नई दिल्ली 26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर रैली पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई टली, कहा- पहले पुलिस मामले को देखे

26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर रैली पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई टली, कहा- पहले पुलिस मामले को देखे

26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर रैली पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई टली, कहा- पहले पुलिस मामले को देखे

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट में आज किसानों के 26 जनवरी को दिल्ली आने के मामले पर सुनवाई टल गई. अब इस मामले पर सुनवाई 20 जनवरी को होगी. कोर्ट में दिल्ली पुलिस की ओर से ये याचिका दायर की गई थी. सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकार इस पर पहले फैसला ले. चीफ जस्टिस एसए बोबड़े ने कहा कि मामला पुलिस का है, हम इस पर फैसला नहीं लेंगे. कोर्ट ने संकेत दिए हैं कि किसानों के दिल्ली आने जैसे विषय पर पहले फैसला प्रशासन को लेना चाहिए.

रामलीला मैदान में प्रदर्शन की इजाजत पर पुलिस को फैसला करना है:
ट्रैक्टर रैली को लेकर सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि रामलीला मैदान में प्रदर्शन की इजाजत पर पुलिस को फैसला करना है. साथ ही अदालत ने कहा कि शहर में कितने लोग, कैसे आएंगे ये पुलिस तय करेगी. चीफ जस्टिस ने कहा कि क्या अब अदालत को बताना होगा कि सरकार के पास पुलिस एक्ट के तहत क्या शक्ति है. अब सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को इस मामले पर सुनवाई होगी.

चीफ जस्टिस दो अलग जजों के साथ बैठे थे:
दरअसल आज सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस दो अलग जजों के साथ बैठे थे. सुनवाई शुरू होने के साथ ही चीफ जस्टिस ने कहा कि हम सुनवाई उसी बेंच में करेंगे जिसने पहले मामला सुना. चीफ जस्टिस ने कहा कि हमारे दखल को गलत समझा गया है.

कब निकलेगा विवाद का हल:
गौरतलब है कि कृषि कानून के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर धरना दे रहे हजारों किसानों को लगभग दो महीने पूरे हो चुके हैं. अबतक सरकार और किसानों में नौ राउंड की बातचीत हो चुकी है, कई मसलों पर सहमति बनी है लेकिन अब किसान संगठन तीनों कानूनों की वापसी पर अड़े हैं. ऐसे में इस विवाद का हल कब और कैसे निकलता है, इसपर देश की निगाहें हैं.

और पढ़ें