Live News »

TikTok, UC Browser सहित 59 चीनी ऐप्स बैन, यहां देखें पूरी लिस्ट

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख में चीन संग सीमा विवाद के चलते भारत सरकार ने चीन के खिलाफ आर्थिक कार्रवाई शुरू कर दी है. सोमवार को आईटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्रालय ने भारत में प्रचलित टिकटॉक (TikTok) और यूसी ब्राउजर (UC Browser) समेत चीन के 59 एप पर प्रतिबंध लगा दिया. सरकार ने इन ऐप्स को सुरक्षा के लिहाज से खतरनाक बताया है. 

Unlock 2.0 की गाइडलाइंस जारी, ये हैं अनलॉक- 2 की रियायतें, इन चीजों को नहीं मिली इजाजत 

भारत की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिए खतरनाक: 
सरकार की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि उपलब्ध सूचना के अनुसार, ये ऐप्स उन गतिविधियों में लगे हुए हैं, जो भारत की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिए खतरनाक हैं. सरकार ने कहा कि इन चाइनीज ऐप्स के सर्वर भारत से बाहर मौजूद हैं. इनके जरिए यूजर्स का डेटा चुराया जा रहा था. इनसे देश की सुरक्षा और एकता को भी खतरा था. इसी वजह से इन्हें बैन करने का फैसला लिया गया है. 

इन 59 चाइनीज एप पर लगाया गया प्रतिबंध: 
1. टिकटॉक (TikTok) 2. शेयर इट (Shareit) 3. केवई (Kwai) 4. यूसी ब्राउजर (UC Browser) 5. बैडू मैप (Baidu map) 6. शीईन (Shein) 7. क्लैश ऑफ किंग (Clash of Kings) 8. डीयू बैटरी सेवर (DU battery saver) 9.  हेलो (Helo) 10. लाइक (Likee) 11.  यूकैम मेकअप ( YouCam makeup) 12. एमआई कम्युनिटी ( Mi Community) 13.  सीएम ब्राउजर (CM Browers) 14.  वायरस क्लीनर (Virus Cleaner) 15. एपीयूएस ब्राउजर (APUS Browser) 16.  रोमवी (ROMWE) 17.  क्लब फैक्ट्री (Club Factory) 18. न्यूज डॉग (Newsdog) 19.  ब्यूटी प्लस (Beutry Plus) 20.  वीचैट (WeChat) 21. यूसी न्यूज (UC News)  22. क्यू क्यू मेल (QQ Mail) 23. वीबो (Weibo)  24. एक्सएंडर (Xender) 25. क्यू क्यू म्यूजिक (QQ Music) 26. क्यू क्यू न्यूजफीड (QQ Newsfeed) 27.  बीगो लाइव (Bigo Live) 28.  सेल्फी सिटी (SelfieCity) 29.  मेल मास्टर (Mail Master)30. पैरलर स्पेस (Parallel Space) 31. एमआई वीडियो कॉल-शियॉमी (Mi Video Call – Xiaomi) 32. वीसाइन (WeSync) 33.  ईएस फाइल एक्सप्लोरर (ES File Explorer) 34. वीवा वीडियो (Viva Video),  35. मीईटू (Meitu) 36.  वीगो वीडियो ( Vigo Video) 37.  न्यू वीडियो स्टेटस (New Video Status) 38. डीयू रिकॉर्डर (DU Recorder) 39. वॉलट हाइड (Vault- Hide) 40. कैचे क्लीयर डीयू ऐप स्टूडियो (Cache Cleaner DU App studio) 41.  डीयू क्लीनर (DU Cleaner) 42. डीयू ब्राउजर (DU Browser) 43. हगो प्ले विद न्यू फ्रेंड्स (Hago Play With New Friends) 44. कैम स्कैनर (Cam Scanner) 45.  क्लीन मास्टर चीता मोबाइल (Clean Master – Cheetah Mobile) 46. वंडर कैमरा (Wonder Camera) 47.  फोटो वंडर (Photo Wonder) 48. क्यू क्यू प्लेयर (QQ Player) 49. वी मीट (We Meet) 50.  स्वीट सेल्फी (Sweet Selfie) 51.  बैडू ट्रांसलेट (Baidu Translate) 52. वी मेट (Vmate) 53. क्यू क्यू इंटरनेशनल (QQ International) 54. क्यू क्यू सिक्योरिटी सेंटर (QQ Security Center) 55.  क्यू क्यू लॉन्चर (QQ Launcher) 56. यू वीडियो (U Video) 57.वी फ्लाई स्टेटस वीडियो ( V fly Status Video) 58.  मोबाइल लिजेंड्स (Mobile Legends) 59. डीयू प्राइवेसी ( DU Privacy)

ये 10 एप्स भारत में थे काफी पॉपुलर: 
TikTok, Shareit, UC Browser, DU battery saver, Helo, Likee, WeChat, UC News, BigoLive और Vigo Video वो 10 एप्स हैं जो भारत में काफी पॉपुलर थे. 

