VIDEO: जयपुर और अलवर से जारी हुए 3393.99 करोड़ के फर्ज़ी बिल, 7 आरोपी गिरफ्तार

जयपुर: बोगस फर्मों के फर्जी बिल जारी कर इनपुट टैक्स की चोरी करने वाले सात आरोपियों को गिरफ्तार कर CGST जयपुर की एंटीइवेजन शाखा ने सोमवार को आर्थिक अपराध न्यायालय में पेश किया.जयपुर व अलवर निवासी इन आरोपियों ने विभिन्न बोगस फर्में बना कर धड़ल्ले से 3393 करोड़ 99 लाख 81 हजार 980 रुपए के फर्जी बिल अनेक कारोबारियों को मामूली कमीशन पर जारी कर 85 करोड़ 27 लाख 48 हजार 937 रुपए की ITC का दुरुपयोग किया.

आर्थिक अपराध न्यायालय में सुनवाई के दौरान CGST के वरिष्ठ लोक अभियोजक बनवारी लाल ताखर ने अदालत को बताया कि इस मामले में ऋषिराज स्वामी, हरीश कुमार जैन, अरुण शर्मा, महेन्द्र मंगल ऊर्फ महेन्द्र अग्रवाल, राज कुमार शर्मा, सुनील कुमार और ललित गोयल आरोपी है.

इन्होंने अधिकारियों के समक्ष अपने बयान में फर्जी बिल जारी करना भी स्वीकार किया है.सुनवाई के बाद अदालत ने सभी आरोपियों को 8 मार्च तक न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए.आरोपियों को अदालत में पेश करने के बाद मौके पर मौजूद CGST के SPP बनवारी लाल ताखर से विशेष बातचीत की फ़र्स्ट इंडिया न्यूज़ के वरिष्ठ विशेष संवाददाता विमल कोठारी ने.   

जयपुर और अलवर से जारी हुए 3393.99 करोड़ के फर्ज़ी बिल:
- CGST की जयपुर एंटीइवेजन शाखा ने किया 7 आरोपियों को गिरफ्तार
- बिना GST चुकाए कर रहे थे ITC का गोलमाल
- आर्थिक अपराध न्यायालय ने सभी को भेजा 8 मार्च तक जेल
- आरोपियों में से 6 जयपुर के व एक अलवर का
- मामूली कमीशन पर जारी होते थे फर्जी बिल
- बड़ी संख्या में फर्मों को जारी किए फर्जी बिल
- फर्जी बिलों से किया 85.27 करोड़ की ITC का गोलमाल
- मामले की विस्तृत जांच अब भी जारी, बढ़ सकती है फर्जीवाड़े की राशि

...विमल कोठारी, फ़र्स्ट इण्डिया न्यूज़, जयपुर

और पढ़ें