Live News »

VIDEO : पोक्सो एक्ट में राजस्थान का पहला बड़ा फैसला, 7 माह की मासूम से दुष्कर्म करने वाले को सजा-ए-मौत

VIDEO : पोक्सो एक्ट में राजस्थान का पहला बड़ा फैसला, 7 माह की मासूम से दुष्कर्म करने वाले को सजा-ए-मौत

अलवर। देश में मासूम बच्चियों के साथ बढती दुष्कर्म कि घटनाओं के बीच राजस्थान के अलवर जिले की पोक्सो अदालत ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। सात माह की दुधमुंही बच्ची के अपहरण और हत्या के मामले में दोषी पिंटू भराड़ा को जज जगेन्द्र अग्रवाल ने फांसी की सजा सुनायी है। फैसला सुनाते हुए अदालत ने सख्त कानून बनाने के लिए केन्द्र सरकार की तारीफ भी है और उम्मीद जतायी है समाज से ऐसे घिनौने कार्य करने वाले दोषियों को बख्शा नही जायेगा।

अलवर के एक परिवार के लिए 10 मई का दिन ऐसा मनहूस बनकर आया, जब अपनी माता पिता के बीच सो रही 7 माह की मासूम का   हवस के लिए ना केवल अपहरण किया गया बल्कि उसके साथ दुष्कर्म भी हुआ। दुनिया की समझ पैदा होने से पहले ही इस मासूम के साथ जो घिनौनी हरकत की गई। मामले में अलवर पुलिस की तत्परता से तुरंत ही आरोपी को गिरफतार कर लिया गया था, जिसे पोक्सो अदालत ने आखिरकार सजा ए मौत दी है।

बता दें कि निर्भया काण्ड के बाद देश में दुष्कर्म के मामले में सख्त कानून बनाये जाने की मांग होती रही है, जिसके बाद 2012 में पोक्सो एक्ट लाया गया। लेकिन इसके बाद भी देश में मासूम बच्चियों से दुष्कर्म के मामले में नही रूके। ऐसे में मध्यप्रदेश, राजस्थान सहित कई राज्यो ने अपने अपने राज्यो में पोक्सो में फांसी की सजा के बदलाव के लिए कानून बनाकर केन्द्र को भेजे। केन्द्र ने राज्यो के सुझाव पर फैसला लेते हुए 21 अप्रैल 2018 को पोक्सो एक्ट में दो बड़े बदलाव कर फांसी की सजा का प्रावधान किया। इसके तहत 12 साल से कम उम्र की ​बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने वालो को सजा आजीवन कारावास से सजा ए मौत तक प्रावधन रखा गया।

उल्लेखनीय है कि पोक्सो एक्ट में बदलाव के बाद इंदौर की पोक्सो अदालत ने देश का पहला फैसला सुनाया था, जिसमे चार माह की बच्ची से दुष्कर्म के आरोपी नवीन उर्फ अजय गड़के को अदालत ने फांसी की सजा सुनायी थी, इसके बाद अलवर की अदालत का ये फैसला देश में तीसरा बड़ा फैसला है। वहीं राजस्थान के न्यायिक इतिहास में पोक्सो के बदलाव के बाद ये पहला ऐतिहासिक फैसला सुनाया गया है। 

मासूम से दुष्कर्म के मामले में कोर्ट ने आरोपी को महज कुछ ही दिनों में सजा सुनाकर एक नई नजीर पेश की है । अब देखना होगा वर्तमान में विचाराधीन मामलों में हो रही सुनवाई में क्या तेजी आती है।

केस से जुड़े कुछ अहम फैक्टसः 
1. पोक्सो कोर्ट ने 22 दिन में सुनाया फैसला
2. घटना के 72 दिन बाद मासूम को मिला न्याय
3. दुष्कर्म के आरोपी को सुनायी मौत कि सजा 
4. 9 मई 2018 को हुआ मासूम के साथ दुष्कर्म
5. 10 मई 2018 को पुलिस ने दर्ज कि एफआईआर
6. अगले ही दिन पुलिस ने किया आरोपी को गिरतफार
7. 22 अदालती कार्य दिवस में 12 बार पेशी 
8. प्रतिदिन 5—7 घण्टे कि जज जगेन्द्र अग्रवाल ने सुनवाई 
9. 17 जुलाई 2018 को सुनी थी अंतिम बहस 
10. 18 जुलाई को मामले में दोषी किया गया घोषित
11. 21 जुलाई को किया मौत कि सजा का ऐलान
12. आईपीसी 363, 366, 376, पोक्सो एक्ट की धारा ए बी 5एम/6  में दर्ज हुई थी एफआईआर
13. 21 जून को मामले में लिया गया था प्रसंज्ञान चार्ज
14. 28 जून से मामले में हुई प्रतिदिन सुनवाई शुरू 
15. अलवर के लक्ष्मणगढ़ थाने में दर्ज हुई थी एफआईआर
16. मासूम के पिता ने दर्ज करायी थी एफआईआर 

