नई दिल्‍ली Unlock 2.0 की गाइडलाइंस जारी, ये हैं अनलॉक- 2 की रियायतें, इन चीजों को नहीं मिली इजाजत

Unlock 2.0 की गाइडलाइंस जारी, ये हैं अनलॉक- 2 की रियायतें, इन चीजों को नहीं मिली इजाजत

Unlock 2.0 की गाइडलाइंस जारी, ये हैं अनलॉक- 2 की रियायतें, इन चीजों को नहीं मिली इजाजत

नई दिल्‍ली: केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक जुलाई से शुरू हो रहे अनलॉक-2 की गाइडलाइंस जारी कर दी है.  जिसमें कई गतिविधियों में पाबंदियों के साथ छूट दी गई है. इसके साथ ही  कंटेनमेंट जोन में सख्ती रहेगी जबकि कंटेनमेंट जोन से बाहर के इलाकों में छूट दी जाएगी. गृह मंत्रालय ने कोरोना वायरस प्रतिबंधों पर कहा कि सभी स्कूल और कॉलेज 31 जुलाई तक बंद रहेंगे. पहले की तरह सीमित घरेलू उड़ानें और स्‍पेशल ट्रेनें चलती रहेंगी. रात के कर्फ्यू का समय बदल दिया गया है. अब यह रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक होगा. हम आपको बता रहे हैं कि अनलॉक- 2 में आपको क्या-क्या रियायतें मिलने वाली हैं.

राहुल गांधी ने बोला मोदी सरकार पर बड़ा हमला, कहा- मुनाफ़ाख़ोरी बंद करे, एक्साइज़ दर तुरंत घटाए

अनलॉक- 2 में मिलेगी ये रियायतें: 
-  घरेलू उड़ानों और यात्री ट्रेनों का दायरा भी चरणबद्ध तरीके से बढ़ाया जाएगा. 
- दिशा-निर्देशों के मुताबिक केंद्र और राज्य सरकार के प्रशिक्षण केंद्र 15 जुलाई से खुल जाएंगे.
- नेशनल और स्टेट हाईवे पर यात्रियों और सामान की आवाजाही की अनुमति होगी.
- बस, ट्रेन और विमान से उतरकर अपने घर जाने वाले लोगों को भी रात के कर्फ्यू से छूट मिलेगी.
- नाइट कर्फ्यू का समय बदला गया है और अब यह रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक होगा.
- दुकानों में 5 लोग से ज्यादा भी जुट सकते हैं लेकिन इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखना होगा.

कंटेनमेंट जोन के बाहर भी सबकुछ खुलने वाला नहीं: 
- मेट्रो रेल, सिनेमाघर, जिम, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार, ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल और ऐसे अन्य स्थल भी बंद रहेंगे. इसी तरह सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, शिक्षण, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्यक्रम और अन्य बड़े कार्यक्रमों को अभी मंजूरी नहीं मिलेगी.

इन कामों के लिए पहले ही मिल चुकी है इजाजत: 
अनलॉक-1 में जारी गाइडलाइंस में कंटेनमेंट जोन से बाहर धार्मिक स्थल, होटल, रेस्टोरेंट, शॉपिंग मॉल्स को 8 जून से खोलने का आदेश दिया गया था. यह आगे भी जारी रहेगा.

कंफ्यूज हो गया आज पंचर वाला राजू जब नींद से उठा ! ...क्योंकि उसकी कुर्सी पर बैठे थे सतीश पूनिया

राज्यों को भी दिए गए हैं अधिकार:
अनलॉक- 2 को लेकर जारी किए गए आदेश में राज्यों को नियमों में बदलाव के अधिकार भी दिए गए हैं. ऐसे में स्थिति के आकलन के अनुसार राज्य/केंद्रशासित प्रदेश कंटेनमेंट जोन के बाहर कुछ गतिविधियों को प्रतिबंधित कर सकते हैं, या आवश्यक समझे जाने पर उन पर प्रतिबंध लगा सकते हैं.

और पढ़ें