Live News »

Election Results 2019: 19 राज्यों में कांग्रेस खाता भी नहीं खोल पाई, हो गया सूपड़ा साफ

Election Results 2019: 19 राज्यों में कांग्रेस खाता भी नहीं खोल पाई, हो गया सूपड़ा साफ

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में कई राज्यों में कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला. चुनाव में मोदी लहर का काफी बड़ा असर देखने को मिला. कांग्रेस उन राज्यों में भी कुछ नहीं कर पाई, जहां उनकी सरकार है. यहां तक की कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी पार्टी का गढ़ कहे जाने वाले अमेठी से को नहीं बचा पाए.  542 सीटों में से कांग्रेस केवल 52 सीट पर सिमटती दिखाई दे रही है. जिन राज्यों में कांग्रेस खाता भी नहीं खोल सकी है, उनमें दिल्ली, गुजरात, आंध्र प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, ओडिशा, त्रिपुरा, मणिपुर, मिज़ोरम, नागालैंड, सिक्किम, दमन दीव, दादर नगर हवेली, लक्षद्वीप, और चंडीगढ़ शामिल हैं. 

राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलौत के बेटे वैभव गहलोत सहित सभी सीटों पर कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा. मध्य प्रदेश में कांग्रेस की प्रतिष्ठा बचाने में कोई बड़ा नेता कामयाब नहीं हुआ. केवल मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुल नाथ के खाते में जीत आई. कई अन्य राज्यों में कांग्रेस का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है. 

कांग्रेस हार पर समग्र रूप से करेगी मंथन
कांग्रेस की इस बड़ी हार के बाद पार्टी में हलचल बढ़ गई है. इसका असर आने वाले दिनों में देखने को मिल सकता है. जानकारों की माने तो पार्टी इस हार के बाद समग्र रूप से रणनीति पर मंथन करेगी. कुछ जानकारों का कहना है कि कांग्रेस अपनी बात लोगों तक सही से नहीं पहुंचा पाई. लोगों से बेहतर संवाद करने के मामले में भाजपा कांग्रेस से कई गुणा आगे रही. 

गहन समीक्षा की आवश्यकता 
जिन राज्यों में कांग्रेस का खाता भी नहीं खुल पाया वहां पार्टी के नेताओं का मानना है कि इस बारे में गहन समीक्षा की आवश्यकता है. कांग्रेस को इन प्रदेशों में एक एक बार फिर अपनी खोई हुई प्रतिष्ठा प्राप्त करने के लिए नए सिरे से शुरुआत करनी होगी. 


 

और पढ़ें

Most Related Stories

सीएम गहलोत ने दिए संकेत, राजस्थान में अभी नहीं खुलेगा लॉकडाउन, कहा-जिंदगी बचाना जरूरी

जयपुर: प्रदेश में कोरोना से बचाव के लिए लॉकडाउन है, वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रेस कॉन्फ्रेंस की. प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम गहलोत ने लॉकडाउन को लेकर बड़ा बयान दिया. राजस्थान में लॉकडाउन नहीं खोलने के संकेत दिए. कहा जिंदगी बचाना जरूरी है, हम खतरा नहीं मोल लेना चाहते है. 

गहलोत की प्रेस कॉन्फ्रेंस 
प्रदेश के सीएम गहलोत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि डॉक्टरों,नर्सिंग स्टाफ को पता है उन्हें सोसायटी का सहयोग मिल रहा है. राजस्थान में सभी वर्ग के लोग मिलकर काम कर रहे है. जनता को मुकाबले के लिए आगे आकर सहयोग देना चाहिए. केन्द्र ने जीएसटी सहित अन्य ग्रांट रोक रखी है. केन्द्र के पास RBI है, राज्य के पास क्या है, कुछ भी नहीं है, ऐसे में केन्द्र को मदद करनी चाहिए. सीएम गहलोत ने कहा कि RBI से बिना ब्याज के ऋण राज्यों को मिलना चाहिए. 