और पढ़ें

Most Related Stories

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 10 मौत, 390 नए पॉजिटिव केस, अकेले जोधपुर में सर्वाधिक 57 पॉजिटिव मरीज मिले 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 10 मौत, 390 नए पॉजिटिव केस, अकेले जोधपुर में सर्वाधिक 57 पॉजिटिव मरीज मिले 

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढते जा रहे है. पिछले 24 घंटे में 10 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 390 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. अजमेर-1, भरतपुर-1, बीकानेर-1, धौलपुर-3, डूंगरपुर-1, सिरोही-2, राज्य से बाहर के 1 मरीज की मौत हो गई. अकेले जोधपुर में सर्वाधिक 57 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले है. अजमेर-21, अलवर-4, बाड़मेर-2, भरतपुर-34, जयपुर-51 पॉजिटिव, भीलवाड़ा-1, बीकानेर-28, चूरू-3, दौसा-20, हनुमानगढ़-7 पॉजिटिव, झुंझुनूं-3, करौली-1, कोटा-32, नागौर-13, प्रतापगढ़-32, राजसमंद-7 पॉजिटिव, सवाई माधोपुर-2, सीकर-30, सिरोही-24, टोंक-1, उदयपुर-17 पॉजिटिव केस मिले है. वहीं राजस्थान में अब तक कोरोना की चपेट में आने से 440 मरीजों की मौत हो गई. जबकि अब तक कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 19 हजार 52 पहुंच गई है.

दिल्ली-NCR और जयपुर में भूकंप के झटके हुए महसूस, राजस्थान के अलवर में था भूकंप का केंद्र

पॉजिटिव से नेगेटिव हुए 15 हजार 281 मरीज:
प्रदेश में कुल 15 हजार 281 मरीज पॉजिटिव से नेगेटिव हुए है. 14 हजार 962 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज किए गए है. वहीं बात करें एक्टिव मरीजों की, कुल 3 हजार 331 मरीज अस्पताल में उपचाररत है. कुल कोरोना पॉजिटिव प्रवासियों की संख्या 5 हजार 328 है.

जयपुर में बढ़ता कोरोना का ख़ौफ़:
जयपुर में कोरोना का ख़ौफ़ बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 51 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. आदर्श नगर- 1, अजमेर रोड- 1, आमेर- 2, चांदपोल- 7 पॉजिटिव, सी स्कीम- 2, दुर्गापुरा- 1, गलता गेट- 1, गोपालपुरा- 1 पॉजिटिव, गोविन्दगढ़- 3, जगतपुरा- 1, जमवारामगढ़- 1, झोटवाड़ा- 9 पॉजिटिव, मालवीय नगर- 1, मानसरोवर- 1, एमआई रोड- 1, सांगानेर- 2 पॉजिटिव, सेठी कॉलोनी- 5, शास्त्री नगर- 1, सीकर रोड- 1, ट्रांसपोर्ट नगर- 1 पॉजिटिव, वैशाली नगर- 1, विद्याधर नगर- 1, विदेश से आए 6 प्रवासी पॉजिटिव मरीज मिले है. जयपुर में मौत का आंकड़ा 163 पहुंच गया है. वहीं पॉजिटिव मरीजों की संख्या 3 हजार 439 पहुंच गई है.

