हजरत अहमद शाह वली बाबा का सालाना उर्स, अकीदतों ने मांगी देश की खुशहाली की दुआ

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/05/01 04:48

पिंडवाड़ा (सिरोही)। समीपवर्ती सनवाड़ा आर में  रात को हजरत सैयद अहमदसा वली बाबा का दो दिवसीय सालाना उर्स बडी अकीदत के साथ मनाया गया। अकीदत मंदों की दरगाह परिसर में भारी भीड़ देखने को मिली और सभी धर्म के लोगों ने अहमद शाह बाबा के दरबार में अकीदत के फूल पेश किये और देश की खुशहाली की दुआ मांगी।

उर्स के मौके पर दरगाह परिसर में लगी दुकानों से जमकर लोगों ने खरीदारी की ओर उर्स का आनंद लिया। इस अवसर पर रेडियों टीवी गायक हिंदुस्तान के मशहूर कव्वाल आरिफ नाजा मुम्बई व हिंदुस्तान के मशहूर फनकार रईस फरीद साबरी रेडियों टीवी सिंगर मेवाड़ में मुकाबला-ए-कव्वाली पेश की गई। कौमी एकता की एक से बढकर एक कव्वाली पर लोग जमकर झूम उठे।

मशहूर कव्वाल ने पेश की एक से बढ़कर एक कव्वाली:- 
कव्वाली का आगाज हिंदुस्तान के मशहूर कव्वाल आरिफ नाजा ने हजरत सैयद अहमदशाह बाबा पर सजदे में कव्वाली पेश करते हुए की गई। उन्होंने माँ की निस्बत कव्वाली मीम से मक्का मीम से मदीना मीम से माँ, लुफ्त जन्नत का उठाने में मजा आता है माँ तेरे पाव दबाने में मजा आता है।

कव्वाली पेश कर खूब वाह वाहीं लूटी। वहीं प्रसिद्ध टीवी कलाकार रईस फरीद साबरी ने कव्वाली पेश करते हुए कहां ‘खाली है सब की झोली भरदे उसे...ख्वाजा है मेरे ख्वाजा तेने रखी है मुझ पर नजर ये तेरा करम है में क्या था और क्या हो गया... ख्वाजा तेरी गुलामी मुझे मिल गई मेरी किस्मत बदल गई..पेश कर वहां उपस्थित लोगों की खूब वाह वाही लुटी।

प्रसिद्ध कव्वाल आरिफ राजा ने कौमी एकता की मिशाल देते हुए कहा कि राम रहिम के चाहने वाले आपस में भाई चारा रखना सिखना है तो एक परिंदे से सीखो। वह मस्जिद पर दाना चुगता है तथा मंदिर पर जाकर पानी पिता है, मंदिर मस्जिद तो हम बना बैठे परिंदों में नही है जात पात,जिस के बाद  प्रसिद्ध कव्वाल रईस फरीद साबरी ने मुक़ाबलाए कव्वाली में कव्वाली पेश करते हुए क्यों आकर रो रहा है

मोहम्मद के सहर में हर दर्द की दवा है मोहम्मद के सहर में। कव्वाली पेश की ओर उन्होंने भारतीय परम्परा के बारे में बोलते हुए कहा कि होली दिवाली साथ मनाते। कई हिन्दू भी रोजा रखते है कई मुस्लिम भी दिवाली पर पटाखे फोड कर एकता का पैगाम देते हैं।

वहीं सालाना उर्स के कार्यक्रम में सोमवार रात को मिलाद शरीफ का कार्यक्रम आयोजित किया गया जिस में हज़रत मौलाना साबदार आलम सिद्विकी साहब ने अपनी शुफ़ियानी तकरीर करते हुए कहाँ हमें हमेशा सच्चाई और ईमान के रास्ते पर चलना चाहिए ओर पाँच वक़्त नमाज के पाबंद होना चाहिए। जिस से हमारी हर मुश्किल आसान होती है और हम बुरी आदतों से बचते हैं।

कार्यक्रम में यह रहें उपस्थित
कार्यक्रम में कमेटी के सलीम खान पठान रोहिड़ा सदर, अख्तर खान फ़ौजदार, हनीफ खान मंसूरी, रफीक खान मंसूरी, दरगाह खादीम कासीम बाबू, कालू खान मंसूरी , मोबिन खान वाटेरा ,फारूक खान वाटेरा , कालू खान मंसूरी अहमदाबाद , रोहिड़ा उप सरपंच रामसिंह सिसोदिया, केतन भाई ओझा सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम से पूर्व सभी अतिथियों का साफा व माला पहनाकर स्वागत किया।

सिरोही से तुषार पुरोहित की रिपोर्ट
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in