नई दिल्ली दिल्ली में प्रदूषण पर SC की सख्त टिप्पणी, कहा- विस्फोटकों से भरे बैग लाइये और लोगों को एक बार में मार दीजिए

दिल्ली में प्रदूषण पर SC की सख्त टिप्पणी, कहा- विस्फोटकों से भरे बैग लाइये और लोगों को एक बार में मार दीजिए

दिल्ली में प्रदूषण पर SC की सख्त टिप्पणी, कहा- विस्फोटकों से भरे बैग लाइये और लोगों को एक बार में मार दीजिए

नई दिल्ली: हरियाणा और पंजाब में पराली जलाने पर रोक लगाने के आदेश के बावजूद ऐसी घटनाएं बढ़ने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने इसे गंभीरता से लिया है. कोर्ट ने इस पर तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि दिल्ली के लोगों को प्रदूषण की वजह से मरने के लिए नहीं छोड़ा जा सकता. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इससे अच्छा आप विस्फोटकों से भरे बैग लाइये और उन्हें एक बार में मार दीजिए. अदालत ने यह भी कहा कि दिल्ली की हालत नरक से बदतर है. 

दिल्ली सरकार को लगाई फटकार: 
सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार को भी फटकार लगाते हुए कहा कि आपको सत्ता में रहने का कोई हक नहीं है. साथ ही पंजाब और हरियाणा को कड़ी फटकार लगते हुए  केंद्र और दिल्ली सरकार को आपसी मतभेद भुला कर काम कनरे को कहा. कोर्ट ने 10 दिन में स्मोग रिडक्शन टावर पर योजना बनाने का भी आदेश दिया. 

एक बार में 15 बैग में विस्फोटक कर दें:
सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के सॉलिसिटर जनरल से कहा कि लोगों को गैस चैंबर में रहने के लिए क्यों मजबूर किया जा रहा है? उन सभई को एक बार में मारना बेहतर है, एक बार में 15 बैग में विस्फोटक कर दें. लोगों को क्यों भुगतना चाहिए? दिल्ली में आरोप-प्रत्यारोप चल रहा है, मैं सचुमुच स्तब्ध हूं. 

लोग हमारे देश पर हंस रहे हैं: 
जस्टिस अरुण मिश्रा ने कहा कि लोग हमारे देश पर हंस रहे हैं कि हम पराली जलाए जाने को भी नियंत्रण नहीं कर सकते हैं. आप एक-दूसरे पर आरोप लगाते हैं और प्रदूषण को गंभीरता से नहीं लेते. अदालत ने दिल्ली में जल प्रदूषण पर गंभीरता से संज्ञान लिया और कहा कि लोगों को शुद्ध जल पाने का अधिकार है. 
 

और पढ़ें