VIDEO: भारतीय सेना की 'सुदर्शन चक्र' के रण बांकुरो के पराक्रम से गूंज उठा थार का रेगिस्तान

Suryaveer Singh Tanwar Published Date 2019/10/22 13:10

जैसलमेर: पाकिस्तान से मिल रही नित नई चुनौतियां तथा सीमा पार से बढ़ रही उसकी नापाक हरकतों को देखते हुए इसका कड़ा जवाब देने व दुश्मन के हिस्से को केप्चर करने के लिए भारतीय सेना पूरी तरह तैयार है. सेना ने अपनी मारक क्षमता व अन्य युद्ध संबंधी तैयारियों की परिकल्पना व अन्य योजनाओं का खाका जैसलमेर की पोकरण फील्ड फायरिंज में सिन्धू सुरक्षा युद्वाभ्यास के अन्तर्गत सोमवार को तैयार किया. 

युद्धाभ्यास में हिस्सा ले रहे करीब 40000 सैनिक व अधिकारी:
दरअसल भारतीय सेना के दक्षिणी कमान के अन्तर्गत भोपाल स्थित स्ट्राईक कोर सुदर्शन चक्र क्राॅप के साथ-साथ अन्य कई डिवीजन व भारतीय वायुसेना के साथ शुरु हुए इस युद्धाभ्यास में करीब 40000 सैनिक व अधिकारी हिस्सा ले रहे हैं. यह युद्धाभ्यास विभिन्न चरणों में 5 दिसंबर तक चलेगा. महज 48 घंटे में दुश्मन के ठिकानों को फतह करने के लक्ष्य से थल सेना की 21 स्ट्राइक कोर ने सुदर्शन चक्र के शुरु हुए युद्धाभ्यास सिन्धू सुदर्शन में सोमवार को पोकरण फायरिंग रेंज में पूरे युद्ध जैसा नजारा प्रस्तुत किया. 

युद्ध का जीवन्त जलजला:
चारों तरफ जोरदार धमाको की गूंज, टैंको, गनों, राॅकेट लाॅन्चर से निकले हुए बमो ने पूरी रेंज में एक ऐसा जीवन्त जलजला प्रस्तुत किया कि उसके धमाकों की गूंज सीमा पार बैठे पाकिस्तान तक भी पहुंच गई. चारों तरफ धूल का गुब्बार व लगातार एक के बाद एक धमाके, अटैकिंग हेलिकोप्टर ध्रुव से फायरिंग, पहली बार सेना के फायर पाॅवर में शामिल हो रही के.9 वर्जा गन, बोफोर्स, मल्टीपल राॅकेट लांचर, स्मर्च, टी-90 टैंक, बी.एम.पी पिनाका राॅकेट लांचर, साॅल्टम गन, 105 एम.एम गन, ग्रेड राॅकेट लाॅन्चर के जरिये सेना ने पोकरण फायरिंग रेंज में एक के बाद एक दुश्मन के छद्म ठिकानो पर हमले कर पूरे रेंज में युद्ध सा नजारा प्रस्तुत किया. 

कई अधिकारी मौजूद:
पोकरण में कल हुए इस युद्धाभ्यास प्रदर्शन में सेना के दक्षिणी कमान के जनरल ऑफिसर कमाण्डिंग लेफ्टिनेंट जनरल एस.के.सैन्नी, सुदर्शन क्राॅप के कोर कमाण्डर लेफ्टिनेंट जनरल योगेन्द्र ढिमरी, कोरणाक क्राॅप के कोर कमाण्डर लेफिटनेंट जनरल वी.एस.श्रीनिवासन, अग्निबाज डिवीजन के जी.ओ.सी मेजर जनरल अरदोष कुमार, शहाबाज डिवीजन के जी.ओ.सी मेजर जनरल कासिद, बैटल एक्स डिवीजन के जी.ओ.सी मेजर जनरल राकेश कपूर, वाईट टाईगर डिवीजन के जी.ओ.सी मेजर जनरल विजय सिंह व बाईसन डिवीजन के जी.ओ.सी मनजीत सिंह सहित सेना व वायुसेना के उच्च अधिकारी मौजूद थे. 

सेना का पावर प्रदर्शन:
दक्षिणी कमान की भोपाल स्थित स्ट्राईक कोर सुदर्शन चक्र क्राॅप का सिन्धू सुदर्शन युद्ध अभ्यास हालांकि 20 अक्टूबर से शुरु हुआ, लेकिन इसकी विधिवत शुरुआत पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज में शुरु हुई. इस युद्धाभ्यास के जरिये भारतीय सेना बदली परिस्थितियों को ध्यान में रख तैयार किए गए किसी भी युद्ध के अपने नए डॉक्ट्रेन को परख रही है. इस दौरान इंटीग्रेटेड फायर पावर की जोरदार नुमाइश की जा रही है. इस युद्धाभ्यास में आसमां से लेकर जमीनी हमले करने में सक्षम खास हथियारों के माध्यम से भारतीय सेना अपनी फायर पावर प्रदर्शन किया. 

मिग-21 और जगुआर ने भरी उड़ान:
इस युद्धाभ्यास में जोधपुर से उड़ान भर पहुंचे जगुआर और बाड़मेर के उत्तरलाई से पहुंचे मिग-21 फाइटर्स ने आसमान से हमला बोल दुश्मन की कमर तोड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ी. रही सही कसर अटैक हैलिकॉप्टर धु्रव और मानव रहित विमान से किए गए हमलों ने पूरी कर दी. वहीं मानव रहित विमान की रैकी से मिली जानकारी के आधार पर मल्टीपल राॅकेट लाॅन्चर स्मर्च, ग्रेड आदि के माध्यम से कलस्टर बमो से किये गए सटीक हमलों ने दुश्मन को चौंका दिया. देखते ही देखते चारों तरफ से हुए जबरदस्त प्रहार से दुश्मन बौखला गया और उसे पीछे हटना पड़ा. 

सेना आजमा रही है युद्ध की नई रणनीति:
समय-समय पर भारतीय सेना अपनी युद्ध रणनीति में बदलाव करती रहती है. वर्तमान में तैयार की गई नई रणनीति के तहत महज 48 घंटों ने जबरदस्त प्रहार के साथ आगे बढ़ते हुए दुश्मन के बड़े भूभाग पर कब्जा जमाने की नई रणनीति तैयार की गई है. इसे परखने के लिए भारतीय सेना की 21 स्ट्राइक कोर के चालीस हजार से अधिक जवान व अधिकारी थार के रेगिस्तान में कई दिन से पसीना बहा रहे है. दिसम्बर के अंत तक चलने वाले इस युद्धाभ्यास की कल पोकरण में औपचारिक शुरुआत की गई. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in