कंफ्यूज हो गया आज पंचर वाला राजू जब नींद से उठा ! ...क्योंकि उसकी कुर्सी पर बैठे थे सतीश पूनिया

भारत में 80 करोड़ से ज्यादा लोगों के पास स्मार्टफोन: 
मोबाइल एप इंडस्ट्री की बात करें तो भारत में 80 करोड़ से ज्यादा लोगों के पास स्मार्टफोन हैं. बीते साल दुनियाभर में सबसे ज्यादा एप भारत में इंस्टॉल किए गए थे. आंकड़ों के मुताबिक शुरुआती तीन महीने में ही 4.5 अरब से ज्यादा एप डाउनलोड किए गए, जिनमें सबसे ज्यादा टिकटॉक था. टिक टॉक की बात करें तो दुनियाभर में इसके दो अरब से ज्यादा यूजर हैं. इनमें सबसे ज्यादा करीब 30 फीसदी भारतीय हैं. इस एप की कुल कमाई का 10 फीसदी केवल भारत से होता है. 


 

और पढ़ें

Most Related Stories

कोरोना संक्रमितों को हेल्पलाइन नंबर 181 पर आधे घंटे में मिलेगी चिकित्सकीय सुविधा - डॉ रघु शर्मा

कोरोना संक्रमितों को हेल्पलाइन नंबर 181 पर आधे घंटे में मिलेगी चिकित्सकीय सुविधा - डॉ रघु शर्मा

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल पर शुरू की गई हेल्पलाइन सेवा 181 कोरोना मरीजों के लिए बड़ी राहत साबित होगी. हेल्पलाइन सेवा के जरिए शासन सचिवालय में 24 घंटे संचालित होने वाला राज्य स्तरीय वॉर रुम महज 30 मिनट में कोरोना संक्रमितों को चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराने में मदद करेगा. यह कहना है चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा का. 

चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने हेल्पलाइन सेवा 181 के कामकाज की समीक्षा की: 
चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने हेल्पलाइन सेवा 181 के कामकाज की समीक्षा की. इस मौके पर शर्मा ने बताया कि इस वॉर और इससे संबंधित जिला स्तरीय वॉर रुम के जरिए अधिकतम 30 मिनट में कोरोना मरीज या उनके परिजनों की समस्त समस्याओं का समाधान किया जाएगा. उन्होंने बताया कि राज्य स्तरीय वॉर रुम में राज्य के सभी जिला वॉर रुम में तैनात कर्मचारियों व अधिकारियों के नामों की सूची और मोबाइल नंबर उपलब्ध रहेंगे. वहीं कोविड—19 से संबंधित सभी जांच केन्द्रों की सूचना, निजी व राजकीय कोविड डेडीकेटेड अस्पतालों की लिस्ट भी दूरभाष नंबर के साथ उपलब्ध रहेगी.

जिले के प्रमुख डेडिकेटेड अस्पताल में 24 घंटे संचालित किए जाएंगे:
चिकित्सा मंत्री ने बताया कि जिला स्तरीय वॉर रुम जिला कलक्टर की अध्यक्षता में जिले के प्रमुख डेडिकेटेड अस्पताल में 24 घंटे संचालित किए जाएंगे. उक्त जिला स्तरीय वॉर रुम एक प्रशासनिक अधिकारी, दो चिकित्सक और अन्य कार्मिकों के साथ तीन पारियों में संचालित किए जाएंगे. इन वॉर रुम में कोविड डेडिकेटेड सभी अस्पतालों में उपलब्ध बैड्स की रियल टाइम सूचना व एम्बूलेंस संबंधी जानकारी उपलब्ध रहेगी. उन्होंने बताया कि वॉर रूम की निगरानी के लिए एक दूरभाष नंबर व नेट कनेक्टिविटी के साथ कंम्प्यूटर और सीसीटीवी कैमरे भी स्थापित किए जा रहे हैं. उन्होंने बताया कि सभी वॉर रुम में कोविड डैडिकैटेड अस्पतालों में सभी प्रकार के बैड की सूचना उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं.  

