'कल विधानसभा में घोषणा के बाद समाप्त हो जाएगा गुर्जर आंदोलन'

Nirmal Tiwari Published Date 2019/02/12 05:58

जयपुर (निर्मल तिवारी/ऋतुराज शर्मा)। गुर्जर आरक्षण आंदोलन को लेकर देर रात तक हुए मंथन और फिर आज सुबह सीएमओ में चली मैराथन बैठक में सरकार ने फार्मूला तैयार कर लिया है। गुर्जरों को आरक्षण मामले में सरकार कल विधानसभा में गुर्जर समाज को बड़ा पैकेज देने के साथ ही आरक्षण देने को लेकर बड़ी घोषणा का मन बना चुकी है। इसी को लेकर कैबिनेट में एक बैठक आयोजित की जा रही है, जिसमें इस फार्मूले का अनुमोदन किए जाने पर विचार विमर्श किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लोकसभा चुनाव से पहले आए आरक्षण आंदोलनरूपी सियासी भूचाल को रोकने के लिए आज दो दौर की बैठक कर फार्मूला तैयार करने का दावा किया है। आज सीएमओ में विधानसभा अध्यक्ष डाॅ. सीपी जोशी, डिप्टी सीएम सचिन पायलट, मंत्री शांति धारीवाल, रघु शर्मा, मास्टर भंवरलाल मेघवाल, अशोक चांदना, ममता भूपेश, विधायक डॉ. जितेंद्र सिंह, शकुंतला रावत, गजराज खटाना व अन्य से लंबी चर्चा की। इसमें गुर्जरों को आरक्षण के लिए सर्वमान्य फार्मूले को लेकर गहन मंथन हुआ।

सूत्रों की मानें तो बैठक में तय किया गया है कि गुर्जरों को बड़ा पैकेज दिया जाए, जिसमें समाज के शैक्षिक, सामाजिक व आर्थिक उन्ययन और नौकरियों में आरक्षण की व्यवस्था हो। केबिनेट में इस फार्मूले पर चर्चा के बाद अनुमोदन करवाकर कल विधानसभा में इसकी घोषणा की जाए। इसके अलावा एक पत्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम लिखा जाए, जिसमें गुर्जर समाज को पांच फीसदी आरक्षण देने की सिफारिश की जाए। इस बैठक में मुख्यमंत्री के साथ ही सीएस डीबी गुप्ता, एसीएस होम राजीव स्वरूप, डीजी कपिल गर्ग व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

इस बैठक में कानून व्यवस्था बनाए रखने को दिशा निर्देश दिए गए। सीएम ने गुर्जर समाज के जन प्रतिनिधियों से चर्चा की उन्हें भी सरकार द्वारा तैयार फार्मूले पर आंदोलनकारियों की सहमति बनाने के लिए कहा है। बैठक के बाद मंत्री अशोक चांदना, विधायक डॉ. जितेंद्र सिंह व शकुंतला रावत ने दावा किया कि कल विधानसभा की घोषणा के बाद गुर्जर समाज का आंदोन समाप्त हो जाएगा और सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त कर ली जाएगी।

कुल मिलाकर कहा जा सकता है गुर्जर आंदोलन के सियासी भूचाल को रोकने के लिए न केवल मुख्यमंत्री ने गुर्जर जनप्रतिनिधियों के बीच सर्वमान्य फार्मूला तैयार कर लिया है, वरन लोकसभा चुनाव से पूर्व आरक्षण की गेंद केंद्र के पाले में डालने की भी तैयारी कर ली है। यह बात अलग है कि विधानसभा में बड़ी घोषणा के साथ आंदोलन समाप्त होने का दावा कर रही सरकार के इस दावे को गुर्जर स्वीकार करेंगे या नहीं।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in