देश का पहला सबसे स्मार्ट एक्‍सप्रेसवे, जानिये क्या है खास 

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/05/28 03:51

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कल उत्‍तरप्रदेश में बागपत में दिल्‍ली के बाहरी इलाके से होकर गुजरने वाले देश के पहले स्‍मार्ट और हरित राजमार्ग ईस्‍टर्न पेरीफेरल एक्‍सप्रेसवे को राष्‍ट्र को समर्पित किया। 135 किलोमीटर लम्‍बे और छह लेन वाले इस एक्‍सप्रेस मार्ग में पर्यावरण और दुर्घटनाओं की दृष्‍टि से सुरक्षा के विश्‍वस्‍तरीय इंतजाम किए गए हैं। इस मार्ग से गाजियाबाद, फरीदाबाद, गौतमबुद्धनगर और पलवल के बीच सिगनल मुक्‍त सड़क सम्‍पर्क स्‍थापित हो जाएगा। इस परियोजना की आधारशिला नवम्‍बर, 2015 में प्रधानमंत्री मोदी ने ही रखी थी।

आपको बता दें की ईस्‍टर्न पेरीफेरल एक्‍सप्रेसवे के निर्माण पर कुल 11000 करोड़ रुपये की लागत आयी है। इसमें सौर ऊर्जा के जरिए रोशनी तथा वर्षा जल के संचय से पानी का इंतजाम किया गया है। यह मार्ग कुंडली से शुरू होकर सोनीपत, बागपत, गाजियाबाद, नोएडा, फरीदाबाद और पलवल शहरों को जोड़ता है। सबसे खास बात ये की इससे कुंडली से पलवल का चार घंटे से अधिक का सफर सिर्फ 72 मिनट में ही तय हो जायेगा। इस एक्‍सप्रेसवे से दिल्‍ली की सड़कों पर भीड़भाड़ कम करने में मदद मिलेगी और राष्‍ट्रीय राजधानी प्रदूषण का स्‍तर भी कम होगा। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के अनुसार ईस्‍टर्न पेरीफेरल एक्‍सप्रेसवे का कार्य अगले साल मार्च तक पूरा हो जाएगा।

कुंडली से पलवल के बीच जाने-आने वाले लोगों को दिल्ली में एंट्री करने की जरूरत नहीं होगी, ये राजधानी के बाहर से होकर गुजरेगा। इसके चालू होने से कोलकाता से सीधे जालंधर,अमृतसर और जम्मू आने-जाने वाले वाहनों, खासकर ट्रकों को सबसे ज्यादा फायदा होगा। यह देश का पहला ऐसा एक्सप्रेसवे है जिसमें बगीचे बने हैं। इस पर 120 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से वाहन दौड़ाने की अनुमति है। एक्सप्रेसवे की मजबूती के लिए 200 टन स्टील का इस्तेमाल हुआ है। इस 6 लेन वाले एक्सप्रेसवे को रिकॉर्ड 500 दिनों में बनाकर तैयार किया गया है। यह एक्सप्रेसवे इंजीनियरिंग का अद्भुत नमूना है। 
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in