{related}

यूं काम करेगा वॉर रूम: 

- आइसोलेशन वाले मरीज या उनके परिजन राज्य स्तरीय वॉर रूम में 181 पर संपर्क अपनी परेशानी बता सकते हैं.

- इसके बाद यहां तैनात कार्मिक उक्त जानकारी को संबंधित जिला स्तरीय वॉर रुम को उपलब्ध कराने के साथ राजस्थान सम्पर्क पोर्टल पर भी उपलब्ध कराएगा और जल्द से जल्द समस्या के निदान के लिए प्रतिबद्ध होगा. 

- सभी जिला स्तरीय वॉर रूम को निर्देशित किया गया है कि अधिकतम 30 मिनट के भीतर मरीज या परिजन की समस्या को हल किया जाए. 

- बिना लक्षण वाले मरीज यदि किसी चिकित्सकीय सलाह की मांग करते हैं तो हैल्प डेस्क पर मौजूद चिकित्सक उसकी मदद करेगा. 

- दवा की मांग होने पर मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा योजना के तहत दवा उपलब्ध कराई जाएगी. 

- जबकि लक्षण वाले मरीजों को आग्रह करने पर कोविड डैडिकेटेड अस्पतालों में भर्ती कराने के लिए एम्बूलेंस की व्यवस्था कराई जाएगी. 

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि जिला स्तरीय वॉर रुम को जिम्मेदारी सौंपी गई है कि वे गंभीर मरीजों के लिए आईसीयू, वेंटिलेटर व अन्य चिकित्सकीय सुविधाओं को जल्द से जल्द उपलब्ध कराएं और सरकारी रैफरल परिवहन सुविधा द्वारा कोविड अस्पताल में पहुंचा कर भर्ती कराए. मरीज या उनके परिजन की समस्या का निवारण करने के बाद जिला स्तरीय वॉर रुम में तैनात कार्मिक उक्त जानकारी राज्य स्तरीय वॉर रूम में देगा और राजस्थान संपर्क पोर्टल पर भी दर्ज करेगा और आधे घंटे में जिला स्तरीय वॉर रूम के कार्यवाही नहीं करने पर राज्य स्तरीय वॉर रूम आवश्यक कार्यवाही के लिए उसके निर्देशित कर इसकी सूचना अतिरिक्त जिला कलक्टर को देकर तत्काल समस्या समाधान के लिए कहेगा. 

आरयूएचएस जयपुर में बैड्स की संख्या 500 से बढ़ाकर 900 करने के लिए निर्देश: 
डॉ शर्मा ने अब राज्य के प्रमुख कोविड डेडिकैटेड हॉस्पिटल आरयूएचएस जयपुर में बैड्स की संख्या 500 से बढ़ाकर 900 करने के लिए निर्देश दिए है. जयपुर के मेट्रो मास अस्पताल को भी कोविड सेंटर के रुप में विकसित करने की योजना है. वहीं ईएसआई अस्पताल, रेलवे अस्पताल में भी बैड्स लिए गए है और मरीजों को भर्ती किया जा रहा है.  

कोरोना संक्रमितों की रिकवरी रेट 83 फीसदी पार:
चिकित्सा मंत्री ने बताया कि राज्य में कोरोना संक्रमितों की रिकवरी रेट 83 फीसदी को पार कर गई है जबकि मृत्यु दर 1.16 फीसदी है. यह दर्शाता है कि राजस्थान सरकार कोरोना महामारी से आमजन को बचाने के लिए लगातार अपनी सेवाओं को मजबूत कर रही है. उन्होंने कहा कि सभी कोविड सेंटर में आक्सीजन सिलेंडरों की पर्याप्त व्यवस्था है. इसके लिए लगातार आक्सीजन सिलेंडरों को प्रोक्योर किया जा रहा है जिससे कि किसी भी मरीज को आक्सीजन की कमी का सामना नहीं करना पड़े. कोविड डेडिकैटेड अस्पतालों में आक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था के लिए जनरेशन प्लांट स्थापित करने का काम भी किया जा रहा है.  

नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर वीडियो वायरल करने का मामला, तीन युवकों सहित एक महिला गिरफ्तार

नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर वीडियो वायरल करने का मामला, तीन युवकों सहित एक महिला गिरफ्तार

किशनगढ़(अजमेर): किशनगढ़ के शहर थाना क्षेत्र में नाबालिक युवती के साथ दुष्कर्म करने के बाद वीडियो वायरल करने का मामला सामने आया है. थाना पुलिस ने मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए 3 आरोपियों सहित एक महिला को गिरफ्तार किया है. पुलिस के अनुसार तीनों आरोपियों ने नाबालिक के साथ दुष्कर्म किया उसके बाद उसका वीडियो बनाकर एक महिला को भेज दिया. महिला ने उस वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया.

{related}

तीनों युवकों ने दुष्कर्म कर वीडियो किया वायरल: 
आरोपियों ने 28 अगस्त को वारदात को अंजाम दिया जहां नाबालिक को बहला-फुसलाकर सिलोरा के पास ले गए यहां बारी-बारी के साथ तीनों युवकों ने उसके साथ बलात्कार किया. बाद में उसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया. पीड़िता के पिता ने देर रात को शहर थाने में मामला दर्ज कराया. सीओ सिटी पार्थ शर्मा ने मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी श्रीनगर निवासी कमल किशोर. शैतान माली व अरांई रोड निवासी कमलेश गुर्जर सहित महिला को गिरफ्तार किया है. शहर थाना पुलिस ने फिलहाल मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

PCC चीफ गोविंद डोटासरा का बयान, कहा- तीनों कानून किसानों की जमीनों पर पूंजीपतियों के कब्जा करवाने का षड्यंत्र

जयपुर: भारत सरकार के कृषि विधेयकों के विरोध में पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को जिला कलेक्टर को राज्यपाल के नाम ज्ञापन दिया. डोटासरा के साथ परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, राजस्व मंत्री हरीश चौधरी सहित अन्य कांग्रेस नेता मौजूद रहे. इस अवसर पर पीसीसी चीफ डोटासरा ने कहा कि तीनों केंद्रीय कानूनों के खिलाफ कलेक्टर को ज्ञापन दिया. तीनों कानून किसान विरोधी है, यह किसानों की जमीनों पर पूंजीपतियों के कब्जा करवाने का षड्यंत्र हैं. सुषमा स्वराज के बयान का उल्लेख करते हुए डोटासरा ने कहा कि बीजेपी की सोच किसानों के बारे में बदल गई है. डोटासरा ने कहा कि केंद्र तीनों कानूनों को वापस ले. ये कानून बिना किसी से सलाह के लाए गए, कांग्रेस ने पहले भी विरोध किया था आगे भी विरोध करेगी. 

भारत में किसान को 15 हजार रुपए से कम सब्सिडी मिलती है:
राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने कहा कि केंद्र सरकार की सोच शहर और कॉरपोरेट को मजबूत करने की है. भारत में किसान को 15 हजार रुपए से कम सब्सिडी मिलती है. अमेरिका में हर किसान को 44 लाख रुपए की सब्सिडी मिलती है. हम अंतिम दम तक लड़ेंगे. परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने कहा कि केंद्र सरकार तानाशाही पर उतर आई है. तीन बिलों के खिलाफ किसान सड़कों पर आ गया है. किसान किसी की गुलामी बर्दाश्त नहीं करेगा. मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने कहा कि जुल्म और आतंक के जोर पर आप बिल पास करवा सकते हैं, लेकिन आप किसान का दिल नहीं जीत सकते, मोदी सरकार तानाशाही पर उतर आई है. 

{related}

धारा 144 का उल्लंघन नजर आया:
राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमण के चलते राजधानी जयपुर सहित 11 जिला मुख्यालय पर धारा 144 लगा रखी है जिसमें नियमानुसार 5 से अधिक व्यक्ति एक जगह इकट्ठे नहीं हो सकते. लेकिन जयपुर कलेक्ट्रेट में ज्ञापन देने के समय इसका उल्लंघन साफ नजर आया. ज्ञापन देने वालों में तीनों मंत्रियों के अलावा विधायक कृष्णा पूनिया, पुष्पेंद्र भारद्वाज, मुमताज मसीह व मनोज मुद्गल सहित अन्य कांग्रेसी नेता भी मौजूद थे. 

