Jhunjhunu: बालक से कुकर्म कर हत्या करने का मामला, करीब ढाई साल बाद कोर्ट ने आरोपी को सुनाई आजीवन कारावास की सजा

Jhunjhunu: बालक से कुकर्म कर हत्या करने का मामला, करीब ढाई साल बाद कोर्ट ने आरोपी को सुनाई आजीवन कारावास की सजा

Jhunjhunu: बालक से कुकर्म कर हत्या करने का मामला, करीब ढाई साल बाद कोर्ट ने आरोपी को सुनाई आजीवन कारावास की सजा

झुंझुनूं: जिले में पॉक्सो कोर्ट ने सात साल के बालक से कुकर्म कर उसकी हत्या करने के आरोपी राजवीर को पॉक्सो एवं सीपीसीआर अधिनियम की विशेष न्यायाधीश ने आजीवन कठोर कारावास की सजा सुनाई है. 

मामले के अनुसार 24 मार्च 2019 को सात वर्षीय बालक अपने रेवड़ के पास था. उसकी मां मजदूरी करने गई थी. जब उसकी मां लौटी तो बालक वहां नहीं था. उसे राजवीर पुत्र दयाराम मेघवाल मोटर साइकिल से भगा ले गया. पुलिस ने मामला दर्ज किया. 31 मार्च को 2019 को पुलिस ने राजवीर को गिरफ्तार किया. पूछताछ पर उसकी निशानदेही पर बालक के कंकाल बरामद कर मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया. डीएनए जांच कराई. जांच के बाद पुलिस ने राजवीर के खिलाफ पॉक्सो एक्ट व हत्या की धारा में चालान पेश किया. 

पीड़ित पक्ष की ओर से 19 गवाहों के बयान कराए गए:
उसके बाद पीड़ित पक्ष की ओर से 19 गवाहों के बयान कराए गए. पीड़ित पक्ष की ओर से पैरवी करते हुए अधिवक्ता तेजवीर सिंह व विशिष्ट लोक अभियोजक लोकेंद्र सिंह शेखावत ने आरोपी को कठोर से कठोर सजा देने को कहा. मामले की सुनवाई कर रही न्यायाधीश ने आरोपी राजवीर को आजीवन कठोर कारावास तथा 95 हजार रुपए के अर्थ दंड की सजा सुनाई.

और पढ़ें