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ बोले, कोरोना से निपटने के लिए सरकार कर रही है काम, सभी मेडिकल कॉलेज में होगी टेस्टिंग सुविधा मुहैया

तब्लीगी जमात का मामला गंभीर बात:
सीएम गहलोत ने एक सवाल के जवाब में कहा तब्लीगी जमात का मामला गंभीर बात है,  किसी ने गलती की है तो उसे सजा मिलनी चाहिए. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के जज या रिटायर जज को जांच करनी चाहिए. आज जबकि सभी धर्म के लोग मिलकर कोरोना की लड़ाई लड़ रहे है. ऐसे में खराब माहौल बनाना ठीक नहीं है.

चिह्नित लोगों की संख्या के आधार पर हम आगे बढ़े:
VC के माध्यम से सीएम गहलोत मीडिया के सवालों के जवाब में बोले, चिह्नित लोगों की संख्या के आधार पर हम आगे बढ़े है. 950 लोग अस्पताल में क्वारंटाइन है, जबकि 7620 लोग होम क्वारंटाइन में है. राजस्थान में लोग साथ दे रहे है,घरों में बंद है. 2500 करोड़ का पैकेज दे रहे है. 33 लाख लोगों को चिह्नित कर हमने 2500 रुपए दिए है. 1 करोड़ 11 लाख परिवारों को 10 किलो गेहूं, 1 किलो दाल फ्री दे रहे हैं. गर्भवती महिलाओं को कोई तकलीफ नहीं हो यह सुनश्चित किया है. राजस्थान में कोई व्यक्ति भूखा नहीं सोएगा. सरकार, प्रशासनिक अधिकारी, तमाम पार्टी के लोग मिलकर मुकाबला कर रहे है.

सीएम गहलोत के निर्देश, कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए युद्ध स्तर पर करें काम, जयपुर के रामगंज में स्थिति नाजुक

पहला केस आते ही इसको गंभीरता से लिया:
सीएम गहलोत ने एक सवाल के जबाव में कहा कि राजस्थान में कोरोना का पहला मामला आते ही राज्य ने इसको गंभीरता से लिया. साथ ही इसपर लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है. कोरोना वायरस से निपटने के लिए जिला प्रशासन के साथ कोर ग्रुप बनाकर मॉनिटरिंग कर रहे हैं. 15 हजार टेस्ट किए है जो केरल के बाद सबसे ज्यादा है. सोशल डिस्टेसिंग जरूरी है, उसको मानना पड़ेगा. लगातार काम कर रहे है, जिससे लोगों के अंदर विश्वास बढ़ा है. हम सब के साथ मिलकर बात कर रहे हैं. भीलवाड़ा और रामगंज में घर-घर टीम बनाकर की स्क्रीनिंग की गई. 

कोरोना के कारण सादगी से मना भाजपा का स्थापना दिवस, राजस्थान में सशक्त रहा इतिहास

कोरोना के कारण सादगी से मना भाजपा का स्थापना दिवस, राजस्थान में सशक्त रहा इतिहास

जयपुर: देश भर की बीजेपी ने आज अपना स्थापना दिवस मनाया. राजस्थान में बीजेपी के बीते 40 सालों में कई कीर्तिमान रहे. राजस्थान की माटी से निकले बीजेपी नेता देश की सियासत में सितारों की तरह चमके. भैंरो सिंह शेखावत उपराष्ट्रपति के ओहदे तक पहुंचे. इस दौरान उतार-चढ़ाव देखे लेकिन सबसे ज्यादा सदस्य बनाने के सफर को पूरा किया. वसुंधरा राजे पहली बीजेपी नेता रही जिन्होंने पहली बार मरुभूमि में पूर्ण बहुमत से कमल खिलाया.