राज्य के पुलिसकर्मियों से नहीं होगी अब अतिरिक्त वेतन की रिकवरी, 30 अक्टूबर 2017 के नोटिफिकेशन के संदर्भ में नहीं होगी रिकवरी

राजस्थान के पुलिस बेडे़ में बड़ा फेरबदल, 66 IPS अफसरों के तबादले, कार्मिक विभाग ने जारी किए आदेश  

राजस्थान के पुलिस बेडे़ में बड़ा फेरबदल, 66 IPS अफसरों के तबादले, कार्मिक विभाग ने जारी किए आदेश  

जयपुर: राज्य सरकार ने देर रात 103 आईएएस के तबादले करने के बाद शुक्रवार रात 8 बजे प्रदेश के पुलिस बेडे़ में बड़ा फेरबदल किया है. राजस्थान में 66 IPS अफसरों के तबादले किए गए है. कार्मिक विभाग ने आदेश जारी किए है.

 

66 IPS अफसरों का तबादला 
-एमएल लाठर, डीजी, अपराध शाखा, जयपुर 
-बीएल सोनी को लगाया डीजी, जेल 
-राजीव शर्मा को लगाया ADG, RPA
-सौरभ श्रीवास्तव को लगाया ADG,लॉ एंड ऑर्डर 
 

दिल्ली-NCR और जयपुर में भूकंप के झटके हुए महसूस, राजस्थान के अलवर में था भूकंप का केंद्र

दिल्ली-NCR और जयपुर में भूकंप के झटके हुए महसूस, राजस्थान के अलवर में था भूकंप का केंद्र

नई दिल्ली: दिल्ली-NCR में भूकंप के झटके महसूस किए गए है. 4.5 रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता मापी गई. भूकंप का केंद्र राजस्थान के अलवर जिले में था. राजस्थान में जयपुर, अलवर-बहरोड़ तक भूकंप के झटके महसूस हुए है. शुक्रवार को 7 बजकर 2 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए है. जयपुर में भी भूकंप के हल्के झटके महसूस हुए है. यूपी के भी कई इलाकों में झटके महसूस हुए.

जयपुर में भूकंप के झटके:
राजस्थान की राजधानी जयपुर समेत अलवर-बहरोड़ में भूकंप के झटके महसूस किए गए है. जयपुरवासियों ने भी भूकंप के झटके महसूस किए है. कुछ सेकंड के लिए झटके महसूस हुए है.

जयपुर के 3 हीरा व्यापारी की हत्या प्रकरण: चूरू कोर्ट ने आरोपियों को सुनाई आजीवन कारावास की सजा

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में हादसा, ट्रेन की चपेट में आने से बस में सवार 19 सिख श्रद्धालुओं की मौत

पाकिस्तान के  पंजाब प्रांत में हादसा, ट्रेन की चपेट में आने से बस में सवार 19 सिख श्रद्धालुओं की मौत

नई दिल्ली: पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में शुक्रवार को एक भयानक हादसे की खबर मिली. पंजाब प्रांत में एक पैसेंजर ट्रेन श्रद्धालुओं से भरी एक बस में जा भिड़ी. इस घटना में 19 सिख यात्रियों की मौत की खबर है, जबकि दर्जनभर यात्री जख्मी हो गए हैं. सूचना मिलने पर प्रशासन मौके पर पहुंचा और राहत एवं बचावकर्मियों ने पहुंचकर जख्मी लोगों को अस्पताल पहुंचाया. 

मुंबई में पहली बारिश में कई इलाकों में भरा पानी, मौसम विभाग ने दी भारी बारिश की चेतावनी!

धार्मिक अनुष्ठान करने गए थे सभी:
जानकारी के मुताबिक बिना बैरियर वाली क्रॉसिंग पर यह घटना घटित हई.यह घटना पंजाब के शेखूपुरा में फरूकाबाद की है. यहां कराची से लाहौर जा रही शाह हुसैन एक्सप्रेस पैसेंजर ट्रेन शेखूपुरा जा रही वैन में जा टकराई. शेखपुरा जिले में यह सिख श्रद्धालु गुरुद्वारा सच्चा सौदा लौट रहे थे. वह धार्मिक अनुष्ठान करने गए थे. 

इमरान खान ने जताया दुख:
सभी घायलों को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया है. शवों को भी अस्पताल पहुंचाया गया है और मौके पर राहत और बचावकार्य पूरा हो चुका है. प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी हादसे पर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने प्रशासन से घायलों को सबसे अच्छी मेडिकल सहायता देने का निर्देश दिया है.

