जयपुर Jaipur: नागौर के डीडवाना में महिला से गैंगरेप प्रकरण, विभिन्न मांगों को लेकर सांसद किरोड़ीलाल मीना बैठे मोर्चरी के सामने धरने पर

Jaipur: नागौर के डीडवाना में महिला से गैंगरेप प्रकरण, विभिन्न मांगों को लेकर सांसद किरोड़ीलाल मीना बैठे मोर्चरी के सामने धरने पर

Jaipur: नागौर के डीडवाना में महिला से गैंगरेप प्रकरण, विभिन्न मांगों को लेकर सांसद किरोड़ीलाल मीना बैठे मोर्चरी के सामने धरने पर

जयपुर: नागौर जिले में कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म का शिकार होने और एक सूनसान जगह पर छोड़े जाने के छह दिन बाद अचेत अवस्था में मिली 35 वर्षीय महिला ने गुरुवार शाम जयपुर के सवाईमान सिंह अस्पताल में दम तोड़ दिया. अब इस प्रकरण मृतक पीड़िता के परिजनों से मिलने पहुंचे राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा मोर्चरी के सामने धरने पर बैठ गए. 

डॉ किरोड़ीलाल मीणा ने कहा कि प्रभावशाली व्यक्ति और पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई होनी चाहिए. इसके साथ ही उन्होंने परिजनों को 50 लाख रुपए तक का मुआवजा देने की भी मांग की. मीणा ने आश्रित को सरकारी नौकरी देने की भी मांग उठाई. 

महिला के परिजनों ने उसका शव लेने से इनकार कर दिया:
आपको बता दें कि इससे पहले गुरुवार शाम को महिला के परिजनों ने उसका शव लेने से इनकार कर दिया और मामले की विस्तृत जांच करते हुए उचित मुआवजा देने की मांग की. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विमल सिंह ने बताया कि मामले में एक व्यक्ति को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है, जबकि एक नाबालिग को हिरासत में लिया गया है, लेकिन परिजनों को संदेह है कि वारदात में और भी लोग शामिल हो सकते हैं. 

महिला के शव को अस्पताल के मुर्दाघर में रखवाया गया:
पुलिस अधीक्षक राममूर्ति जोशी के मुताबिक, महिला जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में वेंटिलेटर पर थी और गुरुवार शाम उसकी मौत हो गई. उन्होंने बताया कि महिला के शव को अस्पताल के मुर्दाघर में रखवाया गया है. पुलिस के अनुसार, महिला चार फरवरी को घर से लापता हो गई थी और उसके परिजनों ने दो दिन बाद गुमशुदगी की शिकायत दर्ज करवाई थी.अधिकारियों ने बताया कि दस फरवरी को महिला उसके गांव से तीन किलोमीटर दूर बेहोशी की हालत में मिली और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ था. अधिकारियों के मुताबिक, महिला को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे जयपुर के सवाई मान सिंह अस्पताल रिफर कर दिया गया था. 

और पढ़ें