कोटा कोटा: चंबल नदी में पलटी नाव, अब तक 8 लोगों के शव निकाले जा चुके बाहर, 14 लोगों के डूबने की पुष्टि

कोटा: चंबल नदी में पलटी नाव, अब तक 8 लोगों के शव निकाले जा चुके बाहर, 14 लोगों के डूबने की पुष्टि

कोटा: जिले की सीमा के आखिरी क्षेत्र खातौली क्षेत्र के गोठड़ा गांव में आज सुबह एक नाव चम्बल नदी में डूबने से बड़ा हादसा हो गया. इस नाव में 30 से 35 लोग सवार थे. कलेक्टर उज्ज्वल राठौड़ के अनुसार 14 लोगों के डूबने की पुष्टि हुई है. इनमें से अब तक 8 लोगों के शव बाहर निकाले जा चुके हैं. बाकी लोग अभी लापता बताये जा रहे हैं. हादसे की जानकारी मिलने पर कोटा और सवाई माधोपुर से रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची है. अब तक स्थानीय स्तर पर नाविकों के सहारे शव निकाले गए हैं. 

हादसे की सूचना मिलते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया: 
जानकारी के अनुसार हादसा खातौली इलाके में बुधवार को सुबह-सुबह गोठड़ा कला गांव के पास हुआ. हादसे के शिकार हुये ग्रामीण नाव से कमलेश्वर धाम दर्शन के लिए जा रहे थे. इसी दौरान अचानक नाव पलट गई और सभी लोग नदी के पानी में बह गये. हादसे की सूचना मिलते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया. आनन-फानन में प्रशासन पुलिस और राहत बचाव दल के साथ मौके पर पहंचा और पानी में डूबे लोगों की तलाश के लिये रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया.

 

लकड़ी की नाव की हालत पहले से खराब थी:
लोगों ने बताया कि लकड़ी की नाव की हालत पहले से खराब थी. इसके बाद भी क्षमता से ज्यादा यात्रियों को बैठाया गया था. साथ ही नदी पार करवाने के लिए नाव पर बाइकें भी बांध दी गई थीं. इस वजह से नाव वजन नहीं सह सकी और डूब गई. 

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने हादसे पर चिंता जताई: 
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने हादसे पर चिंता जताई है. लोकसभा सचिवालय ने जिला प्रशासन से संपर्क साधकर मामले की पूरी जानकारी ली है. कोटा से एसडीआरएफ टीम मौके पर पहुंच चुकी है. वहीं यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने भी जिला प्रशासन से फीडबैक लिया है. उन्होंने राहत और बचाव कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये हैं. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी ट्वीट करते हुए हादसे पर दुख जताया:
वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी ट्वीट करते हुए हादसे पर दुख जताया. उन्होंने ट्वीटर पर लिखा कि कोटा में थाना खातोली क्षेत्र में चम्बल ढिबरी के पास नाव पलट जाने की घटना बेहद दुखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण है. हादसे का शिकार हुए लोगों के परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं. कोटा प्रशासन से बात कर घटना की जानकारी ली है. तत्परता से राहत एवं बचाव के साथ ही लापता लोगों को शीघ्र ढूंढने के निर्देश दिए हैं. स्थानीय पुलिस एवं प्रशासन घटनास्थल पर मौजूद है. प्रभावित परिवारों को मुख्यमंत्री सहायता कोष से मदद के लिए निर्देश दिए हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी ट्वीट किया:
पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी ट्वीट करते हुए लिखा कि चंबल नदी में नाव पलटने की घटना हृदय विदारक है. हादसे में 7 लोगों की मौत व कई लोगों के लापता होने की सूचना है. राज्य सरकार से आग्रह है पीड़ितों को तत्काल आर्थिक एवं सामाजिक मदद पहुंचाए. ईश्वर दिवंगतों की आत्मा को शांति व परिजनों को धैर्य प्रदान करें. हादसे की जानकारी मिलने पर प्रदेशभर के कई नेताओं ने इस हृदय विदारक घटना पर संवेदना व्यक्त की है. 


 

और पढ़ें