Farmers Protest: सरकार ने अगले दौर की वार्ता के लिए 40 किसान संगठनों को 30 दिसंबर को बुलाया

Farmers Protest: सरकार ने अगले दौर की वार्ता के लिए 40 किसान संगठनों को 30 दिसंबर को बुलाया

Farmers Protest: सरकार ने अगले दौर की वार्ता के लिए 40 किसान संगठनों को 30 दिसंबर को बुलाया

नई दिल्लीः सरकार ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे 40 किसान संगठनों को सभी प्रासंगिक मुद्दों पर अगले दौर की वार्ता के लिए 30 दिसंबर को बुलाया है. सरकार द्वारा सोमवार को उठाए गए इस कदम का उद्देश्य नए कानूनों पर जारी गतिरोध का एक ‘‘तार्किक समाधान’’ निकालना है. किसान संगठनों ने वार्ता के लिए पिछले हफ्ते 29 दिसंबर का एक प्रस्ताव दिया था, जिसके बाद सरकार ने उन्हें आमंत्रित किया है.

सरकरा की ओर से किसान संगठनों को विज्ञान भवन में दो बजे वार्ता करने का दिया न्योताः
कृषि सचिव संजय अग्रवाल ने किसान संगठनों को लिखे एक पत्र के जरिए उन्हें राष्ट्रीय राजधानी के विज्ञान भवन में 30 दिसंबर को दोपहर दो बजे वार्ता करने का न्योता दिया है. केंद्र और 40 प्रदर्शनकारी किसान संगठनों के बीच अब तक पांच दौर की हुई औपचारिक वार्ता बेनतीजा रही है.

सरकार किसान संगठनों के मुद्दों का तार्किक समाधान निकालने के लिए प्रतिबद्धः
वार्ता बहाल करने के लिए किसान संगठनों के प्रस्ताव पर संज्ञान लेते हुए अग्रवाल ने कहा कि सरकार एक स्पष्ट इरादे और खुले मन से सभी प्रासंगिक मुद्दों का एक तार्किक समाधान निकालने के लिए भी प्रतिबद्ध है. 

नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर किसान कर रहे हैं प्रदर्शनः
उल्लेखनीय है कि एक महीने से अधिक समय से दिल्ली की सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसान डेरा डाले हुए हैं. वे तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं. इन किसानों में ज्यादातर पंजाब और हरियाणा से हैं. प्रदर्शनकारी किसानों ने अपनी मांगें नहीं माने जाने की स्थिति में आने वाले दिनों में अपना आंदोलन तेज करने की धमकी दी थी.
सोर्स भाषा
 

और पढ़ें