UP News: खराब मौसम की वजह से आजमगढ़ में चार्टर्ड एयरक्राफ्ट क्रैश, पायलट की मौत

UP News: खराब मौसम की वजह से आजमगढ़ में चार्टर्ड एयरक्राफ्ट क्रैश, पायलट की मौत

आजमगढ़: यूपी के आजमगढ़ जिले में सरायमीर थाना क्षेत्र के सेंटरवा खैरूद्दीन पुर के पास खराब मौसम होने के कारण एक चार्टर्ड एयरक्राफ्ट क्रैश हो गया. हादसे में एयरक्राफ्ट के एक पायलट की मौत हो गई, जबकि दूसरा अभी लापता है. एयरक्राफ्ट के क्रैश होने से छोटे-छोटे टुकड़े हो गए, और मलबा कई खेतों में फैल गया. पायलट का शव एयरक्राफ्ट के मलबे से करीब 300 मीटर की दूरी पर मिला.   

एयरक्राफ्ट के क्रैश होने की आवाज सुन ग्रामीण घटनास्थल की ओर दौड़ पड़े:
एयरक्राफ्ट के क्रैश होने की आवाज सुन ग्रामीण घटनास्थल की ओर दौड़ पड़े. देखते ही देखते सैकड़ों की संख्या भीड़ मौके पर जमा हो गई. पुलिस भी सूचना के बाद मौके पर पहुंच गई. विमान रायबरेली के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी से सुबह नौ बजे उड़ा था. 11 बजे तक वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की रडार पर था, इसके बाद संपर्क टूट गया था.  

{related}

ग्रामीण बोले- दो लोग पैराशूट से नीचे कूदे: 
लोगों ने बताया कि हेलिकॉप्टर लड़खड़ाते हुए नीचे गिरा. इस दौरान दो लोग पैराशूट से नीचे भी कूदे. बता दें कि खेत में गिरा हेलिकॉप्टर पूरी तरह से नष्ट हो गया है. रायमीर थाना क्षेत्र के सेंटरवा खैरूद्दीन पुर के पास हेलिकॉप्टर के दुर्घटना होने की सूचना आसपास के लोगों ने पुलिस को दी. सूचना पर आलाधिकारियों समेत पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई. 


 

बॉर्डर पर घुसपैठ और मादक पदार्थों की तस्करी को लेकर गृह मंत्रालय ने जारी किया अलर्ट

बॉर्डर पर घुसपैठ और मादक पदार्थों की तस्करी को लेकर गृह मंत्रालय ने जारी किया अलर्ट

जैसलमेर: केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जैसलमेर सहित पश्चिमी राजस्थान के बॉर्डर पर घुसपैठ, जासूसी और मादक पदार्थों की तस्करी को लेकर चिंता जताते हुए जैसलमेर के सीमावर्ती गांवों में संचार, परिवहन और अन्य समस्याओं के समाधान के लिए केंद्र व राज्य की सरकार को उसके समाधान के निर्देश दिए है. 

बीएसएफ एवं गृह मंत्रालय के आंतरिक सुरक्षा विभाग को कार्रवाई के निर्देश दिए:  
गृह मंत्रालय के सीमा प्रबंधन विभाग ने सामाजिक संगठन सीमाजन कल्याण समिति की जिला शाखा को पिछले दिनों भेजे गए मांग प्रतिवेदन पर कार्रवाई करते हुए उन्हें अवगत कराया गया है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सीमा क्षेत्रों में प्रायोजित राष्ट्र विरोधी गतिविधियों को लेकर सीमा सुरक्षा बल एवं गृह मंत्रालय के आंतरिक सुरक्षा विभाग को कार्रवाई के निर्देश दिए है. 

{related}

डबल रोड के निर्माण में आ रही समस्या का समाधान के निर्देश: 
सीमाजन कल्याण समिति के जिला मंत्री शरद व्यास ने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने समिति द्वारा भेजे गए मांग पत्र के आधार पर ही भारत माला परियोजना के तहत स्वीकृत जैसलमेर से म्याजलार तक सिंगल रोड़ के स्थान पर डबल रोड के निर्माण में आ रही डीएनपी की आपत्ति के संबंध में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय को इस संबंध में अतिशीघ्र समस्या का समाधान के निर्देश दिए है ताकि सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण सड़क का निर्माण शुरू हो सकें.

