नहीं रहे प्रसिद्ध न्यूरोलॉजिस्ट पद्मश्री डॉ.अशोक पानगड़िया, आज ही होगा अंतिम संस्कार

नहीं रहे प्रसिद्ध न्यूरोलॉजिस्ट पद्मश्री डॉ.अशोक पानगड़िया, आज ही होगा अंतिम संस्कार

नहीं रहे प्रसिद्ध न्यूरोलॉजिस्ट पद्मश्री डॉ.अशोक पानगड़िया, आज ही होगा अंतिम संस्कार

जयपुर: राजस्थान के चिकित्सा जगत से जुड़ी आज की सबसे दुखद खबर सामने आई हैं. प्रसिद्ध न्यूरोलॉजिस्ट पद्मश्री डॉ.अशोक पानगड़िया का आज निधन हो गया. डॉ.पानगड़िया कोरोना के बाद पोस्ट कोविड की दिक्कत झेल रहे थे. आज ही डॉ.अशोक पानगड़िया का अंतिम संस्कार किया जाएगा. डॉ.पानगड़िया के निधन से देशभर के चिकित्सा जगत में शोक की लहर छा गई. 

पद्मश्री समेत कई अवॉर्ड हासिल कर देश-दुनिया में बढ़ाया मान:

डॉ.पानगड़िया ने पद्मश्री समेत कई अवॉर्ड हासिल कर देश-दुनिया में मान बढ़ाया. पानगड़िया केन्द्र की मेडिकल क्षेत्र की हाई लेवल काउंसिल में शामिल थे. सेन्ट्रल काउंसिल फॉर हेल्थ एण्ड फैमेली वेलफेयर में उन्हें स्थान दिया था. डॉ.पानगड़िया इससे पहले पद्मश्री,डॉ बीसी रॉय अवॉर्ड, D.SC डिग्री समेत कई अवॉर्ड से सम्मानित हो चुके हैं. 

डॉ.पानगड़िया रह चुके है राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के पहले VC:

डॉ.पानगड़िया राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय केपहले VC रह चुके है. डॉ.पानगड़िया इसके अलावा राजस्थान सरकार के प्लानिंग बोर्ड में मेंबर भी रह चुके हैं. आपको बता दें कि इससे पहले सोशल मीडिया पर पानगड़िया के ठीक होने की प्रार्थनाएं की जा रही थी, लेकिन आज पानगड़िया के निधन की खबर मिलते ही चिकित्सा जगत में शोक की लहर छा गई.

2014 में पद्मश्री और 2002 में डॉ. बीसी रॉय अवॉर्ड मिला:
न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. पानगड़िया को 1992 में राजस्थान सरकार की ओर से मेरिट अवॉर्ड मिला. वे एसएमएस में न्यूरोलॉजी के विभागाध्यक्ष रहे। 2006 से 2010 तक प्रिंसीपल रहे. 2002 में उन्हें मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने डॉ. बीसी रॉय अवॉर्ड दिया. 2014 में उन्हें पद्मश्री से नवाजा गया। उनके 90 से ज्यादा पेपर जर्नल में छप चुके हैं. उनकी मेडिकल और सोशल सहभागिता के चलते उन्हें यूनेस्को अवॉर्ड भी मिल चुका है. उन्हें कई लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड भी प्राप्त हुए हैं.

और पढ़ें