आखिरी गेंद पर बाजी पलटकर मुंबई विजेता, बुमराह बने मैन ऑफ द मैच

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/05/13 10:22

मुंबई। मुंबई इंडियंस ने सांसों को रोक देने वाले बेहद रोमांचक फाइनल में लासिथ मलिंगा के कमाल के आखिरी ओवर से चेन्नई सुपरकिंग्स को रविवार को मात्र एक रन से पराजित कर चौथी बार आइपीएल का चैंपियन बनने का गौरव हासिल कर लिया। मुंबई ने आइपीएल-12 के फाइनल में आठ विकेट पर 149 रन बनाने के बाद चेन्नई को सात विकेट पर 148 रन पर थाम लिया।

मलिंगा ने आखिरी गेंद पर विकेट निकाल कर खिताब मुंबई की झोली में डाल दिया। मुंबई के खिलाड़ियों ने इसके बाद मलिंगा को कंधों पर उठाकर जीत का जश्न मनाया। मुंबई का यह पांचवां फाइनल था और उसने चौथी बार खिताब अपने नाम किया। मुंबई ने इससे पहले 2013,2015 तथा 2017 में खिताब जीता था।

गत चैंपियन चेन्नई ने एक रन की हार के साथ अपना खिताब गंवा दिया। चेन्नई के लिए 80 रन बनाने वाले शेन वॉटसन का आखिरी ओवर में रन आउट होना चेन्नई को चोट पहुंचा गया और चेन्नई का चौथी बार खिताब जीतने का सपना टूट गया। 

दरअसल, मुंबई इंडियंस आईपीएल के एक सीजन में किसी टीम के खिलाफ सबसे ज्यादा मैच जीतने वाली दूसरी टीम बन गई है। मौजूदा सीजन में मुंबई ने फाइनल सहित चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ रिकॉर्ड 4 मैचों में जीत दर्ज की है, जो आईपीएल इतिहास में दूसरी बार हुआ है।

इससे पहले आईपीएल 2018 सीजन में चेन्नई ने फाइनल सहित सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 4 मैचों में जीत दर्ज की थी। आपको बता दें कि मुंबई इंडियंस ने रविवार को फाइनल में चेन्नई सुपर किंग्स को आखिरी ओवर में बाजी पलट एक रन से हरा आईपीएल के 12वें संस्करण का खिताब अपने नाम कर लिया।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in