ध्रुव त्यागी मर्डर केस: आरोपी गिरफ्तार, पीड़ित ने कहा-मामले को मजहबी रंग ना दें

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/05/16 04:24

नई दिल्ली: मोती नगर में बेटी से छेड़खानी का विरोध करने वाले ध्रुव त्यागी की शम्सेर आलम और जहाँगीर ख़ान ने अपने कई साथियों व परिवार वालों के साथ मिलकर हत्या की थी. अब इस मामले में पुलिस ने गुरुवार को आरोपी की मां और बहन को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. दोनों पर मारपीट करने और मारपीट के लिए भड़काने का आरोप है. इसके अलावा मुख्य आरोपी जहांगीर खान के तीन बेटे भी पकड़े गए हैं, इनमें दो बालिग हैं और एक बेटा नाबालिग है.

मामले को साम्प्रदायिक चश्मे से न देखा जाए
ताज़ा सूचना के अनुसार, त्यागी को 11 लोगों ने घेर कर मारा था. इस हत्याकांड में आरोपितों के परिवार की महिलाएँ भी शामिल थीं. असल में जिस चाकू से हत्या की गई, उसे आरोपितों की माँ ने घर में से निकाल कर दिया था. इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर लोग तरह-तरह की पोस्टें डाल रहे हैं. पीड़ित परिवार के पास कई नेता भी आ रहे हैं. परिवार को बहुत जगहों से तरह-तरह के संदेश भी आ रहे हैं. लेकिन परिवार का कहना है कि कातिल भले ही किसी और समुदाय से हैं लेकिन इस मामले को साम्प्रदायिक चश्मे से न देखा जाए.

ध्रुव का पाँच-छह लोगों ने रोका रास्ता
बतादें, ध्रुव राज त्यागी अपने परिवार समेत बसई दारापुर में रहा करते थे. रविवार की रात वह बेटी और बेटे के साथ अस्पताल से लौट रहे थे. घर पहुँचने से कुछ दूर पहले ही पाँच-छह लोगों ने उनका रास्ता रोक लिया. इसके बाद विवाद शुरू हो गया. जहाँगीर और आलम समेत उसके कुछ अन्य गुर्गे साथियों ने रास्ता देने से मना कर दिया. ऐसे में मृतक त्यागी ने पहले अपनी बेटी को घर पहुँचाया और फिर लौट कर छेड़खानी कर रहे लड़कों के पिता से शिकायत करने पहुँचे. इसी बीच में उन पर धारदार हथियारों से हमला किया गया. बाप को बचाने आए पीड़िता का भाई भी बुरी तरह जख्मी हुआ, उस पर भी चाकुओं से वार किया गया.

कब हुई घटना?
आपको बता दें कि ये घटना रविवार की है. एफआईआर के मुताबिक जब ध्रुव त्यागी अपनी बेटी के साथ अस्पताल से वापस लौट रहे थे. उसी दौरान जहांगीर के एक बेटे ने उनकी तरफ गलत इशारा किया. जिसके कुछ देर बाद ध्रुव त्यागी अपने बेटे अनमोल के साथ इस मामले की शिकायत करने जहांगीर के घर गए. जब त्यागी अपने बेटे के साथ उनके घर पहुंचे तो तीन भाई घर के बाहर नशे में धुत बैठे थे तभी वहां त्यागी की उनके बेटों से बहस हो गई.

उसी दौरान जहांगीर, उनकी पत्नी और बेटी घर की बालकनी से उनपर पत्थर बरसाने लगे. पुलिस को बताया गया कि जहांगीर की पत्नी ने ही उन्हें चाकू लाकर दिया था. ध्रुव त्यागी के सीने के पास दो बार चाकू से वार किया गया. इसके अलावा उनके पैर पर भी गंभीर चोटें आईं. त्यागी के बेटे अनमोल ने पुलिस को बताया कि जब उनकी बहन बीच बचाव के लिए पहुंची तो, जहांगीर के परिवार ने उन पर भी हमला किया, जिनमें दो महिलाएं भी शामिल हैं.

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in