Live News »

शिक्षा के क्षेत्र में मिसाल कायम कर रहा ये सरकारी स्कूल

शिक्षा के क्षेत्र में मिसाल कायम कर रहा ये सरकारी स्कूल

आहोर(जालोर)। एक तरफ जहां सरकारी स्कूलों से आमजन का मोह भंग होते जा रहा है वही प्रदेश में एक ऐसा भी स्कूल है जहां प्राइवेट स्कूल के बच्चे भी अपनी टीसी लेकर इस सरकारी स्कूल में प्रवेश ले रहे हैं। हम बात कर रहे हैं जालोर जिले की आहोर तहसील के ऊण गांव की सीनियर हायर सेकेंडरी स्कूल की, जो आजकल पूरे क्षेत्र में एक मिसाल कायम कर रही है। इस स्कूल में कार्यरत अध्यापिका सैय्यद साजिदा अली ने बच्चों को पढ़ाने की अपनी कला से खासा प्रभावित किया है। बच्चों को जहाँ आजकल कम्प्यूटर और मोबाइल पर खेलने का बड़ा शौक है बस बच्चों के उसी शौक को इन अध्यापिका ने अपनी पढ़ाई करवाने का कौशल बना दिया । मोबाइल और कम्प्यूटर की इमोजी को ही इन्होंने पढ़ने की कला बना दिया जिसे बच्चे पढ़ाई में खासी रुचि ले रहे हैं। 

इमोजी के जरिये बच्चों को विलोम शब्द, पर्यावाची शब्द, जैसे महत्वपूर्ण शब्द सिखाए जा रहे हैं। आपको बता दे कि इस पूरी पद्धति को टीएमएल पद्धति कहा जाता है और इसमें बड़ी सामग्री भी लगती है लेकिन ये सामग्री खरीदने के लिए सरकार की ओर से कोई बजट जारी नही होता। लेकिन अध्यापिका का जज्बा देखिए... खुद की सैलरी से खर्च करके इन बच्चों के लिए हर महीने सामग्री खरीदकर बच्चों को पढ़ाने का बीड़ा उठा लिया है। सबसे बड़ी बात आज जहां पूरा देश हिन्दू मुस्लिम धर्म, जाति के बंधन में जकड़ा हुआ है वही ये मैडम जाति-पाँति और धर्म से ऊपर उठकर अपने कर्तव्य के प्रति निष्ठावान नज़र आ रही है। 

आपको बता दे इस स्कूल में एक भी मुसलमान बच्चा पढ़ने नही आता, जबकि अध्यापिका खुद मुसलमान होने के बावजूद इन हिन्दू बच्चों के लिए अपना तन मन और धन तक दे रही है। मैडम के इसी हौसले को देखते हुए गांव के करीब दो दर्जन से ज्यादा छात्र-छात्राएं जो निजी स्कूलों में पढ़ रहे थे... वो बच्चे अब इस सरकारी स्कूल में प्रवेश लेकर पढ़ाई कर रहे हैं।
विक्रमसिंह करणोत, 1st इंडिया न्यूज आहोर

और पढ़ें

Most Related Stories

कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपए ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व दलाल गिरफ्तार

कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपए ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व दलाल गिरफ्तार

जालोर: जिले के आहोर में कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपये ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व उसके दलाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. क्षेत्र के चार युवक इस लुटेरी दुल्हन के जाल में फंस कर ठगी के शिकार हुए है. जानकारी के मुताबिक पिछले महीने रूपसिंह, धनाराम, अमृत भाई व जगदीश ने आहोर पुलिस थाने मे रिपोर्ट पेश कर गुजरात निवासी कल्पना बेन व अन्य लोगों के खिलाफ शादी के नाम पर धोखाधड़ी करने व घर से गहने व रूपये ले जाने का मामला दर्ज कराया था. मामले की तहकीकात के लिए थाने के एएसआई अखाराम व टीम ने गुजरात के जामनगर मे दबिश देकर लूटेरी दुल्हन कल्पना बैन व दलाल विमल दामा को गिरफ्तार कर आहोर लाया गया.

कुंआरे युवकों को शादी के नाम पर रूपये ऐंठने का यह एक सक्रिय गिरोह:  
पुलिस ने बताया कि कुंआरे युवकों को शादी के नाम पर रूपये ऐंठने का यह एक सक्रिय गिरोह है. जो मोटी रकम लेकर युवक के साथ शादी रचने का ढोंग करती है और चार पांच दिन तक घर वालो का विश्वास जीतकर मौका पा कर गहने व नकदी लेकर फरार हो जाती है. दुल्हन को भगाने मे इस गिरोह की प्रमुख भूमिका रहती है. इस सारे काम मे नाम व पत्ते झूठे दिए जाते है. लूटेरी दुल्हन ने शादी के नाम पर लाखों रुपए लूटने की जानकारी मिली है. जांच अधिकारी ने बताया कि गिरोह के अन्य सदस्य लक्ष्मी प्रजापत व शानदाबेन की तलाश की जा रही है. पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर ठगी की रकम बरामद करने का प्रयास कर रही है.