06 दिसंबर 2020: जानें आज का पंचांग, रविवार को पश्चिम दिशा में रहता है दिशाशूल, ये रहेगा शुभ-अशुभ मुहूर्त 

06 दिसंबर 2020: जानें आज का पंचांग, रविवार को पश्चिम दिशा में रहता है दिशाशूल, ये रहेगा शुभ-अशुभ मुहूर्त 

06 दिसंबर 2020: जानें आज का पंचांग, रविवार को पश्चिम दिशा में रहता है दिशाशूल, ये रहेगा शुभ-अशुभ मुहूर्त 

जयपुर: पंचांग का हिंदू धर्म में शुभ व अशुभ देखने के लिए विशेष महत्व होता है. पंचाम के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, शुभ तिथि, नक्षत्र, व्रतोत्सव, राहुकाल, दिशाशूल और आज शुभ चौघड़िये आदि की जानकारी देते हैं. तो ऐसे में आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल...

शुभ तिथि षष्ठी नन्दा संज्ञक तिथि सायं 7 बजकर 45 मिनट तक तत्पश्चात सप्तमी तिथि रहेगी. षष्ठी तिथि को यथा आवश्यक विवाहादि मांगलिक कार्य,गृहारम्भ ,संस्कार सम्बंधित कार्य शुभ माने जाते हैं.पर पितृ कर्म वर्जित माना जाता है. षष्ठी तिथि में जन्मे जातक धनवान,बुद्धिवान ,व्यापार  कुशल ,आज्ञाकारी ,धर्मपरायण होते है.

शुभ नक्षत्र अश्लेषा नामक तीक्ष्ण संज्ञक नक्षत्र दोपहर 2 बज कर 46 मिनट तक तत्पश्चात मघा नक्षत्र रहेगा.अश्लेषा मे शत्रु, कोर्ट कचहरी इत्यादि कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते है. शुभ-मांगलिक कार्य वर्जित है.अश्लेषा नक्षत्र गंड मूल नक्षत्र माना जाता है . इस नक्षत्र मे जन्मे जातक की गंड मूल शांति हवन 27 दिन बाद पुनः इसी नक्षत्र के दिन करा लेनी चाहिए. अश्लेषा नक्षत्र मे जन्म लेने वाला जातक क्रोधी स्वाभाव वाला ,सुन्दर , धनवान, बुद्धिमान होता है.

चन्द्रमा- दोपहर 2: 46 तक कर्क राशि में तत्पश्चात सिंह राशि में संचार करेगा  
व्रतोत्सव - छींट छठ ,वैधृति पुण्यं
राहुकाल -सायंकाल 4.30 बजे से 6 बजे तक
दिशाशूल - रविवार को पश्चिम दिशा में दिशाशूल रहता है. यात्रा को सफल बनाने लिए घर से घी-दलिया खा कर निकले.
आज के शुभ चौघड़िये- प्रातः 8.24 से दोपहर 12-18  तक चर,लाभ व अमृत , दोपहर 1-36 से दोपहर 2-53  तक शुभ का चौघड़िया  

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

और पढ़ें