कांग्रेस की नजर में टॉप-10 'टफ सीट्स, इन सीटों पर कड़े मुकाबले की उम्मीद

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/05/12 09:50

जयपुर। कांग्रेस पार्टी ने मतदान के बाद फीड़बैक का दौर शुरु किया था। सूत्रों के मुताबिक 10 सीटें कांग्रेस पार्टी के लिये सर्वाधिक चिंता का विषय बनी हुई है। इन्हें कांग्रेस ने कड़े मुकाबलें वाली सीटों में शुमार किया है। कांग्रेस के शीर्ष नेता कहते हैं कि इनमें से आधी भी जीत ले तो बीजेपी के मुकाबलें में आ जायेंगे .................देखते है खास रिपोर्ट

राजस्थान में लोकसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस पार्टी का मुकाबला बीजेपी से कम मोदी फेक्टर से अधिक रहा है। मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधा तो कांग्रेस के निशाने पर भी मोदी ही रहे । दो चरणों के बाद सत्ताधारी दल ने जनता का मिजाज पता करने का निश्चय किया और थिंक टैंकस के जरिये रिपोर्ट हासिल की। सूत्रों के मुताबिक जो रिपोर्ट इन्हें हासिल हुई है उसके तहत 10  सीटों पर बेहद कड़ा मुकाबला कांग्रेस पार्टी के रणनीतिकारों ने माना हैं।

जानते है कौनसी है यह 10सीटें ......
---कांग्रेस की नजर में टॉफ 10 टफ सीटें----------
----जालोर-सिरोही
-कांग्रेस कैम्प यहां खड़ा मुकाबला मान कर चल रहा
-कारण साफ यह सीट मानी जाती है बीजेपी का गढ़ 
-कांग्रेस रणनीतिकारों को कड़े मुकाबले में जीत की उम्मीद
-जालोर-सिरोही में कांग्रेस ने रतन देवासी के रुप में रेबारी कार्ड खेला
-कांग्रेस कैम्प मानता है -बहुसंख्यक रेबारी,भील मीणा,आदिवासी, एससी,विश्नोई, जैन, राजपूत वोट मिलेंगे 

---नागौर 
-कांग्रेस रणनीतिकार इस सीट पर कड़ा मुकाबला मान रहे
-कम अंतर से ज्योति मिर्धा की जीत मान कर चल रहे
-हनुमान बेनीवाल के उतरने से कड़े मुकाबले के बने आसार 
-कांग्रेस का मानना मिर्धा परिवार का वजूद अभी बरकरार है
-कांग्रेस कैम्प अधिकतम जाट वोट, दलित, मुस्लिम और राजपूतों के करीब 50फीसदी वोट मान कर चल रहा

----बाडमेर-जैसलमेर 
-बाडमेर से कांग्रेस जीत मान कर चल रही लेकिन कड़े मुकाबले में
-इसका कारण है मत प्रतिशत का बढ़ना 
-मानवेन्द्र सिंह के कारण कांग्रेस को जाट वोट बैंक का घाटा हुआ
-परम्परागत जाट वोट भी खिसका है  
-कांग्रेस कैम्प राजपूत, मुस्लिम, मेघवाल को ट्रम्प कार्ड मान कर चल रही 

---कोटा-बूंदी 
-हाड़ौती के बीजेपी के इस गढ़ में कांग्रेस को उम्मीद 
-कांग्रेस को लगता है बीजेपी की गुटबाजी मदद करेगी
-रामनारायण मीना पहले भी सांसद रह चुके है
-कांग्रेस कैम्प का मानना है मीना, दलित, मुस्लिम वोट मिलेंगे 
-गुर्जर और ब्राह्मण वोटों के साथ मिलने की उम्मीद 

----अलवर
-अलवर में कांग्रेस कड़े मुकाबले में जीत मान रही
-भंवर जितेन्द्र को कड़े मुकाबले से जूझना पड़ रहा
-भंवर जितेन्द्र को उम्मीद थी बीजेपी की आंतरिक गुटबाजी से
-हालांकि गुटबाजी से अधिक मदद नहीं मिल पाई
-यादव वोट एकतरफ़ा बीजेपी के साथ गये है
-कांग्रेस कैम्प को गैर यादव समीकरण से आस

---झुंझुनूं 
-झुंझुनूं में कांग्रेस रणनीतिकार कड़ा मुकाबला मान रहे
-जबकि झुंझुनूं रहा है परम्परागत तौर पर कांग्रेस का गढ़ 
-ओला परिवार की जगह पर कांग्रेस ने श्रवण कुमार पर दांव खेला है
-जाट वोटों बड़ा विभाजन कांग्रेस को नुकसान पहुंचा रहा
-हालांकि कांग्रेस को उम्मीद अधिकतम जाट वोट, मुस्लिम, दलित, यादव वोट मिलेंगे

---भरतपुर 
-भरतपुर में कांग्रेस कैम्प को कड़े मुकाबले में जीत की उम्मीद 
-जाटव वर्सेज कोली मुकाबला यहां परम्परागत है
-कोली उम्मीदवार के कारण बीजेपी को गैरजाटव समीकरण पर भरोसा
-वहीं कांग्रेस को बसपा उम्मीदवार भी नुकसान पहुंचा रहा 
-कांग्रेस कैम्प को बहुतायत में जाटव वोट मिलने की उम्मीद 
-पूर्व महाराजा विश्वेन्द्र सिंह के कारण जाट वोटों की आस

---उदयपुर 
-कांग्रेस रणनीतिकारों को यहां कड़े मुकाबले में जीत की चाह
-रघुवीर सिंह मीना पहले भी सांसद रह चुके और कांग्रेस के बड़े फेस है
-कांग्रेस कैम्प मान रहा बीटीपी के असर का वोट यहां कांग्रेस को मिलेगा
-राजपूत वोट भी मिलने की उम्मीद कांग्रेस कैम्प कर रहा
-रघुवीर मीना के विधानसभा चुनाव हारने से उनक छवि को आघात पहुंचा 

---टोंक-सवाई माधोपुर 
-कांग्रेस इस सीट को कड़े मुकाबले में जीत मान कर चल रही
-मीना और गुर्जर वोटों का यहां विभाजन साफ है
-लेकिन कांग्रेस कैम्प को उम्मीद है मीना, मुस्लिम और दलित वोटों की उम्मीद है
-नमोनारायण मीना का विराट छवि से भी कांग्रेस को आस 

-----सीकर 
-सीकर में कांग्रेस को पहले मुकाबला नहीं दिख रहा था
-मोदी की रैली के बाद यहां कड़े मुकाबले की बात सामने आई है
-कांग्रेस रणनीतिकार मान रहे कड़े मुकाबले में जीत मिलेगी
-महरिया कैम्प को अधिकतम जाट वोट मिलने की उम्मीद 
-मुस्लिम और दलित यहां कांग्रेस के लिए ट्रम्प कार्ड माने जा रहे

 इन 10सीटों को तो कांग्रेस के रणनीतिका
 कड़े मुकाबले में गिन रहे, जबकि दौसा, जोधपुर और करौली जैसी सीटों पर पूर्ण विजय मान कर चल रहे... बाडमेर, नागौर, सीकर, टोंक-सवाई माधोपुर में कांग्रेस को कम अंतर से जीत की उम्मीद नजर आ रही है... मोदी लहर का प्रभाव नहीं दिखा तब कांग्रेस कैम्प कम से कम 12सीटों की उम्मीद कर रहा है। 

जयपुर से योगेश शर्मा की रिपोर्ट 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in