VIDEO: आज से शुरू होगा विधानसभा का बजट सत्र, सत्ता पक्ष और विपक्ष ने कसी कमर

VIDEO: आज से शुरू होगा विधानसभा का बजट सत्र, सत्ता पक्ष और विपक्ष ने कसी कमर

जयपुर: आज से विधानसभा का सत्र शुरु हो रहा है. मौजूदा सत्र में ही गहलोत सरकार अपना बजट प्रस्तुत करेगी. राज्यपाल अभिभाषण पर वाद विवाद से सत्र शुरु होगा. एक दूसरे को घेरने के लिये सत्तापक्ष और विपक्ष ने कमर कस ली है. ज्वलंत विषयों को लेकर हंगामा भी दिखेगा और सियासत भी सधेगी. 

Delhi Election: केजरीवाल का चुनाव आयोग से सवाल, आंकड़े जारी करने में देरी क्यों?

कांग्रेस के विधायक विकास के एंजेडे पर अपनी बात रखेंगे:
विधानसभा के बेहद अहम सत्र में भाग लेने के लिये सत्ताधारी दल कांग्रेस और विपक्षी दल बीजेपी की सेनाएं तैयार है. सदन के अंदर सियासी घमासान के लिये अपने तरकश में तीर रखकर हरावल दस्तों के दिग्गजों ने कमर कस ली है. सदन के नेता और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अगुवाई में कांग्रेस के विधायक विकास के एंजेडे पर अपनी बात रखेंगे, गहलोत राज में हुये विकास कार्यो की दलीलों के जरिये विपक्ष को घेरने और जुबानी हमलों को कुंद करने का काम करेंगे. सीएम गहलोत के हरावल दस्ते में कुशल सियासी सेनापति और ट्रबल शूटर है. दक्ष सियासी क्षत्रपों में शुमार है उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, जलदाय और ऊर्जा मंत्री डॉ बीडी कल्ला, कृषि मंत्री लाल चंद कटारिया, उधोग मंत्री परसादी लाल मीना समेत प्रमुख दिग्गज. आरएलडी खाते से गहलोत सरकार में राज्य मंत्री सुभाष गर्ग भी सत्तापक्ष के फ्लोर मैनेजमेंट के प्रमुख क्षत्रप. सदन के अंदर यूडीएच और संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल की अगुवाई में संपूर्ण फ्लोर मैनेजमेंट कार्य करता है. 

30 IAS अधिकारियों के तबादले, अफसरों को सौंपे जाएंगे ये विभाग

---विधानसभा में कांग्रेस का हरावल दस्ता--- 
--शांति धारीवाल... कैबिनेट मंत्री 
- फ्लोर मैनेजमेंट की कमान रहेगी शांति धारीवाल के हाथों में
- वे सदन में सेनापति की भूमिका में होंगे
- संसदीय कार्य मंत्री के तौर पर धारीवाल के पास कमान

--डॉ महेश जोशी.. मुख्य सचेतक 
- कांग्रेस कैम्प के प्रमुख रणनीतिकार
- उनके कूटनीतिक सहयोगी की भूमिका में होंगे मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी
- फ्लोर मैनेजमेंट में दक्ष

--डॉ रघु शर्मा.. चिकित्सा व स्वास्थ्य मंत्री 
- सत्तापक्ष के ट्रबल शूटर
- विपक्षी हमलों का जबाव देने में सिद्धस्त

--महेन्द्र चौधरी.. उप मुख्य सचेतक 
- सत्तापक्ष के युवा क्षत्रप
- फ्लोर मैनेजमेंट में महेश जोशी के सहयोगी की भूमिका
- कांग्रेस विधायकों को सब्जेक्ट बताने का जिम्मा 

---प्रताप सिंह खाचरियावास... परिवहन मंत्री 
- सत्तापक्ष के प्रमुख रणनीतिकार
- इनका जिम्मा विपक्षी धार को कुंद करना

----गोविन्द सिंह डोटासरा.. शिक्षा राज्य मंत्री 
- सत्तापक्ष के हरावल दस्ते में शुमार
- विपक्ष के प्रहारों को ध्वस्त करने की जिम्मेदारी 

Exit Polls: दिल्ली में हैट्रिक लगाएगी AAP, 50-60 सीटों के अनुमान

सदन के अंदर बीजेपी भले ही विपक्ष में लेकिन सत्ता पक्ष को मजबूत चुनौती देने में सक्षम है. पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया की अगुवाई में विपक्ष तीखे हमले करने में महारथी है. राजे का मार्गदर्शन नये विधायकों के महत्वपूर्ण है तो वहीं गुलाब चंद कटारिया अपने ओजपूर्ण संबोधन से सत्ता पक्ष को घेरते है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया की मौजूदगी विपक्षी कैम्प को मज़बूती देने का काम करती है. सदन के अंदर बीजेपी के फ्लोर मैनेजमेंट का दायित्व संभालते है पुराने धुरंधर और उपनेता प्रतिशत राजेन्द्र राठौड़.

----विधानसभा में भाजपा का हरावल दस्ता----
--राजेन्द्र राठौड़.. उप नेता प्रतिपक्ष 
-फ्लोर मैनेजमेंट का दायित्व इनके जिम्मे
-सत्तापक्ष को घेरने की रणनीति बनाने का काम
-नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया के प्रमुख सहयोगी
-सहयोगी दलों को साधना 

--सतीश पूनिया.. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष 
-बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष के नाते प्रमुख जिम्मेदारी 
-विधायकों को ज्वलंत विषयों के प्रति सजग करना 
-ज्वलंत मसलों पर अपने धाराप्रवाह संबोधन से सत्तापक्ष को घेरना

---किरण माहेश्वरी.. वरिष्ठ भाजपा विधायक 
-विपक्षी कैम्प की प्रमुख रणनीतिकार
-फ्लोर मैनेजमेंट में कुशल 

---मदन दिलावर... वरिष्ठ भाजपा विधायक 
-विपक्षी खेमे के हरावल सिपाही
-धारदार संबोधन से खलबली पैदा करने में महारथी

---वासुदेव देवनानी.. वरिष्ठ भाजपा विधायक 
-सदन की फ्लोर कूटनीति में माहिर
-विपक्ष वस्तु की पूरी समझ

---रामलाल शर्मा.. विधायक
-कुशाग्र बुद्धि और बोलने में सक्षम
-विपक्षी फ्लोर मैनेजमेंट के हरावल दस्ते में शुमार

---जोगेश्वर गर्ग... वरिष्ठ भाजपा विधायक 
-संसदीय गुणों में दक्ष
-ज्वलंत विषयों पर घेरने का जिम्मा 

मौजूदा विधानसभा सत्र लंबा चलेगा.. सियासत उफान पर होगी. यहां टिड्डी दल, कानून व्यवस्था, शिक्षा, चिकित्सा और स्वास्थ्य जैसे विषयों पर बीजेपी घेरने का काम करेगी तो वहीं समझदार मंत्रियों के बलबूते सत्तापक्ष का काम होगा विपक्षी हमलों का माकूल जबाव देना. जाहिर है प्रदेश की सबसे बड़ी पंचायत का संदेश चहुंओर जाता है. हंगामा, सियासत और विधायी कार्य साथ साथ चलेंगे.

...फर्स्ट इंडिया के लिये ऐश्वर्य प्रधान के साथ योगेश शर्मा की रिपोर्ट 

और पढ़ें