नई दिल्ली कांग्रेस: चिंतन शिविर से पहले नौ मई को होगी सीडब्ल्यूसी की बैठक, भविष्य की रणनीति को लेकर होगी चर्चा

कांग्रेस: चिंतन शिविर से पहले नौ मई को होगी सीडब्ल्यूसी की बैठक, भविष्य की रणनीति को लेकर होगी चर्चा

कांग्रेस: चिंतन शिविर से पहले नौ मई को होगी सीडब्ल्यूसी की बैठक, भविष्य की रणनीति को लेकर होगी चर्चा

नई दिल्ली: राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस के ‘चिंतन शिविर’ (congress chintan shivir) से पहले कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की बैठक 9 मई को यहां पार्टी मुख्यालय में होगी. इस बैठक में चिंतन शिविर के एजेंडे के साथ-साथ पार्टी की भविष्य की रणनीति पर भी विचार-विमर्श किया जाएगा.

कांग्रेस ने पिछले महीने घोषणा की थी कि 13-15 मई तक तीन दिवसीय चिंतन शिविर उदयपुर में आयोजित किया जाएगा जिसमें देश भर के पार्टी नेता आंतरिक मुद्दों पर चर्चा करेंगे और संगठन को मजबूत बनाने के लिए समाधान सुझाएंगे. इस शिविर में पार्टी के करीब 400 शीर्ष नेताओं के शामिल होने की संभावना है. कांग्रेस कार्य समिति (Congress working committee) में शामिल नेताओं के अलावा, संसद सदस्य, प्रदेश प्रभारी, महासचिव और प्रदेश अध्यक्षों सहित वरिष्ठ नेता चिंतन शिविर में भाग लेंगे.

कांग्रेस महासचिव, संगठन, के सी वेणुगोपाल ने एक ट्वीट में कहा कि कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक सोमवार, 9 मई 2022 को शाम साढ़े चार बजे कांग्रेस कार्यालय, 24 अकबर रोड, नई दिल्ली में आयोजित की जाएगी, जिसमें उदयपुर, राजस्थान में 13 से 15 मई 2022 तक होने वाले ‘नव संकल्प शिविर- 2022’ के बारे में चर्चा की जाएगी. कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के सी वेणुगोपाल, अजय माकन और अशोक गहलोत ने बुधवार को चिंतन शिविर की तैयारियों का जायजा लिया था.

चुनौतियों से निपटने के मकसद से एक ‘विशेषाधिकार प्राप्त कार्य समूह- 2024’ का गठन किया जाएगा:
इससे पहले चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर के सुझावों पर विचार करने के कुछ दिनों बाद कांग्रेस ने घोषणा की थी कि अगले लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी को मजबूत करने और भविष्य की चुनौतियों से निपटने के मकसद से एक ‘विशेषाधिकार प्राप्त कार्य समूह- 2024’ का गठन किया जाएगा. किशोर ने बाद में पार्टी में शामिल होने और पार्टी की चुनावी रणनीति तैयार करने के कांग्रेस के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था. कांग्रेस ने इस साल के अंत में गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनावों के अलावा 2023 में अन्य राज्यों के चुनाव और 2024 में लोकसभा चुनाव के लिए तैयारी शुरू कर दी है. सोर्स- भाषा  

और पढ़ें