सीआईडी बीआई की बंद चौकियों को पुनः खोलने का आग्रह:
उन्होंने बताया कि पश्चिमी सीमा पर सीआईडी बीआई की बंद चौकियों को पुनः खोलने, सीमा क्षेत्रों में रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने के लिए कृषि आधारित उद्योग व बिक्री केंद्र खुलवाने और पाकिस्तान से आए विस्थापितों को नागरिकता प्रदान करने के लिए भी केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार को इस संबंध में समुचित कार्रवाई का आग्रह किया है. 
 

सरकार ने संसद में दी जानकारी- तबलीगी जमात के कार्यक्रम की वजह से कई व्यक्तियों में फैला कोरोना

सरकार ने संसद में दी जानकारी- तबलीगी जमात के कार्यक्रम की वजह से कई व्यक्तियों में फैला कोरोना

नई दिल्ली: कोरोनावायरस महामारी जब देश में फैलना शुरू हुई तो इसके पीछे बड़ा कारण तबलीगी जमात को बताया गया. आज देश की संसद में भी इसी मामले को लेकर सवाल किया गया तो गृह मंत्रालय ने अपना जवाब दिया. गृह मंत्रालय ने कहा है कि कोरोना फैलने के बाद विभिन्न अधिकारियों द्वारा जारी किए गए आदेश के बावजूद मार्च में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में भारी भीड़ लंबी अवधि तक एक परिसर में एकत्र रही, जिससे कई व्यक्तियों में संक्रमण फैल गया. 

क्या कोरोना वायरस फैलने के पीछे मुख्य कारण तबलीगी जमात है? 
तबलीगी जमात के मसले पर राज्यसभा में सांसद अनिल देसाई ने सवाल करते हुए पूछा कि क्या ये तथ्य है कि दिल्ली और अन्य राज्यों में कोरोना वायरस फैलने के पीछे मुख्य कारण तबलीगी जमात है? दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तब कितने लोग इकट्ठे हुए थे? अभी तक तबलीगी जमात के कितने लोग गिरफ्तार हुए और मौलाना साद का क्या स्टेटस है? अगर मौलाना साद गिरफ्तार हुआ है तो अबतक क्या एक्शन हुआ है?

{related}

भीड़ लंबी अवधि के लिए बंद परिसर में इकट्ठा हुई:
सांसद के इन सवालों पर गृह राज्य मंत्री जी. किशन रेड्डी ने लिखित में जवाब दिया. उन्होंने कहा कि जैसा कि दिल्ली पुलिस ने बताया कि कोरोना महामारी के मद्देनजर विभिन्न प्राधिकरणों द्वारा निर्देश जारी करने के बावजूद बिना मास्क, सैनिटाइजर और सामाजिक दूरी का पालन किए भीड़ लंबी अवधि के लिए बंद परिसर में इकट्ठा हुई. इसके कारण कई व्यक्तियों में कोरोना का संक्रमण फैल गया.

पुलिस ने निजामुद्दीन इलाके से 233 लोगों को गिरफ्तार किया:
जवाब में कहा गया है कि 29 मार्च तक दिल्ली पुलिस ने निजामुद्दीन इलाके से कुल 2361 लोगों को निकाला था. इनमें से 233 लोगों को गिरफ्तार किया गया था.  हालांकि, मौलाना साद को लेकर अभी भी जांच चल रही है. इसके साथ ही दिल्ली पुलिस ने 36 देशों के 956 विदेशी नागरिकों के खिलाफ अब तक 59 आरोपपत्र दायर किए हैं. केंद्र सरकार ने जमात में हिस्सा लेने आए विदेशी नागरिकों का वीजा रद्द कर दिया है और उन्हें ब्लैकलिस्ट कर दिया है. 


 

कृषि मंडियों में जैसे काम पहले होता था, वैसे ही अब भी होगा - PM मोदी

कृषि मंडियों में जैसे काम पहले होता था, वैसे ही अब भी होगा - PM मोदी

नई दिल्ली: बिहार को विधानसभा चुनाव से पहले सौगात मिलने का सिलसिला जारी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बिहार के सभी 45,945 गांवों को ऑप्टिकल फाइबर इंटरनेट सेवाओं से जोड़ने के प्रोजेक्ट और राजमार्गों से जुड़ी 9 परियोजनाओं का उद्घाटन किया है. इस दौरान उन्होंने कहा कि देश के गांवों में इंटरनेट उपयोग करने वालों की संख्या शहरों से ज्यादा हो जाएगी. किसान, गांव के युवा, महिलाएं आसानी से इंटरनेट का इस्तेमाल करेंगे इस पर भी लोग सवाल उठाते थे, लेकिन अब सारी स्थितियां बदल गई है.

