हाथरस मामला: परिजनों के विरोध के बाद भी आधी रात में हुआ पीड़िता का अंतिम संस्कार, प्रियंका और मायावती ने साधा निशाना

हाथरस मामला: परिजनों के विरोध के बाद भी आधी रात में हुआ पीड़िता का अंतिम संस्कार, प्रियंका और मायावती ने साधा निशाना

हाथरस मामला: परिजनों के विरोध के बाद भी आधी रात में हुआ पीड़िता का अंतिम संस्कार, प्रियंका और मायावती ने साधा निशाना

हाथरस(यूपी): हैवानियत की शिकार हाथरस की दलित बिटिया का शव भारी सुरक्षा के बीच रात करीब पौने एक बजे गांव लाया गया. प्रशासनिक अधिकारियों की मंशा थी कि सुबह होने से पहले शव का अंतिम संस्कार करा दिया जाए, जबकि परिवार वालों का कहना था कि वह सुबह होने पर अंतिम संस्कार करेंगे. लेकिन पहले से ही आरोपों में घिरी पुलिस को ये कतई मंजूर नहीं हुआ.

पुलिस ने अंतिम संस्कार घरवालों की मर्जी के बगैर खुद ही कर दिया: 
यूपी की हाथरस पुलिस पर आरोप लगा है कि उसने गैंगरेप पीड़ित लड़की का अंतिम संस्कार घरवालों की मर्जी के बगैर खुद ही कर दिया. अब उसका सबूत भी सामने आया है, लड़की की चिता सजाते और चिता को आग लगाते पुलिसवाले कैमरे में कैद हुए हैं. ऐसे में यूपी पुलिस ने ऐसा बर्ताव कर दिया जो अपार पीड़ा झेल रहे घरवालों के जख्मों पर नमक लगा गया. 

पुलिस प्रशासन ने बलपूर्वक एंबुलेंस के सामने लेटी महिलाओं को हटाया:
महिलाएं एंबुलेंस के सामने लेट गईं. रात करीब सवा दो बजे तक मान-मनौव्वल का दौर चलता रहा. बाद में पुलिस प्रशासन ने बलपूर्वक एंबुलेंस के सामने लेटी महिलाओं को हटाया. इस दौरान धक्कामुक्की और खींचतान भी हुई. वहां पर चीख-पुकार मचने लगी. इसके बाद शव को श्मशान ले जाया गया और करीब ढाई बजे बिटिया के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया.

प्रियंका गांधी ने योगी आदित्यनाथ से इस्तीफे की मांग की: 
वहीं अब इस पूरे मामले पर सियासी बयानबाजी का दौर भी तेज हो गया है. हाथरस गैंगरेप मामले को लेकर प्रियंका गांधी ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस्तीफे की मांग की है. उन्होंने कहा है कि योगी शासन में जनता को न्याय नहीं मिल रहा है. 

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कड़ी निंदा की: 
हाथरस गैंगरेप पीड़िता का पुलिस द्वारा आनन-फानन में अंतिम संस्कार करने पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने कड़ी निंदा की है. उन्होंने कहा है कि पीड़िता का रात को अंतिम संस्कार कर देना लोगों में काफी संदेह व आक्रोश पैदा करता है.

घटना पर जांच हेतु तीन सदस्यीय SIT गठित:
दूसरी ओर सीएम योगी द्वारा हाथरस की घटना पर जांच हेतु तीन सदस्यीय SIT गठित की गई है जिसमें अध्यक्ष सचिव गृह भगवान स्वरूप एवं चंद्रप्रकाश, पुलिस उपमहानिरीक्षक व श्रीमती पूनम, सेनानायक पीएसी आगरा सदस्य होंगे. SIT अपनी रिपोर्ट 7 दिन में प्रस्तुत करेगी. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने हाथरस की घटना के लिए दोषी व्यक्तियों के खिलाफ फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाने और प्रभावी पैरवी करने के स्पष्ट निर्देश दिए हैं.
 

और पढ़ें