गर्मी की दस्तक के साथ शुरू हुई जिले में पेयलज की समस्या

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/03/27 01:32

सिरोही। अभी तो गर्मी ने सिर्फ दस्तक दी हैं... और जलदाय विभाग के पानी के स्रोत अभी से सूखने शुरू हो गए हैं। प्रदेश के सिरोही जिले में अभी से पेयजल की समस्याएं बढ़ना शुरू हो गई हैं। सिरोही जिले के आबूरोड़ और माउंट आबू जैसे महत्वपूर्ण शहरों में पेयजल सप्लाई को लेकर जनता ने सवाल खड़े करने शुरू कर दिए हैं। 

प्रदेश का एक मात्र हिल स्टेशन माउंट आबू पेयजल की समस्या से त्रस्त होता जा रहा हैं। माउंट आबू की प्यास बुझाने के लिए दो बांध से जलापूर्ति होती हैं। एक अपर कोदरा डेम, वहीं दूसरा लोअर कोदरा डेम से माउंट आबू शहर में जलापूर्ति की जाती हैं। पर दोनों ही बांध कम बारिश के चलते आज सूखने की कगार पर आ गए हैं। दोनों ही बांधों में अब मात्र मई तक का ही पानी बचा हैं, और वो भी उस सूरत में जब अभी से विभाग ने 72 घण्टे के अंतराल से शहर में पानी की सप्लाई दी जा रही हैं। वरना तो ये पानी अप्रैल में ही खत्म हो जाएगा। 72 घण्टे के अंतराल से मिलने वाली पानी की सप्लाई से आमजन को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा हैं। 

कमोबेश यही हालत आबूरोड़ शहर के भी हैं... गुजरात राज्य की सीमा से सटा आबूरोड़ शहर सिरोही जिले का महत्वपूर्ण शहर माना जाता हैं, लेकिन जलापूर्ति के मामले में शहर के हालात बदतर होते जा रहे हैं । आज हालात इतने खराब हो चुके हैं कि शहर की महिलाओं को पानी के लिए सड़कों पर आना पड़ रहा हैं। कई महिलाओं ने इसमें लाइनमैन को दोषी मानकर हटाने की भी मांग की हैं पर हकीकत यह हैं कि विभाग के पास नियमित सप्लाई के लिए पानी ही नही हैं। 

कुल मिलाकर बात की जाए तो निष्कर्ष यही निकलता हैं कि कम बारिश के चलते जल के सारे स्रोत जवाब देने लग गए हैं। फिर चाहे वो बांध का पानी हो या फिर ट्यूब्वेल्स और कुओं का पानी। पानी का हर वो स्रोत सूखने की कगार पर हैं जहां से जलदाय विभाग आमजन को जलापूर्ति करता हैं। ऐसे में आने वाले दिनों में पेयजल का भारी संकट सिरोही जिले में आने वाला हैं। विभाग को चाहिए समय रहते इस विषय पर कोई योजना बनाकर काम किया जाए। 

....सिरोही जिले से 1st इंडिया के लिए विक्रमसिंह करणोत की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in