सियासत के 'सादगी पुरुष' दिवंगत मनोहर पर्रिकर पंचतत्व में विलीन

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/03/18 06:00

पणजी। सियासत के 'सादगी पुरुष' कहे जाने वाले दिवंगत मनोहर पर्रिकर पंचतत्व में विलीन हो गए हैं। शाम चार बजे उनकी अंतिम यात्रा कला अकेडमी से मीरामार के लिए रवाना हुई और उनका अंतिम संस्‍कार मिरामार बीच के पास किया गया। अंतिम यात्रा के दौरान उनको श्रद्धांजलि देने के लिए भयंकर जन सैलाब उमड़ा।

दिवंगत मनोहर पर्रिकर को आईआईटी मुंबई देगा श्रद्धांजलि

गौरतलब है कि चार बार गोवा के मुख्यमंत्री और पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर का 63 वर्ष की उम्र में रविवार को निधन हो गया। पैन्क्रियाज कैंसर से जूझ रहे 63 वर्षीय परिकर की हालत पिछले कई दिन से बेहद खराब थी। मुख्‍यमंत्री मनोहर पर्रिकर के सम्‍मान में राज्‍य में आज से सात दिन का शोक रखा गया है। आज सुबह दिवंगत नेता मनोहर पर्रिकर का पार्थिव शरीर पणजी की कला अकादमी में अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। बड़ी संख्‍या में लोग अपने प्रिय नेता को श्रद्धांजलि देने के लिए पहुंचे। इससे पहले उनका पार्थिव शरीर पणजी में भाजपा के राज्‍य मुख्‍यालय में रखा गया था। राज्‍यपाल मृदुला सिन्‍हा, केन्‍द्रीय मंत्री नितिन गडकरी श्रीपद नाइक, सांसद नरेन्‍द्र स्‍वाइकर और अन्‍य वरिष्‍ठ भाजपा नेताओं ने दिवंगत नेता को श्रद्धांजलि अर्पित की। 

दिवंगत मनोहर पर्रिकर की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब

बता दें कि मनोहर पार्रिकर ने गोवा मुख्यमंत्री पद की शपथ 14 मार्च 2017 को ली। इससे पहले भी वह 2000 से 2005 तक और 2012 से 2014 तक गोवा के मुख्यमंत्री के साथ ही वे बिजनेस सलाहकार समिति के सदस्य भी रह चुके हैं। 2014 में उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा देकर भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार में रक्षा मंत्री का पदभार ग्रहण किया। वे पहले ऐसे भारतीय मुख्यमंत्री है, जिन्होंने आई आई टी से स्नातक किया हुआ है।

पर्रिकर अपने स्कूलों के दिनों से ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) में शामिल हो गए थे। अपनी पढ़ाई के साथ-साथ उन्होंने आरएसएस की युवा शाखा के लिए भी काम करना शुरू कर दिया था। जिसके बाद उन्हें बीजेपी पार्टी का सदस्य बनने का मौका मिला और उन्होंने बीजेपी पार्टी की तरफ से पहली बार चुनाव भी लड़ा। बीजेपी ने पर्रिकर को साल 1994 में गोवा की पणजी सीट से विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए टिकट दिया। वहीं पर्रिकर को इस चुनाव में जीत मिली, लेकिन बीजेपी इन चुनाव में कुछ खास नहीं कर सकी। वहीं पर्रिकर ने गोवा की विधानसभा सभा में विपक्ष नेता की भूमिका भी निभाई हुई है।
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in