राजस्थान विधानसभा : पहला सत्र, आखिर दिन और सीएम गहलोत के आखिरी 'जवाब'

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/01/23 04:44

जयपुर। राजस्थान में 15वीं विधानसभा के पहले सत्र में आखिरी दिन की कार्यवाही में आज प्रतिपक्ष के नेता के बाद सदन के नेता सीएम अशोक गहलोत ने राज्यपाल के अभिभाषण पर बहस का जवाब दिया। इस दौरान सीएम गहलोत ने कई घोषणाएं भी की और उनके भाषण के दौरान बीच-बीच में जमकर ठहाके भी लगे। इससे पूर्व भाजपा ने 3-4 मिनट ही किया प्रश्नकाल का सांकेतिक बायकाट किया। हालांकि पहले पूरे प्रश्नकाल के बायकाट का ऐलान था, लेकिन कुछ देर बाद ही भाजपा विधायक सदन में आ गए।

विधानसभा के सदन में आज राज्यपाल के अभिभाषण पर जवाब देते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि आज अगर आप यहां संगठित होकर बैठे हो, तो वो इसलिए क्योंकि इसमें कांग्रेस ने देश की आजादी के लिए बलिदान दिया है। पं. नेहरू जैसे महान नेता 10 साल तक जेलों में रहे। गहलोत ने भाजपा से पूछा कि आपकी पार्टी ने क्या किया, आंदोलन में किसी ने अंगुली तक नहीं कटवाई। 

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि आपकी सरकार में नि:शुल्क दवा योजना को कमजोर किया गया। हम पूर्ववर्ती सरकार में भामाशाह योजना लेकर आए और भामाशाह योजना कार्ड पर 400 करोड़ खर्च किए। लेकिन उसमें भी पूर्व मुख्यमंत्री की फोटो लगी होती थी। वृद्धावस्था-विधवा-निशक्तजन पेंशन में नाम काटे गए, हमनें सरकार बनते ही पेंशन बढ़ाई, लेकिन आपने उन लोगों की तकलीफ को कभी समझा नहीं। आपकी सरकार में सरकारी खर्चे पर वार्षिक उत्सव होते थे, रिसर्जेंट राजस्थान पर माहौल बनाया गया, जो कि बड़े उद्योगपतियों का स्नेह मिलन था।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in