लखनऊ मुख्यमंत्री योगी ने ‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ की लाभार्थियों से किया डिजिटल संवाद

मुख्यमंत्री योगी ने ‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ की लाभार्थियों से किया डिजिटल संवाद

मुख्यमंत्री योगी  ने ‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ की लाभार्थियों से किया डिजिटल संवाद

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को एक कार्यक्रम में ‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ के द्वितीय चरण में निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन प्राप्त करने वाली 10 जनपदों की लाभार्थियों से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संवाद किया.

लाभार्थी महिलाओं को बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गरीब एवं जरूरतमन्द परिवारों की महिलाओं को स्वच्छ ईंधन के माध्यम से बेहतर जीवन सुलभ कराने के लिए ‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ के अन्तर्गत निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन उपलब्ध कराया जा रहा है. मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छ ईंधन का अर्थ स्वास्थ्य के लिए उत्तम ईंधन है. योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा 10 अगस्त, 2021 को ‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ के द्वितीय चरण की शुरुआत की गई थी.  

20 लाख लोगों को मिलेगा योजना का लाभ: 
‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ के द्वितीय चरण के लिये प्रदेश के 10 जनपदों सोनभद्र, बांदा, महोबा, चित्रकूट, रायबरेली, हरदोई, बदायूं, अमेठी, फतेहपुर एवं फर्रूखाबाद का चयन किया गया है. इन जनपदों की 20 लाख लाभार्थियों को ‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ के द्वितीय चरण में निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन प्रदान किये जाएंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना के इस चरण में उन प्रवासी श्रमिकों के लिए विशेष प्रावधान किये गये हैं, जो प्रथम चरण में पते के प्रमाण के अभाव में योजना का लाभ प्राप्त करने से वंचित रह गये थे. 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा ‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ का शुभारम्भ मई, 2016 में प्रदेश के जनपद बलिया से किया गया था. योजना के अन्तर्गत मार्च, 2020 तक आठ करोड़ वंचित परिवारों को निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन दिये जाने का लक्ष्य था. इस लक्ष्य को तय सीमा से सात महीने पूर्व सितम्बर, 2019 में प्राप्त कर लिया गया. योजना के अन्तर्गत प्रदेश में सर्वाधिक 1.47 करोड़ से अधिक निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन गरीब एवं जरूरतमन्द परिवारों को उपलब्ध कराये गये हैं. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें