भाजपा की पहली सूची में नहीं मिली चिकित्सा मंत्री सराफ को जगह

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/11/11 11:59

जयपुर। राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर पिछले कुछ दिनों से चले आ रहा कयासों एवं अटकलों का दौर आज भाजपा प्रत्याशियों की पहली सूची जारी करने के साथ ही थम गया है। भाजपा आलाकमान की ओर से लम्बी मंथन बैठकों के बाद आज देर रात भाजपा प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर दी गई है। इस सूची में कुल 131 प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की गई है, जिसमें 12 महिलाएं एवं 32 युवाओं चेहरों को जगह दी गई है।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, चंद्रशेखर, वी सतीश, गजेन्द्र सिंह शेखावत, प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी, प्रकाश जावड़ेकर, अरुण जेटली, राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, राजेन्द्र राठौड़, गुलाबचंद कटारिया और अशोक परनामी समेत कई नेताओं की मौजूदगी में पार्टी के प्रत्याशियों के नामों पर फाइनल सहमति बनी। इसके बाद केन्द्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर पार्टी प्रत्याशियों की पहली सूची जारी की।

भाजपा आलाकमान द्वारा लिए गए फैसले के तहत आज जारी की गई पार्टी प्रत्याशियों की पहली सूची में 131 नामों का ऐलान किया गया है। खास बात यह है कि इस सूची में करीब 25 नए चेहरों को भी जगह दी गई है, जबकि कई वर्तमान विधायकों एवं मंत्रियों के नाम को तरजीह नहीं दी गई है। इनमें सूबे के चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ एवं वरिष्ठ भाजपा नेता काका सुंदरलाल के नाम भी शामिल है। इनके साथ ही करीब 26 विधायकों के टिकट फिलहाल कटे हैं। ऐसे में 131 उम्मीदवारों की सूची में सूबे के चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ का नाम नहीं होना चौकाने वाली बात जरूर है।

जानकार सूत्रों की मानें तो चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ का नाम भाजपा प्रत्याशियों की पहली सूची में शामिल नहीं किए जाने के पीछे पार्टी की ओर से समन्वय एवं संतुलन बनाए रखने की सोच हो सकती है। सूत्रों का कहना है कि जिन वरिष्ठ नेताओं के नामों को पहली सूची में शामिल नहीं किया गया है, उनके नाम काटे नहीं गए हैं, बल्कि उनके नाम अभी फिलहाल के लिए होल्ड पर हैं। दरअसल, कुछ नामों को लेकर एंटीइनकंबेंसी का माहोल न बने और पार्टी कार्यकर्ताओं में समन्वय एवं संतुलन बना रहे, इसी सोच के साथ इन नामों को ​होल्ड किया गया है। वहीं हो सकता है कि उन नामों को अगली सूचियों में शामिल किया जा सकता है।

भाजपा उम्मीदवारों की पहली सूची में जिन नामों का ऐलान किया गया है, उनमें अधिकांश नाम पूर्व मंत्रियों एवं विधायकों के हैं, लेकिन कई वर्तमान विधायकों के नाम गायब भी हैं। इसके साथ ही कुछ नए चेहरों को भी इस सूची में स्थान दिया गया है। सूची में जारी किए गए नामों पर गौर करें तो सामने आता है कि पार्टी आलाकमान ने चुनाव में जीत हासिल करने के लिए उम्मीदवार के जिताऊ होने का नजरिया सबसे पहले पायदान पर रखा है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

5 राज्यों में कांग्रेस को मिली बढ़त पर राहुल बोले...

धौलपुर जेल से कैदी का वीडियो वायरल
Big Fight Live | \'सियासी गलियारों में आज क़यामत की रात | 10 DEC, 2018
मतगणना से पहले सुरक्षा व्यवस्थाओं को लेकर एडिशनल डीसीपी से खास बातचीत
रिजर्व बैंक के गर्वनर उर्जित पटेल ने दिया इस्तीफा
विजय माल्या के प्रत्यर्पण पर आज आ सकता है बड़ा फैसला
संसद सत्र हंगामेदार रहने के आसार
प्रधानमंत्री कार्यालय के PRO जगदीश ठक्कर का निधन
loading...
">
loading...