ये सुधार 21वीं सदी के भारत की जरूरत:  
इस दौरान कृषि बिल पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कल देश की संसद ने, देश के किसानों को नए अधिकार देने वाले बहुत ही ऐतिहासिक कानूनों को पारित किया है. मैं देश के लोगों को, देश के किसानों, देश के उज्ज्वल भविष्य के आशावान लोगों को भी इसके लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं. ये सुधार 21वीं सदी के भारत की जरूरत हैं.

{related}

ये कानून, ये बदलाव कृषि मंडियों के खिलाफ नहीं: 
प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं यहां स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि ये कानून, ये बदलाव कृषि मंडियों के खिलाफ नहीं हैं. कृषि मंडियों में जैसे काम पहले होता था, वैसे ही अब भी होगा. बल्कि ये हमारी ही एनडीए सरकार है जिसने देश की कृषि मंडियों को आधुनिक बनाने के लिए निरंतर काम किया है. 

नए कृषि सुधारों ने किसान को ये आजादी दी:
उन्होंने कहा कि हमारे देश में अब तक उपज बिक्री की जो व्यवस्था चली आ रही थी, जो कानून थे, उसने किसानों के हाथ-पांव बांधे हुए थे. इन कानूनों की आड़ में देश में ऐसे ताकतवर गिरोह पैदा हो गए थे, जो किसानों की मजबूरी का फायदा उठा रहे थे. आखिर ये कब तक चलता रहता? नए कृषि सुधारों ने किसान को ये आजादी दी है कि वो किसी को भी, कहीं पर भी अपनी फसल अपनी शर्तों बेच सकता है. उसे अगर मंडी में ज्यादा लाभ मिलेगा, तो वहां अपनी फसल बेचेगा. मंडी के अलावा कहीं और से ज्यादा लाभ मिल रहा होगा, तो वहां बेचने पर भी मनाही नहीं होगी.


 

ड्रग्स मामले में सारा अली खान-श्रद्धा कपूर, रकुल प्रीत को भेजा जा सकता है समन, रिया ने लिए थे नाम

ड्रग्स मामले में सारा अली खान-श्रद्धा कपूर, रकुल प्रीत को भेजा जा सकता है समन, रिया ने लिए थे नाम

मुंबई: बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच से जुड़े ड्रग्स मामले में अभिनेत्री सारा अली खान, श्रद्धा कपूर, रकुल प्रीत सिंह से भी पूछताछ हो सकती है. अभिनेत्रियों को एनसीबी की ओर से उन्हें समन भेजा जा सकता है. दरअसल, एनसीबी का दावा है कि सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती ने इन चारों एक्ट्रेस का नाम लिया था.

रिया ने 25 लोगों को नाम लिया था:
रिया चक्रवर्ती ने एसीबी से पूछताछ के दौरान फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े 25 लोगों को नाम लिया था. ऐसे में अब एनसीबी इस मामले को पूरी तरह से सुलझाने के लिए जांच में जुटी गई है. दरअसल, एनसीबी का दावा है कि सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती ने इन चारों एक्ट्रेस का नाम लिया था.

{related}

इस सप्ताह के अंत में समन जारी होने की संभावना:
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) इन अभिनेत्रियों को इस सप्ताह के अंत में समन जारी कर सकता है क्योंकि इसने उन 10 लोगों के खिलाफ मामला बनाने की कोशिश की है जिन्होंने सुशांत राजपूत मामले से जुड़े ड्रग्स के आरोपों को लेकर गिरफ्तार किया है.  

इस ड्रग्स मामले में अब तक 16 गिरफ्तारी हो चुकी:
28 वर्षीय अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के अलावा, इस महीने की शुरुआत में गिरफ्तार किए गए अन्य लोग में उनके भाई शौविक चक्रवर्ती, सुशांत सिंह राजपूत के दो कर्मचारी और कथित ड्रग डीलर थे, जो बॉलीवुड से जुड़े हुए हैं. बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत केस से जुड़े इस ड्रग्स मामले में अब तक 16 गिरफ्तारी हो चुकी है.
 


 

Open Covid-19