सावधान हो जाएं फेसबुकिया लोग, 'डीपी फाइट' प्रतियोगिता की फेल रही गंभीर बीमारी

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/01/05 03:34

बाड़मेर। सोशल मीडिया और खासकर फेसबुक यूजर्स इन दिनों काफी परेशान और हताश नजर आ रहे हैं। दरअसल, बाड़मेर जिले में फेसबुक पर ज्यादा एक्टिव रहने वाले यूजर्स को डीपी फाइट प्रतियोगिता को लेकर गजब का शौक लगा हुआ है, क्योंकि प्रतिदिन फेसबुक और व्हाट्सएप चलाने वाले हर व्यक्ति के पास 30 से 35 संदेश ऐसे आ रहे हैं, जिसमे दो फोटो लगे हुए होते हैं और उन दो फोटो में से किसी एक के पक्ष में वोट देने की अपील की जा रही है। हालांकि फेसबुक पर अचानक आई इस डीपी प्रतियोगिता के तूफान से फेसबुक यूजर्स काफी परेशान भी हैं।

डिजिटल के इस युग मे सोशल मीडिया का लोगो मे काफी क्रेज है, लेकिन इस सोशल मीडिया के साइड इफेक्ट भी कभी-कभार ऐसे सामने आते हैं, जिसको रोकना बेहद जरूरी है। ऐसे ही साइड इफेक्ट इन दिनों बाड़मेर में देखने को मिल रहे हैं, जहां 'डीपी फाइट' जैसी एक गंभीर बीमारी फेसबुक यूजर्स को लगी है। इसमे किसी भी दो व्यक्ति के फ़ोटो लगाकर चुनाव की तरह ही यहां भी वोट देने की अपील की जा रही है।

सबसे पहले बताते हैं कि 'ताजा खबर' के नाम से बनी इस फेसबुक आईडी, जिसमें 'डीपी फाइट' को लेकर दो उम्मीदवार देवेंद्र सियाग और हरीश गोदारा के फोटो डाल रखे हैं और इनमें से किसी एक उम्मीदवार के पक्ष में वोट देने की अपील भी की गई है, ताकि इस वोट के जरिये ये जान सकें कि फेसबुक पर इन दोनों में से ज्यादा कौन पॉपुलर है।

इतना ही नहीं, इसके अलावा बांकाराम चौधरी पार्षद के नाम से बनी इस फेसबुक आईडी पर लिखा गया है कि 'डीपी फाइट' अपनों को ही अपनों से अलग करने की चाल है। इसके चक्कर मे मत पड़ो। इसके आगे ये भी लिखा गया है कि इससे पहले कि इसका दुष्परिणाम आए, इस लफड़े से बाहर आ जाओ। इसके अलावा गोगाराम नाम के एक फेसबुक यूजर्स ने लिखा की 'डीपी' वोट मैसेज करने के लिए सीधा ब्लॉक कर दूंगा, भड़का हुआ वोटर।' यहां तक कि एक और यूजर ने लिखा है कि कहने के बावजूद भी डीपी फाइट वाले अगर मैसेज करेंगे तो उनके विपरीत वोट दिया जाएगा। अब खुद सोच ले आपको क्या करना है।

फेसबुक पर चल रही डीपी फाइट प्रतियोगिता के बारे में स्कूल शिक्षा परिवार के जिला प्रभारी आनंद जे थोरी बताते हैं कि जो फेसबुक पर इस तरह का वायरस फैला हुआ है। ये बहुत ही नुकसान दायक भी है और साथ ही समय की बर्बादी भी हो रही है। यहां तक कि स्कूली बच्चों के इस वायरस की चपेट में आने से चिंता का विषय है। 

बहरहाल, कुछ दिन पूर्व सम्पन्न हुए विधानसभा चुनाव में भी नेताओं को इतनी ताकत नहीं लगानी पड़ी थी, जितनी फेसबुक यूजर्स डीपी फाइट में वोट करवाने को लेकर लगा रहे हैं। हालांकि फर्स्ट इंडिया न्यूज़ चैनल भी ऐसे फेसबुक यूजर्स से अपील करता है कि इस तरह के वायरस की चपेट में आकर अपना अमूल्य समय बर्बाद नहीं करें, क्योंकि इससे आपको कुछ भी हासिल नहीं होना है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

जस्टिस दिनेश माहेश्वरी को बने सुप्रीम कोर्ट के जज

कॉलेजियम पर \'सुप्रीम\' कंट्रोवर्सी
प्रयागराज में \'महामहिम\'
तीन दिन गुजरात में गुजारेंगे पीएम मोदी
अब बस कर \"नाटक \" कर्नाटक में सियासी नाटकबाजी
RCA अध्यक्ष पद से जोशी ने नहीं दिया इस्तीफा
ब्रिटेन की पीएम थेरेसा को बड़ी राहत
मोदी सरकार के अंतिम बजट पर सबकी नजर
loading...
">
loading...