Jaipur: 1 माह में दोगुना हुआ हवाई यात्रीभार ! फ्लाइट रद्द होने की संख्या में भी आई गिरावट

Jaipur: 1 माह में दोगुना हुआ हवाई यात्रीभार ! फ्लाइट रद्द होने की संख्या में भी आई गिरावट

जयपुर: कोरोना की दूसरी लहर थमने के बाद जयपुर हवाई अड्डे से फ्लाइट संचालन में सुधार देखने को मिल रहा है. जून माह की तुलना में इस महीने जयपुर एयरपोर्ट पर न केवल फ्लाइट संचालन बढ़ रहा है, साथ ही हवाई यात्रियों की संख्या में भी खासी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. पिछले 1 महीने में ही जयपुर एयरपोर्ट से यात्रियों की संख्या में दोगुनी बढ़ोतरी हुई है. 

जून माह के पहले सप्ताह में हवाई यात्रा के हाल बुरे थे. पहले सप्ताह तक रोज मात्र 6 से 7 फ्लाइट चल रही थी और यात्रियों की संख्या भी दिन भर में करीब 1400 चल रही थी. इस माह अब पिछले 1 सप्ताह के आंकड़े देखें तो औसत फ्लाइट संचालन प्रतिदिन 20 रहा है और हवाई यात्रियों की संख्या औसतन 5300 रही है. कोरोना की दूसरी लहर थमने के बाद एविएशन सेक्टर की स्थिति में सुधार दिख रहा है. जयपुर एयरपोर्ट से फ्लाइट संचालन बढ़ रहा है. 

अब एयरलाइंस नए शहरों के लिए भी फ्लाइट शुरू कर रही:
यात्रीभार की बढ़ोतरी के साथ ही अब एयरलाइंस नए शहरों के लिए भी फ्लाइट शुरू कर रही हैं. जयपुर एयरपोर्ट से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक जून माह में कुल 418 फ्लाइट का संचालन हुआ और इस दौरान 68213 यात्रियों ने यात्रा की थी. जबकि इस महीने के पिछले 17 दिनों में फ्लाइट्स की संख्या करीब 306 रही है. वहीं यात्रियों की संख्या पिछले माह से ज्यादा हो चुकी है. इस महीने 17 जुलाई तक करीब 76000 यात्री जयपुर एयरपोर्ट से यात्रा कर चुके हैं. एयरपोर्ट प्रशासन से जुड़े सूत्रों के मुताबिक 31 जुलाई तक यात्रीभार डेढ़ लाख से ज्यादा हो सकता है.

जानिए, एयरपोर्ट के ऐसे बदल रहे हैं हालात- 
- जून में रोज औसतन 14 फ्लाइट संचालित हुई, 2273 यात्रियों का आवागमन
- कुल 418 फ्लाइट से 68213 यात्रियों का आवागमन
- जून में रोज औसतन 11 फ्लाइट रद्द हुई, पूरे माह में कुल 335 फ्लाइट रद्द हुई
- इनमें करीब 160 फ्लाइट अकेले गो फर्स्ट एयरलाइन की रद्द हुईं
- इसके अलावा स्पाइसजेट, एयर इंडिया, एयर एशिया और इंडिगो की फ्लाइट भी रद्द हुईं
- जुलाई में अब तक (1 से 17 जुलाई तक) कुल 306 फ्लाइट संचालित
- इस दौरान कुल 155  फ्लाइट रद्द हुईं
- यानी रोज औसतन 18 फ्लाइट चली तो 9 रद्द हुईं
- गो फर्स्ट की रोज औसतन 4 फ्लाइट रद्द हुईं
- स्पाइसजेट, एयर एशिया, इंडिगो व एयर इंडिया की भी रोज औसतन 1-1 फ्लाइट रद्द

फ्लाइट रद्द होने के चलते हवाई यात्रियों को जून माह में भारी परेशानी झेलनी पड़ी थी. जून माह के दौरान करीब 6500 यात्रियों के टिकट रद्द हुए. जबकि इस माह अब तक करीब 3200 यात्रियों के टिकट रद्द हो चुके हैं. कम यात्रीभार होने की स्थिति में एयरलाइंस फ्लाइट रद्द कर देती हैं. इसके लिए संचालन और तकनीकी कारणों को जिम्मेदार ठहराया जाता है. हालांकि अब फ्लाइट रद्द होने की संख्या में कमी आई है और संचालन बढ़ रहा है.

पिछले 1 सप्ताह में जुड़ी 6 नई फ्लाइट:
- नई फ्लाइट बढ़ाने में इन दिनों स्पाइसजेट एयरलाइन सबसे आगे
- स्पाइसजेट ने पिछले दिनों सूरत, अहमदाबाद, उदयपुर और दिल्ली के लिए नई फ्लाइट शुरू की
- एयर एशिया ने मुंबई की फ्लाइट शुरू की
- इंडिगो ने बेंगलुरु की फ्लाइट जुलाई के पहले सप्ताह में शुरू की
- इंडिगो की सर्वाधिक 8 से 9 फ्लाइट रोज संचालित

एविएशन सेक्टर अगस्त माह से और गति पकड़ेगा. जयपुर एयरपोर्ट से जुड़े सूत्रों के मुताबिक 1 अगस्त से 8 नई फ्लाइट बढ़ने की उम्मीद है. उम्मीद की जानी चाहिए कि अक्टूबर तक हवाई यात्रीभार फरवरी के स्तर तक पहुंच सकेगा. जब रोज औसतन 43 फ्लाइट और 10 हजार यात्रियों का आवागमन हो रहा था.

...काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज, जयपुर

और पढ़ें