close ads


जयपुर एयरपोर्ट में चलने वाली बसों पर टैक्स वसूली पर रोक, इंडोथाई कंपनी की 8 बसों पर लगाया था 2.5 करोड़ का टैक्स

जयपुर एयरपोर्ट में चलने वाली बसों पर टैक्स वसूली पर रोक, इंडोथाई कंपनी की 8 बसों पर लगाया था 2.5 करोड़ का टैक्स

जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट ने जयपुर एयरपोर्ट के भीतरी क्षेत्र में यात्रियों को एयरपोर्ट से विमान तक ले जाने और लाने के लिए लगी इंडोथाई कंपनी की 8 बसों पर वसूले जा रहे टैक्स पर रोक लगा दी है. याचिकाकर्ता कंपनी इंडो थाई एयरपोर्ट मैनेजमेंट सर्विसेज़ प्राइवेट लिमिटेड की याचिका पर जस्टिस एस पी शर्मा की एकलपीठ ने ये आदेश दिये है.इसके साथ ही हाईकोर्ट ने राज्य के परिवहन विभाग के प्रमुख सचिव, परिवहन आयुक्त, जयपुर डीटीओ और कररोपण अधिकारी को नोटिस जारी कर 4 सप्ताह में जवाब तलब किया है.

राज्यपाल कलराज मिश्र बोले, विश्वविद्यालय युवा पीढ़ी को संविधान से कराएं परिचित 

इंडोथाई कंपनी की ओर से डॉ.अभिनव शर्मा ने की पैरवी:
याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता डॉ अभिनव शर्मा ने अदालत को बताया कि जयपुर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय एयरलाइनों के लिए विमान के यात्रियों के लिए इंटर बस और कोच के रूप में प्रयोग की जा रही है. एयरपोर्ट क्षेत्र में एमवी अधिनियम एप्रन क्षेत्र में लागू नहीं है, जहां वर्तमान वाहन एमवी अधिनियम या राजस्थान मोटर वाहन कर नियम 1951 के तहत टैक्स नही लगाया जा सकता.

8 बसों पर लगाया था 2.5 करोड़ का टैक्स:
राज्य के परिवहन विभाग ने इंडोथाई कंपनी को 8 बसों के लिए ढाई करोड़ के टैक्स का डिमांड नोटिस भेजा है. वही कंपनी का कहनाह है उसकी प्रत्येक बस की किमत 25 लाख है लेकिन उसके लिए विभाग ने प्रति बस 73 लाख का डिमांड नोटिस भेजा गया है.बहस सुनने के बाद अदालत ने करारोपण अधिकारी द्वारा भेजे गये ढाई करोड़ के डिमांड पर अंतरिम रोक लगाते हुए परिवहन सचिव, आयुक्त सहित अन्य को नोटिस जारी किये है. 

बारां में ACB की बड़ी कार्रवाई, ग्राम विकास अधिकारी सतपाल सिंह और सरपंच पंकज मित्तल ट्रैप 

और पढ़ें