अगले कुछ सप्ताह के लिए हमार व्यवहार ही तय करेगा कोरोना वायरस की अगली दशा—मुख्य न्यायाधीश 

बीजेपी ने धीरे धीरे विकास की नवीन इबारत लिखी:
अपने जन्म के साथ ही राजस्थान में बीजेपी ने धीरे धीरे विकास की नवीन इबारत लिखी है. स्वर्गीय भैंरो सिंह शेखावत,सुंदर सिंह भंडारी समेत दिग्गजों ने राजस्थान की बीजेपी को स्थापित किया. राज्य में पहली बीजेपी सरकार के निर्माण का श्रेय भैंरो सिंह शेखावत को ही जाता है. शेखावत के बाद केवल वसुंधरा राजे ही रही जिनके नेतृत्व में बीजेपी की दो सरकारों का निर्माण हुआ. भैरोंसिंह शेखावत ने उप राष्ट्रपति के पद पर पहुंचकर राजस्थान का गौरव बढ़ाया. वसुंधरा राजे 2 बार मुख्यमंत्री बनी वह भी पूर्ण बहुमत के साथ. देश को अंत्योदय से परिचित कराने वाली पहली सरकार राजस्थान की ही थी,जो कि भैंरो सिंह शेखावत का विजन था. वहीं वसुंधरा राजे की देन रही भामाशाह योजना. यह बात सही है कि आज बीजेपी राजस्थान में जिस जगह खड़ी है वहां तक कमल का पहुंचना आसान नहीं था.

Coronavirus Updates: जयपुर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का शतक, राजस्थान में 288 पहुंची मरीजों की संख्या

बीज से वटवृक्ष बनने का सफर मुश्किलों भरा रहा:
राजस्थान में संघ के सफर से कमल खिला चाहे राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ हो या फिर जनसंघ. पं दीनदयाल उपाध्याय और लालकृष्ण आडवाणी सरीखे दिग्गजों ने राजस्थान में ना केवल समय बिताया बल्कि यहां पर कमल खिलाने का मार्ग प्रशस्त किया. बीज से वटवृक्ष बनने का सफर मुश्किलों का भरा रहा. सुंदर सिंह भंडारी, भैरों सिंह शेखावत , भंवर लाल शर्मा,जेपी माथुर,हरिशंकर भाभडा,ललित किशोर चतुर्वेदी ,गुलाब चंद कटारिया,रघुवीर सिंह कौशल,रामदास अग्रवाल,ओम प्रकाश माथुर,महेश चंद्र शर्मा,प्रकाश चंद ,कैलाश मेघवाल, राजेन्द्र राठौड़ सरीखे कई दिग्गज चेहरे रहे जिन्होंने राजस्थान में बीजेपी को खड़ा करने में अहम भूमिका निभाई लेकिन बीजेपी को पार्टी विद द डिफरेंस बनाने में योगदान दिया समर्पित कार्यकर्ताओं ने. आज कमान कार्यकर्ता से प्रदेश अध्यक्ष बने सतीश पूनिया के हाथों में है और संगठन चलाने में उन्हें मार्गदर्शन मिल रहा है चंद्रशेखर का. यूं कह सकते है राजस्थान की बीजेपी में नव कमल उग रहा है.

....फर्स्ट इंडिया के लिए ऐश्वर्य प्रधान के साथ योगेश शर्मा की रिपोर्ट

मोदी कैबिनेट का अहम फैसला, सभी सांसदों के वेतन में एक वर्ष तक होगी 30 प्रतिशत कटौती

मोदी कैबिनेट का अहम फैसला, सभी सांसदों के वेतन में एक वर्ष तक होगी 30 प्रतिशत कटौती

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के बीच मोदी कैबिनेट ने सोमवार को अहम फैसले लिए है.  केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में देश के सभी सांसदों के वेतन में एक साल तक 30 प्रतिशत की कटौती का फैसला किया गया. इसके साथ ही सांसद निधि के लिए दी जाने वाली राशि भी 2 वर्ष तक के लिए टाल दी गई है. इसकी जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि इस कटौती से सरकार को एक वर्ष में करीब 8 हजार करोड़ रुपए की बचत होगी. 

