गुर्जर आंदोलन से 4 दिन में करीब 300 करोड़ रुपए का नुकसान

Nizam Kantaliya Published Date 2019/02/11 06:24

मलारना डूंगर (सवाईमाधोपुर)। राजस्थान में आरक्षण की मांग को लेकर पिछले 4 दिनों से गुर्जर का आंदोलन चल रहा है। आज आंदोलन के चौथे दिन गुर्जरों को धरना-प्रदर्शन रेलवे के साथ ही अब सड़कों तक भी पहुंच चुका है। ऐसे में ट्रेनों के साथ ही अब सड़क मार्ग भी बाधित हो गया है। दूसरी ओर, आंदोलन के चलते बाधित हुए रेल मार्ग के कारण कई रेलवे मार्गों को डायवर्ट किया गया है और कई ट्रेनों को रद्द किया जा चुका है। इसके साथ ही कई ट्रेनों को आने वाले दिनों के लिए भी रद्द किया गया है। ऐसे में रेलवे को अब तक 4 दिनों में करीब 300 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

राजस्थान में चल रहे गुर्जर आंदोलन को चार दिन बीत जाने के बावजूद अभी तक इस मसले का कोई सार्थक हल नहीं निकल पाया है। हालांकि सरकार की ओर से आंदोलन को लेकर वार्ता के लिए पहल भी की गई, जिसके चलते मंत्री विश्वेंद्र सिंह और आईएएस नीरज के पवन धरनास्थल पर पहुंचे और सरकार की ओर से गुर्जरों को वार्ता का न्यौता भी दिया। इसके बावजूद गुर्जरों की ओर से वार्ता के लिए धरनास्थल के अतिरिक्त कहीं ओर जाने से इन्कार कर दिया गया। ऐसे में आंदोलन को लेकर सरकार के प्रयास अभी भी जारी है और जारी है अभी तक भी आंदोलन के चलते रेलवे और सड़क मार्ग पर आवागमन।

आंदोलन को लेकर रेलवे प्रशासन भी अलर्ट है और इसके चलते रेलवे प्रशासन ने कई ट्रेनों के रूटों को डायवर्ट किया है, वहीं कई ट्रेनों को रद्द भी किया है। इसके साथ ही रेलवे ने आने वाले कुछ दिनों के लिए भी कई ट्रेनों को रद्द किया है। ऐसे में जहां इन ट्रेनों में सफर करने वाले यात्रियों को आवागमन में परेशानियों को सामना करना पड़ रहा है, वहीं रेलवे प्रशासन को भी इसका खामियाजा उठाना पड़ रहा है। एक अनुमान के मुताबिक, रेलवे प्रशासन को आंदोलन के चलते अब तक 4 दिनों में करीब 300 करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है।

गौरतलब है कि आंदोलन के चलते दिल्ली-मुंबई के बीच करीब 120 से ज्यादा ट्रेनें प्रभावित हुई हैं, जिनका मलारना स्टेशन पर 14 ट्रेनों का ठहराव है। यहां 8 फरवरी की शाम साढ़े 4 बजे से ट्रेनों का संचालन बंद है। यहां 8 फरवरी को दोपहर 3:52 पर अंतिम यात्री गाड़ी जयपुर-बयाना पैसेंजर का ठहराव हुआ था और मलारना से अंतिम मालगाड़ी 4 बजकर 16 मिनट पर गुजरी थी। 4 बजकर 52 बजे स्टेशन मास्टर ने कंट्रोल रूम को पटरियों पर आंदोलन शुरू होने की पहली सूचना दी थी।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in