बाढ़ राहत के नाम पर खानापूर्ति, दहशत के साये में मजबूर परिवार

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/07/18 12:55

खण्डेला (सीकर)। सीकर जिले के खंडेला में बरसिंहपुर रोड पर आमजन की सुविधा के लिए बनी सीमेंटेड सडक़ इन दिनोंं सुविधा के बजाय परेशानी का सबब बनी हुई है। सार्वजनिक निर्माण विभाग ने मुख्य रास्ते में भरने वाले पानी की समस्या के समाधान के लिए इसे ऊंचा उठाकर पुनः निर्माण कर सड़क केेेे ऊपर भरने वाले पानी की समस्या का समाधान तो कर दिया, लेकिन सड़क के ऊपर उठ जाने के कारण दोनों ओर बसी कॉलोनियों में जलभराव की समस्या उत्पन्न हो गई।

ड्रेनेज के लिए नालों का निर्माण नहीं किए जाने के कारण बरसात के दिनों में सड़क के दोनों और बसी कॉलोनियों के मकानों में जलभराव होने लग गया, जिससे मोहल्लेवासी दहशत में रात गुजारने को मजबूर हैं। मानसून की पहली बरसात में ही इस जलभराव की समस्या ने विकराल रुप ले लिया और एक बीपीएल परिवार सहित 3 लोगों के शौचालय जमीन में धंस गए।

इतना ही नहीं, लगातार पानी भरे रहने के कारण कई मकान गिरने की कगार पर हैं। जबकि प्रशासन को इस समस्या की कानोंकान खबर तक नहीं है। यदि समय रहते इस जल की निकासी की समुचित व्यवस्था नहीं की गई तो आने वाले समय में कोई बड़ा हादसा हो सकता है। यहां तक कि मानसून को देखते हुए तहसील मुख्यालय पर बनाए आपदा राहत कंट्रोल रूम ने भी इस मामले पर कोई संज्ञान नहीं लिया।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in