लेह से बोले पीएम मोदी, ये धरती वीरों के लिए है, वीर अपने शस्त्र से मातृभूमि की रक्षा करते हैं

6 IAS के तबादलों पर रोक, राज्य निर्वाचन आयोग ने लगाई रोक, DOP ने देर रात किए थे 103 IAS के तबादले

6 IAS के तबादलों पर रोक, राज्य निर्वाचन आयोग ने लगाई रोक, DOP ने देर रात किए थे 103 IAS के तबादले

जयपुर: देर रात जारी हुई 103 आईएएस की तबादला सूची में से राज्य निर्वाचन आयोग ने 6 आईएएस के तबादलों पर रोक लगा दी है. 103 अधिकारियों की सूची में से आईएएस ऐसे थे जो चुनाव कार्य से सीधे जुड़े थे. अभी प्रदेश के 129 निकायों में मतदाता सूचियों का पुनरीक्षण कार्यक्रम चल रहा है, जिसमें एसडीएम ईआरओ होता है. मतदाता सूची में काम प्रभावित नहीं हो इसके लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने आदेश जारी कर से आईएएस के तबादलों पर 20 जुलाई तक रोक लगा दी है. अब यह अधिकारी 20 जुलाई बाद ही नई जगह पर ज्वाइन कर सकेंगे. 

इन IAS के तबादलों पर रोक:
टीना डाबी का गंगानगर जिला परिषद सीईओ पद पर हुआ था तबादला लेकिन वे एसडीओ भीलवाड़ा थीं और मतदाता सूची के काम में थीं. इसी तरह अतहर आमिर, अमित यादव, अर्तिका शुक्ला,गौरव सैनी, रिया केजरीवाल अलग अलग जगह एसडीओ थीं. यह अधिकारी सीधे चुनाव कार्य से जुड़े थे और देर रात जारी हुई तबादला सूची में इनके तबादले से चुनाव का कार्य प्रभावित होता है इसलिए आयोग ने रोक लगाई है.

लेह से बोले पीएम मोदी, ये धरती वीरों के लिए है, वीर अपने शस्त्र से मातृभूमि की रक्षा करते हैं

पहले भी 23 आरएएस अधिकारियों के तबादलों पर लगाई थी रोक:
इससे पहले राज्य निर्वाचन आयोग ने 23 आरएएस अधिकारियों के तबादलों पर रोक लगा दी थी. ये फेरबदल उन 129 शहरी निकायों में हुए थे जहां अगस्त में चुनाव प्रस्तावित हैं और अभी वहां मतदाता सूची तैयार करने और प्रकाशन करने का काम जारी है. राज्य सरकार को भेजे पत्र में आयोग ने नाराजगी दिखाते हुए कहा है कि एसडीओ, तहसीलदार, नायब तहसीलदार की सूची बनाने में अहम भूमिका होती है लेकिन जारी 144 आरएएस की तबादला सूची में 23 ऐसे अधिकारियों के तबादले कर दिए हैं जो मतदाता सूची कार्य से जुड़े हैं और ऐसे में उनके तबादलों और इनकी रिलीविंग पर भी रोक लगा दी थी. 

नहीं रहीं मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान, नम आंखों से दी गई आखिरी विदाई
 

लेह से बोले पीएम मोदी, ये धरती वीरों के लिए है, वीर अपने शस्त्र से मातृभूमि की रक्षा करते हैं

लेह से बोले पीएम मोदी, ये धरती वीरों के लिए है, वीर अपने शस्त्र से मातृभूमि की रक्षा करते हैं

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि आपकी वीरता और शौर्य को पूरा देश सलाम कर रहा है. आपकी वीरता गाथाएं चारो तरफ गूंज रही हैं. पीएम मोदी ने कहा ये धरती वीर भोग्या है, वीरों के लिए है. पीएम ने कहा कि हमारा संकल्प हिमालय जितना ऊंचा है. आपका सामर्थ्य आपकी आंखों में नजर आता है. उन्होंने कहा कि आपका साहस उससे भी ऊंचा है जहां आप तैनात हैं. पीएम नरेंद्र मोदी ने भारतीय सैनिकों के पराक्रम की सराहना की. 