Coronavirus Updates: जयपुर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का शतक, राजस्थान में 288 पहुंची मरीजों की संख्या

30 प्रतिशत योगदान देने का फैसला:
राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, राज्यों के राज्यपालों ने स्वेच्छा से सामाजिक जिम्मेदारी के रूप में वेतन कटौती का फैसला किया है. यह राशि भारत के समेकित कोष में दर्ज की जाएगी. इसके तहत सांसद निधि को दो साल के लिए टाल दिया गया. वहीं राष्‍ट्रपति, उपराष्‍ट्रपति, राज्‍यपाल सहित तमाम सांसदों ने भी अपने वेतन का 30 प्रतिशत योगदान देने का फैसला किया है. केंद्रीय मंत्रिमंडल ने संसद अधिनियम, 1954 के सदस्यों के वेतन, भत्ते और पेंशन में संशोधन के अध्यादेश को मंजूरी दे दी. 1 अप्रैल, 2020 से एक साल के लिए भत्ते और पेंशन को 30 फीसद तक कम किया जाएगा.

केंद्रीय मंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग:
आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को केंद्रीय मंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की. पीएमओ ने बताया कि इस दौरान पीएम मोदी ने मंत्रियों के नेतृत्व की सराहना की और कहा कि उनकी तरफ से लगातार दी गई फीडबैक कोविड-19 से निपटने के लिए रणनीति बनाने में प्रभावी रही है.

राहत भरी भविष्यवाणी..! तो अप्रैल मध्य तक हो जाएगा कोरोना वायरस का खात्मा, ज्योतिषीय गणनाओं में हुआ खुलासा

BJP स्थापना दिवस : PM मोदी का संबोधन, कहा-हमने हर स्तर पर कोरोना के खिलाफ प्रयास किए, WHO ने भी भारत के प्रयासों को सराहा

BJP स्थापना दिवस :  PM मोदी का संबोधन, कहा-हमने हर स्तर पर कोरोना के खिलाफ प्रयास किए, WHO ने भी भारत के प्रयासों को सराहा

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के स्थापना दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक वीडियो संदेश के जरिए कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. पीएम मोदी ने बीजेपी के सभी संस्थापकों को याद किया और उन्हें श्रद्धांजलि भी दी. इसके साथ ही अपने संबोधन में कार्यकर्ताओं से कोरोना संकट को लेकर भी बात की. पीएम मोदी ने कहा कि हमने हर स्तर पर कोरोना के खिलाफ प्रयास किए. डब्ल्यूएचओ ने भी भारत के प्रयासों को सराहा.

देशभर में मनाई जा रही है महावीर जयंती, घरों में ही हो रही है विशेष पूजा, सोशल डिस्टेंसिंग की पालना

पूरी दुनिया एक मुश्किल समय से गुजर रही है:
पीएम मोदी ने कहा कि हमारी पार्टी का स्थापना दिवस, एक ऐसे कालखंड में आया है, जब देश ही नहीं, पूरी दुनिया, एक मुश्किल समय से गुजर रही है. पीएम मोदी ने कहा कि चुनौतियों से भरा यह वातावरण देश की सेवा के लिए, हमारे संस्कार, हमारे समर्पण, हमारी प्रतिबद्धता को और प्रशस्त करता है. श्रद्धेय श्यामा प्रसाद मुखर्जी, पं. दीन दयाल उपाध्याय जी, अटल बिहारी वाजपेजी जी जैसे अनगिनत महानुभावों ने राष्ट्र प्रथम का आदर्श दिया है. आज भी हमारे बीच अनेक वरिष्ठ महानुभाव हैं, जिन्होंने इसी मंत्र को लेकर दशकों तक जिया है और हमें शिक्षा दी है.

भाजपा का 40 वां स्थापना दिवस: सभी कार्यकर्ता अपने अपने घरों में ही मना रहे स्थापना दिवस, सोशल डिस्टेंसिंग की पूरी पालना 

व्यापक जंग की शुरुआत की:
पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी से निपटने के लिए भारत के अबतक के प्रयासों ने दुनिया के सामने एक अलग ही उदाहरण प्रस्तुत किया है. भारत दुनिया के उन देशों में है जिसने कोरोना वायरस की गंभीरता को समझा और और समय रहते इसके खिलाफ एक व्यापक जंग की शुरुआत की. भारत ने एक के बाद एक अनेक निर्णय किए, उन फैसलों को जमीन पर उतारने के भरसक प्रयास किया. सभी सरकारों को साथ लेकर आगे बढ़ने में काई कमी न रहे इसकी चिंता की.

