जयपुर फुल फॉर्म में रेलवे ! कोविड पूर्व की स्थिति की तरह बढ़ा ट्रेन संचालन, पिछले वित्त वर्ष में 7 करोड़ 30 लाख से ज्यादा यात्रियों ने की यात्रा

फुल फॉर्म में रेलवे ! कोविड पूर्व की स्थिति की तरह बढ़ा ट्रेन संचालन, पिछले वित्त वर्ष में 7 करोड़ 30 लाख से ज्यादा यात्रियों ने की यात्रा

फुल फॉर्म में रेलवे ! कोविड पूर्व की स्थिति की तरह बढ़ा ट्रेन संचालन, पिछले वित्त वर्ष में 7 करोड़ 30 लाख से ज्यादा यात्रियों ने की यात्रा

जयपुर: पिछले 2 वर्ष में कोविड ने जीवन के सभी पहलुओं को प्रभावित किया है. इसमें परिवहन के संसाधन भी बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. विपरीत हालातों के बावजूद रेलवे प्रशासन ने ट्रेन संचालन और आय के मामले में उल्लेखनीय प्रगति दर्ज की है. वित्त वर्ष 2021-22 में उत्तर-पश्चिम रेलवे ने ट्रेन संचालन को सुचारू रखने पर खासा फोकस किया है. इसी का असर है कि आज उत्तर-पश्चिम रेलवे क्षेत्र से 512 ट्रेनों का संचालन हो रहा है. पिछले वित्त वर्ष में 7 करोड़ 30 लाख से ज्यादा यात्रियों ने यात्रा की है. 

उत्तर-पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी कैप्टन शशि किरण ने बताया कि मौजूदा हालात में कोविड से पहले के हालातों की तरह ट्रेन संचालन किया जा रहा है. यात्रियों को पर्याप्त संख्या में ट्रेनें मिल सकें, इसके लिए नियमित ट्रेनों के साथ ही स्पेशल ट्रेनों का भी संचालन किया जा रहा है. साथ ही बड़ी संख्या में ट्रेनों में कोच बढ़ाकर भी यात्रियों को कन्फर्म सीट दिए जाने के प्रयास कर रहे हैं. उत्तर-पश्चिम रेलवे के इन सकारात्मक प्रयासों से अगले वित्त वर्ष में यात्री सुविधाओं, यात्रीभार, ट्रेन संचालन और आय के मामले में प्रगति की उम्मीद रहेगी.

1 अप्रैल 2021 से 28 मार्च 2022 तक कैसी रही प्रगति:
- वर्तमान में उत्तर-पश्चिम रेलवे में 512 ट्रेनों का किया जा रहा संचालन
- वर्ष 2021-22 में उत्तर पश्चिम रेलवे पर 7.3 करोड़ यात्रियों ने यात्रा की
- रेलवे को यात्री गाड़ियों से 3333.61 करोड़ रुपए की आय हुई
- उत्तर-पश्चिम रेलवे पर ट्रेनों में अस्थाई तौर पर 23040 डिब्बे बढ़ाए गए
- वहीं स्थाई रूप से 20 ट्रेनों में 38 डिब्बे बढ़ाए गए
- उत्तर-पश्चिम रेलवे पर 90 स्पेशल ट्रेनें हो रही संचालित
- वर्ष 2021–22 में उत्तर पश्चिम रेलवे पर 2184 स्पेशल ट्रेनों के 44468 ट्रिप संचालित

...फर्स्ट इंडिया न्यूज के लिए जयपुर से काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

और पढ़ें