कल जयपुर आएगा वाजपेयी का अस्थि कलश

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/08/21 02:47

जयपुर। देश में भाजपा को सबसे बड़ी पार्टी बनने के सफर में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने वाले पूर्व प्रधानमंत्री दिवगंत अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां देश के प्रमुख तीर्थ सरोवरों और नदियों में प्रवाहित की जाएगी। राजस्थान में अजमेर के पवित्र सरोवर तीर्थराज पुष्कर, आदिवासियों के तीर्थ स्थल बेणेश्वर जहां तीन नदियों का संगम होता है और हाड़ौती की जीवनदायिनी कोटा की चम्बल नदी में भी वाजपेयी की अस्थियों को विसर्जित किया जाएगा।

वाजपेयी की अस्थियों से समाहित तीन अस्थि कलश कल दिल्ली से जयपुर लाये जाएंगे। दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह तीन अस्थि कलश देकर राज्य के नेताओं को जयपुर रवाना करेंगे। शाह अस्थि कलशों को बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी और सामाजिक न्याय अधिकारिता मंत्री अरुण चतुर्वेदी को सौपेंगे। सांगानेर हवाई अड्डे से तीनों अस्थि कलश को तीन अलग—अलग रथों के जरिए भाजपा मुख्यालय पर लाया जाएगा।

सांगानेर एयरपोर्ट से लेकर भाजपा मुख्यालय तक कई स्थानों पर अस्थि कलश पर बीजेपी के कार्यकर्ताओं और जन संगठनों की ओर से पुष्पांजलि की जाएगी। 23 अगस्त को भाजपा राज्य मुख्यालय से तीनों अस्थि कलश, तीन अलग—अलग दिशाओं के लिए रवाना किए जाएंगे, जिसमें चंबल नदी में अस्थि कलश को प्रवाहित करने की जिम्मेदारी कोटा सांसद ओम बिड़ला को दी गई है। बेणेश्वर धाम में भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष चुन्नीलाल गरासिया और पुष्कर सरोवर में सामाजिक न्याय एवम अधिकारिता मंत्री अस्थि कलश को प्रावाहित करेंगे।

बहरहाल, कहा यह जा रहा है कि 23 अगस्त को पुष्कर के पवित्र घाट पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, कोटा में चम्बल नदी के तट पर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी और बेणेश्वर पर गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया मौजूद रह सकते हैं।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in