हाथरस गैंगरेप कांड: पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा, बार-बार गला दबाने से हड्डी टूटी थी

हाथरस गैंगरेप कांड: पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा, बार-बार गला दबाने से हड्डी टूटी थी

हाथरस गैंगरेप कांड: पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा, बार-बार गला दबाने से हड्डी टूटी थी

हाथरस: उत्तर प्रदेश के हाथरस कांड की पीड़ि‍ता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आई है.  रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़िता की मौत गले की हड्डी टूटने से हुई. रिपोर्ट में कहा गया है कि बार-बार गला दबाने से हड्डी टूटी थी. पीड़िता की गर्दन पर चोट के निशान मिले हैं. ऐसे में पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा होता है कि पीड़िता के साथ किस तरह की दरिंदगी की गई थी. हालांकि, रिपोर्ट में रेप की बात नहीं कही गई है.

गला दबाने से सर्वाइकल स्पाइन टूट गई थी: 
पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि गला दबाने से सर्वाइकल स्पाइन टूट गई थी, जो मौत की मुख्य वजह बनी. इससे पहले अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज की रिपोर्ट में भी गले की हड्डी टूटने की बात कही गई थी. मेडिकल रिपोर्ट में कहा गया था कि गला दबाने की वजह से सर्वाइकल स्पाइन का लिगामेंट टूट गया था. मेडिकल रिपोर्ट में भी रेप की बात से इनकार किया गया था.

 

मौत का मुख्य कारण विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा:
सफदरजंग अस्पताल के द्वारा जारी की गई इस रिपोर्ट में बताया गया कि पीड़िता की मौत का मुख्य कारण विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा. हालांकि, रिपोर्ट में गले पर चोट के निशान का भी जिक्र किया गया है. इस दौरान पीड़िता की 
ओर से कई बार बचाव का भी प्रयास किया गया, इस वजह से गर्दन की हड्डी भी टूट गई थी. 

पुलिस के द्वारा किया गया था जबरन अंतिम संस्कार:
गौरतलब है कि 14 सितंबर को हाथरस के एक गांव में दलित युवती के साथ गैंगरेप के बाद उसकी तबीयत काफी खराब हुई और दिल्ली शिफ्ट किया गया, जहां सफदरजंग अस्पताल में उसकी मौत हो गई. मौत के बाद युवती के शव को हाथरस लाया गया, जहां पर जबरन पुलिस के द्वारा उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया. इस मामले में चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इस मामले में तीन सदस्‍यीय एसआईटी जांच कर रही है. 

और पढ़ें