VIDEO: बीकानेर में विधायक और CI में हुई तकरार, पानी के कैम्पर से भरी गाड़ी को लेकर आपस में कहासुनी

पीएम मोदी ने जवानों को दी श्रद्धांजलि: 
उन्होंने कहा कि जब देश की रक्षा आपके हाथों में है, आपके मजबूत इरादों में है, तो सिर्फ मुझे ही नहीं बल्कि पूरे देश को अटूट विश्वास है और देश निश्चिंत भी है. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आपका ये हौसला, शौर्य और मां भारती के मान-सम्मान की रक्षा के लिए आपका समर्पण अतुलनीय है. जिन कठिन परिस्थितियों में जिस ऊंचाई पर आप मां भारती की ढाल बनकर उसकी रक्षा, उसकी सेवा करते हैं, उसका मुकाबला पूरे विश्व में कोई नहीं कर सकता. इससे पहले लेह के वॉर मेमोरियल हॉल ऑफ फेम पहुंच कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवानों को श्रद्धांजलि दी. इसके बाद उन्होंने सेना के अस्पताल में घायल जवानों से मुलाकात की. 

पीएम मोदी ने बढ़ाया जवानों का हौसला:
इस दौरान ब्रीफिंग के बाद पीएम मोदी ने जवानों का हौसला बढ़ाया और चीन को कड़ा जवाब देने को कहा. आपको बता दें कि शुक्रवार को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक लेह पहुंचे, तो नॉर्दन आर्मी कमांडर ने उन्हें पूरे ऑपरेशन की जानकारी दी. इस दौरान लद्दाख, गलवान में बॉर्डर पर चीन के साथ मौजूदा स्थिति को लेकर पीएम को बताया गया. जब पीएम मोदी लद्दाख में जवानों के बीच पहुंचे तो जवानों ने वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारे लगाए, पीएम ने भी जवानों का हौसला बढ़ाया.

मुंबई में पहली बारिश में कई इलाकों में भरा पानी, मौसम विभाग ने दी भारी बारिश की चेतावनी!

मुंबई में पहली बारिश में कई इलाकों में भरा पानी, मौसम विभाग ने दी भारी बारिश की चेतावनी!

मुंबई में पहली बारिश में कई इलाकों में भरा पानी, मौसम विभाग ने दी भारी बारिश की चेतावनी!

मुंबई: महाराष्ट्र के मुंबई में जोरदार बारिश होने की वजह से हाल बेहाल हो गया है. कई इलाकों में पानी भर गया है. पिछले दिनों मुंबई में हल्की-फुल्की बारिश के बाद गुरुवार की आधी रात शहर के कई इलाकों में जोरदार बारिश हुई और पानी भर गया. वहीं शुक्रवार सुबह से एक बार फिर कुछ इलाकों में बारिश हुई जो काफी देर तक चलती रही. मुंबई में शुक्रवार को तेज बारिश का अनुमान है.

चाइल्ड लाइन पुलिस और मानव तस्करी विरोधी सेल की बड़ी कार्रवाई, 24 बाल श्रमिकों को कराया मुक्त

मौसम विभाग ने दी चेतावनी:
मौसम विभाग ने भारी बारिश की चेतावनी देते हुए कहा कि शहर की पुरानी इमारतों को इस बारिश से खतरा हो सकता है. मौसम विभाग ने लोगों को घरों से बाहर निकलने से बचने की सलाह देते हुए कहा है कि अगले एक-दो दिन बारिश की वजह से ट्रैफिक पर भी असर पड़ सकता है.

घरों पर रहने की दी सलाह:
वहीं शहर में भारी बारिश की चेतावनी को देखते हुए मुंबई पुलिस ने लोगों को घर पर ही रहने की सलाह दी गई है. कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित शहरों में से एक मुंबई में पहले ही पुलिस ने घर से बाहर निकलने के लिए कुछ दिशानिर्देश दिए है. 

राजस्थान हाईकोर्ट ने कोरोना काल की चुनौती को बनाया अवसर, वीसी के जरिए सर्वाधिक केसों की सुनवाई 

राजस्थान में जून माह में कोरोना की भयावह तस्वीर, 23 दिन में हुईं 45 फीसदी मौतें

जयपुर: राजस्थान में जून माह में कोरोना भी भयावह तस्वीर निकल कर सामने आ रही है.अब इसे लॉकडाउन खुलने का साइड इफेक्ट कहे या फिर कोरोना का स्प्रेड, लेकिन सच्चाई ये है कि राजस्थान में मौतों का ग्राफ जून माह में 45 फीसदी तक बढ़ा है.पॉजिटिव मरीजों की संख्या में भी 42 फीसदी तक बढ़ोत्तरी हुई है. राजस्थान में जून माह में कोरोना की तस्वीर पूरी तरह बदल कर रख दी है.

