फानी ने ली 8 लोगों की जान, अब पश्चिम बंगाल में दी दस्तक

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/05/04 08:57

भुवनेश्वर। ओडिशा में तबाही मचा रहे प्रचंड साइक्लोन फोनी के चलते सरकार और प्रशासन पूरी तरह अलर्ट मोड़ पर है। चक्रवाती तूफान फानी ने ओडिशा में जबरदस्त तबाही मचाई है। कई घर, बिल्डिग और दुकान ढह गए। अभी तक इस चक्रवात में 3 लोगों की मौत होने और 160 लोगों के घायल होने की खबर है। 

इलाके में बिजली गायब हो गई है और टेलीफोन संपर्क टूट गया है। कई जगह भूस्खलन की भी घटना देखने को मिली है। एनडीआरएफ और राज्य आपदा दल राहत और बचाव कार्य में जुटे हुए हैं। सड़कों पर गिरे पेड़ और इमारतों के मलबे को हटाया जा रहा है। ओडिशा में तबाही मचाने के बाद अब इस जानलेवा तूफान ने पश्चिम बंगाल में दस्तक दी है।

मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए बताया था कि फानी शनिवार सुबह पश्चिम बंगाल तक पहुंच जाएगा। ताजा जानकारी के मुताबिक, देर रात बंगाल के कई इलाकों में इस तूफान का असर देखने को मिला। खड़गपुर, ईस्ट मिदनापुर, मुर्शिदाबाद, नॉर्थ 24 परगना व दिगा जैसे इलाकों में देर रात भारी बारिश हुई। साथ ही 90 किलोमीटर प्रति घंटा रफ्तार से हवाएं भी चलीं।

हालांकि, अच्छी खबर ये है कि अब तक बंगाल में फानी से किसी बड़े नुकसान की खबर नहीं है और फिलहाल खतरा टलता नजर आ रहा है। हालांकि, अब भी एहतियात बरते जा रहे हैं। बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपनी चुनावी रैलियों को भी रद्द कर दिया है। पूर्व तट रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि यात्रियों की सुरक्षा के मद्देनजर हावडा-चेन्नई मार्ग पर करीब 220 ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं।

रेलवे मुफ्त में पहुंचाएगा राहत सामग्री
दूसरी और  रेलवे चक्रवात प्रभावित ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश के लिए राहत सहायता सामग्री मुफ्त में पहुंचाएगा। रेलवे ने इस सिलसिले में कुछ दिशानिर्देश जारी किए हैं और सभी डिविजनल रेलवे मैनजरों को खत लिखकर कहा कि सभी सरकारी संगठन प्रभावित राज्यों के लिए राहत सामग्री मुफ्त में बुक कर सकते हैं।

सांप का फन
चक्रवाती तूफान फानी ने शुक्रवार सुबह करीब आठ बजे ओडिशा राज्य की धार्मिक नगरी पुरी में दस्तक दिया। बांग्ला में इस तूफान का नाम ‘फानी’ उच्चारित किया जाता है, जिसका मतलब ‘सांप का फन’ होता है। मूसलाधार बारिश के कारण ओडिशा के कई इलाकों में लोगों के घर पानी में डूब गए। वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक फानी चक्रवात में अब तक कम से कम 8 लोगों के मरने की खबर है। माना जा रहा है कि इस आपदा में मरने और घायल होने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है।

जानकारी के मुताबिक पुरी जिले में एक किशोर सहित तीन लोगों और भुवनेश्वर व आसपास के इलाकों में तीन लोगों के मारे जाने की खबर है। इसके अलावा एक कंक्रीट के मलबे की चपेट में आने से नयागढ़ में एक महिला की मौत हो गई, जबकि केंद्रपाड़ा जिले में एक राहत शिविर में एक बुजुर्ग महिला की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in