जयपुर Petrol Diesel Price: अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम गिरे, अब क्यों चुप हैं देश की तेल कम्पनियां !

Petrol Diesel Price: अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम गिरे, अब क्यों चुप हैं देश की तेल कम्पनियां !

Petrol Diesel Price: अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम गिरे, अब क्यों चुप हैं देश की तेल कम्पनियां !

जयपुर: अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल (Crude Oil) की कीमतों में गिरावट देखने को मिल रही है. लेकिन इसके बाद भी पेट्रोल-डीजल के दामों में कमी देखने को नहीं मिल रही. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यह खड़ा हो रहा है कि अब क्यों चुप हैं देश की तेल कम्पनियां ! 

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम $66 पर आ गए हैं. 1 महीने पहले कच्चे तेल के दाम 85 डॉलर से अधिक चल रहे थे. आज प्रति बैरल कच्चे तेल के दाम 19 डॉलर तक कम हुए हैं. लेकिन देश में तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल के दाम नहीं घटाए. 

तेल कंपनियां केंद्र द्वारा उत्पाद शुल्क में कमी के बाद रहस्यमय चुप्पी साध चुकी है. जबकि 66 से 85 डॉलर प्रति बैरल दाम पहुंचने पर देश में पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ गए थे. 19 डॉलर की बढ़त के दौरान पेट्रोल, डीजल के दाम में 8 रुपए से अधिक वृद्धि हुई थी. अब कच्चा तेल $19 प्रति बैरल कम कीमत पर बिक रहा है लेकिन देश में तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल के दाम नहीं घटाए. अब तेल कंपनियां दर में कमी करें तो आमजन को और राहत मिल जाए. 

राष्ट्रीय स्तर पर पेट्रोल-डीजल की कीमतें स्थिर:  
इस बीच राष्ट्रीय स्तर पर पेट्रोल (Petrol) और डीजल (Diesel) की कीमतें स्थिर बनी हुई हैं. भारतीय तेल कंपनियों ने आज (गुरुवार) 02 दिसंबर को भी पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) की कीमत में लगातार 28वें दिन भी कोई बदलाव नहीं किया है. अगर प्रदेश की राजधानी जयपुर की बात करें तो आज पेट्रोल का दाम 107.06 रुपये जबकि डीजल का भाव 90.70 रुपये प्रति लीटर पर टिका हुआ है. एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगर अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट का सिलसिला जारी रहा तो देशभर में पेट्रोल-डीजल और सस्ता हो सकता है.

केंद्र सरकार ने एक्साइज ड्यूटी तो राज्य सरकार ने कम किया था वैट:
बता दें कि केंद्र सरकार ने बुधवार (03 नवंबर) को पेट्रोल पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी में 5 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 10 रुपये प्रति लीटर की कटौती की थी. उसके बाद राजस्थान सरकार ने भी पेट्रोल और डीजल पर वैट घटाने का फैसला कर लिया था. इससे राजस्थान में पेट्रोल 4 रुपये और डीजल 5 रुपये सस्ता हो गया था. जिसके बाद से ही पेट्रोल-डीजल के भाव स्थिर बने हुए हैं. 

और पढ़ें