जम्मू कश्मीर: पुलवामा में पुलिसकर्मी को गोली मारने वाला आतंकवादी मुठभेड़ में ढेर, सरेंडर करने से किया था इनकार

जम्मू कश्मीर: पुलवामा में पुलिसकर्मी को गोली मारने वाला आतंकवादी मुठभेड़ में ढेर, सरेंडर करने से किया था इनकार

जम्मू कश्मीर: पुलवामा में पुलिसकर्मी को गोली मारने वाला आतंकवादी मुठभेड़ में ढेर, सरेंडर करने से किया था इनकार

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में पुलवामा जिले के त्राल इलाके में पुलिस शिविर में एक कांस्टेबल को गोली मारकर घायल करने वाले आतंकवादी को गुरुवार तड़के सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में मार गिराया गया.

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि रातभर चली मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने मोहम्मद आमीन मलिक को मार गिराया. आतंकवादी पहले आत्मसमर्पण कर चुका था. त्राल में विशेष अभियान समूह (एसओजी) शिविर के भीतर इस आतंकवादी और पुलिस के बीच बुधवार शाम को मुठभेड़ शुरू हो गयी थी.

मलिक ने कांस्टेबल अमजद खान की राइफल कथित तौर पर छीन ली थी:
मलिक ने कांस्टेबल अमजद खान की राइफल कथित तौर पर छीन ली थी और उन्हें गोली मार कर घायल कर दिया था. खान को इलाज के लिए यहां एक अस्पताल में भर्ती कराया गया. इसके बाद आतंकवादी राइफल के साथ शिविर में छिप गया था. अधिकारियों ने बताया कि त्राल इलाके के नगबाल के रहने वाले मलिक ने .12 बोर की राइफल के साथ 30 मई को सुरक्षा बलों के समक्ष आत्मसमर्पण किया था.

मलिक ने आत्मसमर्पण से इनकार कर दिया था:
अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षाबलों ने आतंकवादी को बुधवार को फिर से आत्मसमर्पण के लिए मनाने की कोशिश की थी और यहां तक कि उसके माता-पिता को भी उसे मनाने के लिए बुलाया था. हालांकि मलिक ने आत्मसमर्पण से इनकार कर दिया था. उसने सुरक्षा बलों की ओर गोलीबारी शुरू कर दी थी और सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की जिसमें वह मारा गया.

और पढ़ें