भाजपा का 40 वां स्थापना दिवस: सभी कार्यकर्ता अपने अपने घरों में ही मना रहे स्थापना दिवस, सोशल डिस्टेंसिंग की पूरी पालना 

भाजपा का 40 वां स्थापना दिवस: सभी कार्यकर्ता अपने अपने घरों में ही मना रहे स्थापना दिवस, सोशल डिस्टेंसिंग की पूरी पालना 

जयपुर: भारतीय जनता पार्टी का सोमवार को 40 वां स्थापना दिवस समारोह है. सभी कार्यकर्ता अपने अपने घरों में ही स्थापना दिवस समारोह मना रहे है. कोरोना के चलते लॉकडाउन के बीच सोशल डिस्टेंसिंग की पूरी पालना की जा रही है. डॉ.श्यामप्रसाद मुखर्जी-पं.दीनदयाल उपा.की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया. पुष्पांजलि के साथ कार्यकर्ता घरों पर भाजपा का झंडा फहरा रहे है. 

सिंगर कनिका कपूर अस्पताल से हुई डिस्चार्ज, छठी रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद किया डिस्चार्ज

एक समय का भोजन त्यागने का आह्वान:
भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भूपेंद्र यादव समेत सभी महासचिवों ने घर ही स्थापना दिवस मनाया. भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा  के आह्वान पर कई पदाधिकारियों ने इस मौक़े पर व्रत रखा है. पार्टी कार्यकर्ताओं से एक समय का भोजन त्यागने का आह्वान किया है. वहीं लॉक डाउन में कष्ट झेल रहे लोगों की मदद करने की अपील की है. 

सीएम गहलोत के निर्देश, लॉकडाउन और कर्फ्यू की सख्ती से कराये पालना, अफवाह फैलाने पर हो कार्रवाई

बीजेपी नेताओं ने दी बधाई:

इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित सभी दिग्गज नेता बधाई दे रहे हैं. इस बीच पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बीजेपी कार्यकर्ताओं से स्थापना दिवस पर एक समय का भोजन त्याग कर लॉकडाऊन के दौरान कष्ट झेल रहे लोगों के साथ अपनी सहानूभूति व्यक्त करें. बता दें कि स्थापना दिवस पर बीजेपी कार्यकर्ताओं को अपने बूथ के 40 घरों से संपर्क कर पांच धन्यवाद पत्र पर हस्ताक्षर लेने हैं. इनमें पांच धन्यवाद पत्र में पुलिस, डॉक्टर व नर्स, सफाई कर्मचारी, बैंक पोस्ट ऑफिस के कर्मचारी, सरकारी कर्मचारी शामिल हैं.

Coronavirus Updates: पीएम मोदी ने की प्रणब, सोनिया, मनमोहन समेत देश के कई बड़े नेताओं बात

Coronavirus Updates: पीएम मोदी ने की प्रणब, सोनिया, मनमोहन समेत देश के कई बड़े नेताओं बात

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, मुलायम सिंह, अखिलेश यादव और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समेत देश के कई बड़े नेताओं से बात की है. 

खुशखबरी: शोधकर्ताओं का दावा, 48 घंटे के भीतर कोरोना वायरस को मार सकती है ये दवा 

पीएम अलग-अलग लोगों के लगातार चर्चा कर रहे: 
कोरोना महामारी पर सरकार की तैयारियों को लेकर पीएम अलग-अलग लोगों के लगातार चर्चा कर रहे हैं. इसी के चलते आज पूर्व राष्ट्रपति, पूर्व प्रधानमंत्री और अलग-अलग पार्टी के नेताओं से बात की. देश फिलहाल कोरोना वायरस की महामारी से कैसे जूझ रहा है और सरकार की इसको लेकर किस तरही की तैयारियां है, इस पर बात की गई. 

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी 

प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से भी की थी बात:
इससे पहले पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से भी 2 अप्रैल को बात की थी. इस दौरान राज्यों ने केंद्र सरकार से मेडिकल किट, बकाया पैसे के साथ ही आर्थिक मदद की मांग की थी. इसके बाद प्रधानमंत्री ने देश के अलग-अलग खेलों से संबंधित दिग्गज 40 खिलाड़ियों से कोरोना वायरस को लेकर चर्चा की थी. 

