल्टीस्पेशिलिटी अस्पताल के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज हो गया है।

फर्स्ट इंडिया पर प्रमुखता से खबर प्रसारित होने के बाद परिजनों ने नामी अस्पताल के खिलाफ हिम्मत जुटाते हुए शहर के प्रतापनगर थाने में मामला दर्ज कराया है। पुलिस ने मरीज राजाराम मीणा के बेटे मुकेश मीणा की शिकायत पर अस्पताल प्रबन्धन पर आईपीसी की धारा 336 और 338 यानी किसी मरीज के इलाज के दौरान उपेक्षापूर्ण लापरवाही बरतने के आरोप में मामला दर्ज किया है। 

क्या था पूरा मामला:

—नारायणा हॉस्पिटल में उपचार के बजाय मिल रहा दर्द 
—कथित चिकित्सकीय लापरवाही के चलते एक बुजुर्ग को गंवाना पड़ा पैर 
—11 मार्च को पैर की एंजियोप्लास्टी के लिए भर्ती हुए राजाराम 
—चिकित्सकों ने मरीज के दाये पैर का दर्द दूर करने के लिए की एंजियोप्लास्टी 
—मरीज राजाराम के बेटे का आरोप, ऑपरेशन में कथिततौर पर लापरवाही का आरोप 
—ऑपरेशन के बाद बाये पैर ने काम करना किया बन्द 
—देखते ही देखते काला पड़ने लगा पैर, तो चिकित्सकों ने आनन-फानन में 14 मार्च को भेजा घर 
—मरीज की घर पर बिगडी हालात तो फिर 18 मार्च को अस्पताल में किया गया भर्ती 
—और फिर चिकित्सकों ने लापरवाही जगजाहिर होने के डर से काले पड़े पैर को काटकर किया अलग 
—इसके बाद 27 मार्च को डिस्चार्ज कर फिर से घर भेजा, तभी से राजाराम बैड पर ही है।
—फर्स्ट इंडिया पर खबर चलने के बाद परिजनों ने हिम्मत जुटाकर अस्पताल प्रबन्धन के खिलाफ पुलिस में आपराधिक मामला दर्ज कराया है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in