15 वर्ष बाद एक बार फिर वही अमरूदों का बाग, बस अटलजी की जगह होंगे पीएम मोदी

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/07/06 08:28

जयपुर (निर्मल तिवारी)। पहले वृहद सड़क परियोजनाएं फिर रिफाइनरी इसके बाद राष्ट्रीय पोषण मिशन की शुरुआत और कल सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों से जनसंवाद। जी हां, उदयपुर से बाड़मेर और फिर झुंझुनूं के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौर उल्लेखनीय थे, लेकिन कल इतिहास रचने की तैयारी है। अमरूदों का बाग कल इस इतिहास का गवाह बनने जा रहा है। पेश है एक स्पेशल रिपोर्ट...

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने वर्ष 2003 में परिवर्तन यात्रा के समापन पर अमरूदों के बाग में जो भाषण दिया था, उसमें लाखों की तादाद में लोग वाजपेयी को सुनने आए थे। अब 15 वर्ष बाद एक बार फिर वही अमरूदों का बाग है और लोकप्रियता में वाजपेयी के समकक्ष माने जा रहे नरेंद्र मोदी जनता से संवाद करेंगे। सभा में पांच लाख लोगों को लाने का लक्ष्य रखा गया है।

सभास्थल को इस तरह तैयार किया गया है कि जो जहां भी बैठा है, उसे मोदी साफ दिखाई दें। इसके लिए सभा स्थल पर चार डोम तैयार किए गए हैं। 40 बड़ी एलईडी स्क्रीन लगाई गई हैं। बडे स्पीकर्स हैं और वाटर प्रूफ टेंट हैं, ताकि बरसात आने की स्थिति में भी जनता को कोई परेशानी न हो। मंत्रियों को ताकीद किया गया है कि वे मंच के सामने न बैठकर लाभार्थियों के साथ बैठें, ताकि पीएम मोदी को लाभार्थियों से संवाद में परेशानी न हो और लाभार्थियों में कोई शरारती तत्व बैठकर विरोध के लिए उकसाए नहीं।

अलग—अलग विभागों को एयरपोर्ट से एसएमएस स्टेडियम स्थित हैलीपैड और सभास्थल तक के लिए इंतजाम का जिम्मा दिया गया है। गृह मंत्री गुलाबचंद कटारियां, पीडब्ल्यूडी मंत्री यूनुस खान, भाजपा के प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना, मेयर अशोक लाहोटी और सीएस डीबी गुप्ता सहित तमाम मंत्री और अधिकारियों द्वारा इंतजामों की मॉनिटरिंग की जा रही है। कल जब मोदी यहां आएंगे तो सभास्थल पर प्रत्येक योजना के रंग के हिसाब से उसी रंग के दुपट्टे पहनकर बैठे लाभार्थियों से संवाद करेंगे। यही नहीं, कल से प्रदेश में औपचारिक तौर पर भाजपा चंनावी मोड में आ जाएगी और अक्टूबर-नवंबर में होने वाले चुनावों की तैयारी भी शुरू हो जाएगी।

गौरतलब है कि मोदी ने बीते एक वर्ष में प्रदेश के तीन दौरे किए हैं और कल वे चौथी बार आ रहे हैं। ऐसे में उनके पिटारे में प्रदेश को लेकर बहुत कुछ होगा, जिससे राज्य की जनता के लिए खास सौगात भी होंगी। सियासी मायनों में देखें तो मोदी कल प्रदेश में होने वाले चुनाव के लिए वसुंधरा राजे के नेतृत्व की आधिकारिक घोषणा कर सकते हैं। कर्ज माफी से लेकर जीएसटी और सड़क से लेकर शिक्षा की विकाय योजनाओं को लेकर विपक्ष पर हमला बोल सकते हैं। बहरहाल, पीएम मोदी की यह सभा विभिन्न मायनों में ऐतिहासिक हो सकती है और भाजपा सत्ता व संगठन इस इतिहास को रचने में कोई कोर कसर छोड़ भी नहीं रहा।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in