उत्सव बैंस के दावों पर SC का फैसला, रिटायर्ड जस्टिस एके पटनायक करेंगे साजिश की जांच

Nizam Kantaliya Published Date 2019/04/25 02:49

नई दिल्ली। सीजेआई रंजन गोगोई के खिलाफ गहरी साजिश के दावों के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की जांच के लिए पूर्व जस्टिस एके पटनायक को नियुक्त किया है। जस्टिस अरूण मिश्रा की बैंच ने फैसला सुनाते हुए कहा कि जस्टिस पटनायक हलफनामे और सबूतों के आधार पर मामले की जांच करेंगे। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने वकील उत्सव बैंस की उस फरियाद को मानने से इंकार कर दिया है जिसके तहत उसके द्वारा पेश किये गये दस्तावेजो को एविडेंस एक्ट की धारा 126 में कवर करने की बात कही गयी थी। 

सीजेआई के खिलाफ साजींश के दावो पर गंभीर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस ए के पटनायक के नेतृत्व में जांच के आदेश दिये है। जस्टिस पटनायक हलफनामे और सबूतों के आधार पर मामले की जांच करेंगे। वही सीबीआई, आईबी और दिल्ली पुलिस कमिश्नर जस्टिस पटनायक को जांच में सहयोग करने के आदेश दिये गये है। इसके साथ ही बैंच ने साफ कर दिया कि CJI गोगोई पर महिला द्वारा लगाए गये आरोप इस जांच की परिधि से बाहर होंगे। जस्टिस पटनायक सिर्फ उत्सव बैंस के दावे और साज़िश की जांच करेंगे। 

सुप्रीम कोर्ट ने वकील उत्सव बैंस की विश्वसनीयता को लेकर जांच के आदेश दिये है। गौतरलब है सुबह हुई सुनवाई के दौरान वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने उत्सव बैंस की विश्वसनीयता पर सवाल खड़े किये थे। बैंच ने अपने फैसले में कहा कि उत्सव बैंस को सभी दस्तावेजों का खुलासा करना होगा, क्योकि ये सभी दस्तावेज और हलफनामा एविंडेंस एक्ट की धारा 126 के तहत कवर नही होते। 

अब तक का घटनाक्रम 
19 अप्रैलः सुप्रीम कोर्ट की एक पूर्व महिला कर्मचारी ने सुप्रीम कोर्ट के 22 जजो को हलफनामे की प्रति भेज सीजेआई पर गंभीर आरोप लगाये।

20 अप्रैलः अवकाश के दिन सुनवाई
देश के कई मीडिया संस्थानो द्वारा मामला सार्वजनिक किये जाने के बाद अवकाश के बावजूद रविवार को सुबह चीफ जस्टिस गोगोई की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय विशेष बैंच ने मामले की सुनवाई की...
सीजेआई ने अपना पक्ष रखते हुए कोई फैसला नही दिया लेकिन देश की मीडिया पर छोड़ा।

20 अप्रैलः उत्सव बैंस का दावा
सुप्रीम कोर्ट के वकील उत्सव बैंस ने उसी दिन सोशलमीडिया पर दावा कर सनसनी फैला दी कि उन्हे सीजेआई के खिलाफ साजिश के लिए डेढ करोड़ आफर किये गये। 

21 अप्रैल अरूण जटेली उतरे सीजेआई के समर्थन में 

22 अप्रैल सीजेआई ने संवैधानिक पीठ को किया रद्द

23 अप्रैल सुप्रीम कोर्ट में 3 सदस्य जजो की जांच कमेटी का गठन 

23 स्वप्रेणा प्रसंज्ञान— बैंस के दावों जांच के लिए स्वप्रेणा प्रसंज्ञान, 
जस्टिस अरूण मिश्रा की अध्यक्षता में बैंच ने एडवोकेट उत्सव बैंस को पेश होने को  कहा 

24 अप्रैल- उत्सव बैंस ने सीलबंद लिफाफे में बैंच के समक्ष सीसीटीवी फुटेज सौंपी दी है..साथ ही एक ओर हलफनामें के लिए समय मांगा

25 अप्रैल— सुबह 10.30 बजे हुई सुनवाई में उत्सव बैंस ने दूसरा हलफनामा पेश किया।

दोपहर 2 बजे जस्टिस अरूण मिश्रा की बैंच ने अपना फैसला सुनाया। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in