Live News »

CBI सवालों की जद में पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार, नोट्स बनाकर कर रहे तैयारी

CBI सवालों की जद में पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार, नोट्स बनाकर कर रहे तैयारी

कोलकाता। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अब सीबीआई शनिवार को सारधा और रोज वैली चिटफंड मामले में आरोपी कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करेगी। सीबीआई की 10 सदस्यीय टीम शिमला पहुंच चुकी है। सीबीआई की टीम शिलाँग में राजीव कुमार और अन्य इस मामले में आरोपियों से पूछताछ करेगी। राजीव कुमार के लिए ये मौका किसी बोर्ड परीक्षा से कम नहीं होगा। लिहाजा पश्चिम बंगाल के कई वरिष्ठ आइपीएस अधिकारी 80-100 सवालों के नोट्स के जरिए राजीव कुमार की तैयारी करवा रहे हैं। उधर सीबीआइ ने भी राजीव कुमार की सख्त परीक्षा लेने के लिए बकायदा विशेष अधिकारियों का पैनल गठित किया है।

टीम ने पुलिस कमिश्नर से पूछताछ करने के लिए राज्य सरकार को पत्र भेजकर पहले ही जानकारी दे दी है। बताया जा रहा है कि ये टीम सारधा और रोजवैली समेत अन्य चिटफंड घोटालों में शामिल रहे सभी आरोपियों को पूछताछ के लिए बुला सकती है। इसके लिए दिल्ली स्थित सीबीआइ मुख्यालय में निदेशक ऋषि कुमार शुक्ला ने टीम के साथ बैठकर कर सूची तैयार की है। इस सूची में विभिन्न राजनीतिक दल के नेताओं के नाम भी शामिल हैं।

इस टीम को खुद सीबीआइ निदेशक ऋषि कुमार शुक्ला ने तैयार किया है। इस टीम में एक पुलिस अधीक्षक, तीन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, तीन डीएसपी और तीन इंस्पेक्टर स्तर के अधिकारियों को शामिल किया गया है। ये सभी अधिकारी रैंक में आइपीएस राजीव कुमार से काफी जूनियर हैं। सीबीआइ के इन अधिकारियों को अलग-अलग राज्यों से विशेष टीम में शामिल किया गया है।

यही दस सदस्यीय विशेष टीम चिटफंड घोटाले की जांच का नेतृत्व करेगी। टीम ने पुलिस कमिश्नर से पूछताछ करने के लिए राज्य सरकार को पत्र भेजकर पहले ही जानकारी दे दी है। बताया जा रहा है कि ये टीम सारधा और रोजवैली समेत अन्य चिटफंड घोटालों में शामिल रहे सभी आरोपियों को पूछताछ के लिए बुला सकती है। इसके लिए दिल्ली स्थित सीबीआइ मुख्यालय में निदेशक ऋषि कुमार शुक्ला ने टीम के साथ बैठकर कर सूची तैयार की है। इस सूची में विभिन्न राजनीतिक दल के नेताओं के नाम भी शामिल हैं।

बतादें, चुनाव आयोग के निर्देशानुसार राज्य सरकार को 28 फरवरी तक कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार का तबादला करना है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी पहले ही संकेत दे दिए थे कि चुनाव आयोग द्वारा निर्देशित सारे ट्रांसफर 15 से 20 फरवरी तक पूरे कर लिए जाएंगे। मामले में सुप्रीम कोर्ट में अगली सुनवाई 20 फरवरी को होनी है, लिहाजा सीबीआइ का प्रयास है कि अगली सुनवाई से पहले वह आइपीएस राजीव कुमार से पूछताछ पूरी कर ले। ऐसे में सीबीआइ की पूछताछ का ये समय काफी महत्वपूर्ण हो चुका है।

गौरतलब है कि चिटफंड घोटाले की जांच कर रही सीबीआइ टीम इससे पहले रविवार को कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पहुंची थी। वहां सीबीआइ टीम को अंदर घुसने तक नहीं दिया गया। उल्टा कोलकाता पुलिस, सीबीआइ अफसरों को जबरन थाने लेकर पहुंच गई थी। इसके बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर राजनीति का आरोप लगाते हुए सीबीआइ जांच का विरोध करने के लिए पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के समर्थन में धरना शुरू कर दिया था। इसके बाद पूरे मामले ने राजनीतिक रंग ले लिया। इसके बाद मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा और मंगलवार को सर्वोच्च न्यायालय ने राजीव कुमार को सीबीआइ के सामने पेश होने और ईमानदारी से जांच में सहयोग करने का निर्देश दिया। हालांकि, कोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in