दो मार्च को सामने आया था कोरोना का पहला केस:
प्रदेश में दो मार्च को कोरोना का पहला केस सामने आया था.इसके बाद से लेकर 31 मई तक कोरोना मरीजों की संख्या 8831 रहीं, लेकिन जून माह के 23 दिनों में ही यह आंकड़ा बढ़कर 15 हजार को पार कर गया है.चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने खुद इसकी स्वीकारोक्ति की है.हालांकि, उनका कहना है कि गहलोत सरकार कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर गंभीर है.कोरोना की रोकथाम के लिए गांव-ढाणियों से लेकर शहरों में जागरूकता अभियान शुरू किया गया है.इस अभियान से उम्मीद है कि काफी हद तक कोरोना के मामलों पर ब्रेक लगाया जा सकेगा. 

राहुल गांधी को फिर से अध्यक्ष बनाने की उठी मांग, मुख्यमंत्री गहलोत ने CWC की बैठक में रखा प्रस्ताव 

प्रदेश में कोरोना से मौतों का बढ़ता ग्राफ !
-राजस्थान में कोरोना की जून माह बदली तस्वीर
-दो मार्च को आया था राजस्थान में कोरोना का पहला केस
-31 मई तक राजस्थान में हुई कुल 194 मौतें
-यानी 90 दिनों में रोजाना औसतन 2 लोगों की हो रही थी मौत
-लेकिन जून के 23 दिनों में ही हो गई 162 लोगों की मौत
-यानी जून माह में रोजाना 7 लोग गंवा रहे है अपनी जान

आपकी जागरुकता, आपकी सुरक्षा !
-राजस्थान में कोरोना की जून माह बदली तस्वीर
-प्रदेश में 31 मई तक कोरोना के 8831 पॉजिटिव केस
-यानी रोजाना 98 के आसपास सामने आए पॉजिटिव केस
-लेकिन जून माह के 23 दिनों में ही 6600 केस की बढ़ोत्तरी
-यानी रोजाना तीन गुना तक बढ़ रहा कोरोना पॉजिटिव का ग्राफ 

केस का बढ़ना कम्यूनिटी स्प्रेड नहीं: 
राजस्थान के बढ़ते मामलों पर गौर करें तो कुछ जिलों में जून माह में ही सर्वाधिक केस आए है.इन जिलों में भरतपुर और धौलपुर का नाम टॉप पर है.हालांकि, चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा का कहना है कि केस का बढ़ना कम्यूनिटी स्प्रेड नहीं है.भरतपुर में सुपर स्प्रेडर से केस बढ़ रहे है.धौलपुर में ही कुछ ऐसी ही रिपोर्ट सामने आ रही है, जहां बाहर से आए लोगों के चलते कोरोना के केस एकाएक बढ़ रहे है.

बढ़ते मामलों ने उड़ाई चिकित्सा विभाग की नींद: 
कोरोना के जून माह के बढ़ते मामलों ने पूरे चिकित्सा विभाग की नींद उड़ा रखी है.हालांकि, राहत की बात ये है कि इस दरमियान जिस गति से केस बढ़ रहे है, उसी गति से मरीजों के ठीक होने का सिलसिला भी जारी है.यहीं वजह है कि अभी तक कोरोना के बढ़ते मामलों के बावजूद एक्टिव केस तीन हजार के आसपास ही चल रहे है.ऐसे में उम्मीद ये है कि प्रदेशभर में कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए चलाया जा रहा अभियान के अच्छे परिणाम निकलेंगे.क्योंकि यदि अभियान के जरिए लोगों को जागरूक करने में सरकारी तंत्र कामयाब रहा तो निश्चिततौर पर कोरोना के बढ़ते मामलों को कंट्रोल किया जा सकता है.

राज्य सभा चुनावों के बाद सियासी नियुक्तियों की सुगबुगाहट! जल्द लग सकती है  सियासी नियुक्तियों पर मुहर

Open Covid-19