भाजपा के इस विधायक ने सीएम राजे को बताया 'पद्मावती' मुद्दे की जिम्मेदार

भाजपा के इस विधायक ने सीएम राजे को बताया 'पद्मावती' मुद्दे की जिम्मेदार

भरतपुर। राजस्थान के भरतपुर में आज पत्रकारों से वार्ता करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता और विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने अपनी ही सरकार और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाए। तिवाड़ी ने कहा कि राज्य सरकार के 4 साल के कार्यकाल में विकास होने के बजाय विनाश हुआ है और आज प्रदेश में इमरजेंसी जैसे हालात बने हुए हैं।

इस दौरान तिवाड़ी ने 'पद्मावती' फिल्म के मुद्दे पर हुए विवाद के लिए भी मुख्यमंत्री को ही जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पर्यटन के प्रचार-प्रसार करने की अनुमति एक बोस नामक कंपनी को दी थी, जिसने अपनी वेबसाइट पर रानी पद्मिनी को अलाउद्दीन खिलजी की प्रेमिका दर्शाया था। इसलिए सबसे पहले मुख्यमंत्री राजे को इसका दंड देना चाहिए।

उन्होंने कहा कि इस बार प्रदेश के लोगों ने वसुंधरा राजे को भगाने का मानस बना लिया है। इसलिए यदि राजे यहां रही तो भाजपा को आगामी विधानसभा चुनावों में करारी हार का सामना करना पड़ेगा। एक निजी शादी समारोह में भाग लेने भरतपुर आए घनश्याम तिवाड़ी ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि भले ही सरकार 4 साल का जश्न मना रही हो, लेकिन इन 4 सालों में ऐसा कोई कार्य नहीं हुआ, जिससे आमजन को राहत मिली हो।

उन्होंने कहा कि देश की यह पहली ऐसी सरकार है, जिसमें 20 हजार स्कूलों को बंद कर दिया, वहीं शिक्षा व स्वास्थ्य सेवाओं को भी पीपीपी मोड पर देकर जिम्मेदारियों से अपना पिंड छुड़ा लिया है। तिवाड़ी ने कहा कि भ्रष्टाचार को रोकने में सरकार पूरी तरह से असमर्थ रही है और भ्रष्टाचार के आरोप में जेल काट कर आए अधिकारियों को दोबारा पोस्टिंग दी गई है। उन्होंने कहा कि दिल्ली और बिहार की तर्ज पर राजस्थान में भी तीसरे विकल्प की संभावनाएं प्रबल हैं। तिवाड़ी ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी को मुख्यमंत्री का राजदार भी बताया।

और पढ़ें