जैसलमेर जासूसी का हब बन रहा जैसलमेर क्षेत्र ! दो दिनों में 2 संदिग्धों को किया गया डिटेन; ISI फैला रहा अपना नेटवर्क

जासूसी का हब बन रहा जैसलमेर क्षेत्र ! दो दिनों में 2 संदिग्धों को किया गया डिटेन; ISI फैला रहा अपना नेटवर्क

जासूसी का हब बन रहा जैसलमेर क्षेत्र ! दो दिनों में 2 संदिग्धों को किया गया डिटेन; ISI फैला रहा अपना नेटवर्क

जैसलमेर: राजस्थान (Rajasthan) का जैसलमेर (Jaisalmer) जिला जासूसी का हब बनता जा रहा है. ऐसे में अब रेगिस्तान में खतरे के बादल मंडराने लगे हैं! पाक जासूस पश्चिमी राजस्थान में ISI का नेटवर्क फैला रहे हैं. पिछले दो दिनों में 2 संदिग्धों को डिटेन किया गया है. आरोपी जासूस नवाब खान की निशानदेही पर फलसूंड इलाके से 1 और युवक को पकड़ा गया है. इस पकड़े गए युवक से जोधपुर में पूछताछ की जा रही है. आरोपी फतन खान बाड़मेर के शिव गांव का निवासी है. वो लगभग 10 साल पहले फलसूंड गांव में आया था. वह यहां टायर ट्यूब की दुकान चलाता है. 

आपको बता दें कि इससे पहले पकड़ा गया नवाब खान (32) चनेसर खान की ढाणी का निवासी है. नवाब खान को जयपुर से आई भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के शक में डिटेन किया है. नवाब को सुरक्षा एजेंसियां जयपुर लेकर गई है जहां उससे कड़ी पूछताछ जारी है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सुरक्षा एजेंसियों की नवाब खान की चांधन में दुकान है. चांधन मेकिन ही सेना की सबसे बड़ी फील्ड फायरिंग रेंज भी है. सेना के मूवमेंट की जानकारी वो पाकिस्तान में आईएसआई के आकाओं को भेजता था. इस दौरान वो भारतीय सुरक्षा एजेंसियों की रडार पर आया. सुरक्षा एजेंसियों की पिछले 1 साल से नवाब पर नजर थी. उसकी गतिविधियों को ट्रेस किया जा रहा था. आखिरकार जासूसी का शक पुख्ता होने पर 24 नवंबर बुधवार को नवाब खान को जैसलमेर से डिटेन कर जयपुर ले जाया गया है जहां सुरक्षा एजेंसियों की पूछताछ जारी है. 

कई बार पाकिस्तान जा चुका है नवाब:
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नवाब खान की रिश्तेदारी पाकिस्तान के रहिमयार खान इलाके के आसपास है. वो पाकिस्तान की यात्रा कई बार कर चुका है. इस दौरान उसकी मुलाक़ात पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के एजेन्टों से हुई और उन्होने उसे जासूसी के बदले पैसे का लालच दिया. सूत्रों ने बताया कि पैसों के लालच में नवाब ने सेना के मूवमेंट की जानकारी सोशल मीडिया के माध्यम से पाकिस्तान भेजी. सैन्य जानकारियों के बदले नवाब के बैंक खाते में पाकिस्तान की तरफ से कई बार पैसे भी आने की जानकारी सामने आई है. बताया जा रहा है कि नवाब 3 साल से आईएसआई के संपर्क में है और वो लगातार उसको फील्ड फायरिंग रेंज में होने वाली सेना कि गतिविधियों कि जानकारी व फोटो विडियो आदि सोशल मीडिया के माध्यम से भेज रहा था. नवाब खान से जयपुर में सुरक्षा एजेंसियां पूछताछ कर रही है. पूछताछ में नवाब से आईएसआई के भारत में फैले नेटवर्क और स्लीपर सेल का खुलासा होने कि संभावना है. 

और पढ़ें