राहुल गांधी ने अमेठी में भेजे सेनिटाइजर और मास्क, कांग्रेस कार्यकर्ता कर रहे है वितरित

राहुल गांधी ने अमेठी में भेजे सेनिटाइजर और मास्क, कांग्रेस कार्यकर्ता कर रहे है वितरित

अमेठी: उत्तर प्रदेश के अमेठी में सेनिटाइजर, मास्क और साबुन का वितरण शुरू किया गया. कांग्रेस नेता राहुल गांधी के निर्देश के बाद अमेठी में सेनिटाइजर वितरित हुआ. राहुल गांधी ने 12 हजार सेनिटाइजर, 20 हजार मास्क और 10 हजार साबुन का वितरण जिला कांग्रेस कमेटी के माध्यम शुरू करा दिया है. यह जानकारी अमेठी जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रदीप सिंघल ने दी. 

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कुल आंकड़ा पहुंचा 206, कोरोना की चपेट में आने से अब तक 4 लोगों ने गंवाई जान

जरूरतमंदों को कराया अनाज उपलब्ध:
कोरोना वायरस से बचाव के लिए पूरे देशभर में लॉकडाउन है, ऐसे में अमेठी क्षेत्र में कोई भूखा नहीं रहे. इसलिए राहुल गांधी ने पिछले दिनों अमेठी के जरूरतमंद लोगों को भोजन सामग्री पहुंचाई. पिछले दिनों राहुल गांधी ने अमेठी के जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए एक ट्रक गेहूँ और एक ट्रक चावल भेजा था.

Lockdown: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने शुरू की सहयोग किचन, जरूरतमंदों के घर पहुंच रहा है भोजन

Lockdown: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने शुरू की सहयोग किचन, जरूरतमंदों के घर पहुंच रहा है भोजन

Lockdown: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने शुरू की सहयोग किचन, जरूरतमंदों के घर पहुंच रहा है भोजन

जयपुर: कोरोना के कर्मवीरों का मनोबल बढ़ाने, पार्टी स्तर पर प्रदेशभर में जरूरतमंदों को भोजन और राशन सामग्री उपलब्ध कराने के प्रबंधन पर विशेष निगरानी बनाए हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां अपने विधानसभा क्षेत्र आमेर पर भी विशेष ध्यान दे रहे हैं. कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन की स्थिति में आमेर विधानसभा क्षेत्र में किसी व्यक्ति को भोजन की समस्या ना हो, इसके लिए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और आमेर विधायक सतीश पूनियां ने आमेर के लिए 'सहयोग किचन' की शुरुआत की है. जिसका लक्ष्य है, आमेर विधानसभा क्षेत्र में कोई व्यक्ति भूखा ना सोए.

आईडीबीआई एटीएम लूट का असफल प्रयास, एटीएम में था 19 लाख का कैश

राशन सामग्री के वितरण पर पूरा ध्यान:
सहयोग किचन के द्वारा भोजन के पैकेट आमेर विधानसभा के विभिन्न क्षेत्रों में जरूरतमंद लोगों को वितरित किए जा रहे हैं. सहयोग किचन के जरिए राशन भी पहुंचाया जा रहा है. पूनियां आमेर में जरूरतमंदों को राशन सामग्री के वितरण भी पूरा ध्यान दे रहे हैं. इसके अलावा कुछ दिन पहले ही पूनियां ने आमेर के लिए 100 से अधिक सैनेटाइज किट और राशन सामग्री से भरी गाड़ी भी भेजी.

श्री खोले के हनुमान मंदिर में कोरोना वायरस उन्मूलन यज्ञ

आमजन की सेवा में जुटे:
आपको बता दें कि प्रदेश अध्यक्ष पूनियां की अपील पर अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी के विधायक जरूरतमंदों को राशन सामग्री और भोजन व्यवस्था करने में जुटे हुए हैं. इस काम में पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता बूथ स्तर तक आमजन की सेवा में जुटे हुए हैं.

Open Covid-19